Chandrayaan 2 के लैंडर Vikram से संपर्क भले ही टूट गया हो, लेकिन वैज्ञानिकों के अथक प्रयास के लिए देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित देश के चर्चित नेताओं ने बधाई दी है। आधी रात को पूरा देश लैंडर विक्रम के चंद्रमा की धरती को छूने का इंतजार कर रहा था। लेकिन ऐसा मुमकिन नहीं हुआ। भारतीय वैज्ञानिकों ने चंद्रयान-2 के जरिए इतिहास के पन्नों पर नई इबारत लिखी है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, ममता बनर्जी, प्रियंका गांधी और राहुल गांधी सहित कई बड़े नेताओं ने इसरो के प्रयासों की सराहना करते हुए कहा है कि देश को उन पर गर्व है।

इसे जरूर पढ़ें: फूड के पॉपुलर यू-ट्यूब चैनलों से इन 3 मास्टर शेफ्स ने पाई शोहरत

इसरो के वैज्ञानिकों का बढ़ाया उत्साह

देर रात जब भारतीय चंद्रमा पर भारतीय वैज्ञानिकों की एक और बड़ी कामयाबी की खबर सुनने की प्रतीक्षा कर रहे थे, उसी वक्त रात 1.51 पर चंद्रमा की सतह से 2.1 किमी दूर इसरो का लैंडर विक्रम से संपर्क टूट गया। चंद्रयान 2 कुल 978 करोड़ रुपये की लागत से तैयार किया गया। हालांकि लैंडर विक्रम से इसका संपर्क टूट गया है, लेकिन ऑर्बिटर से अब भी इसरो को काफी उम्मीदें हैं। इस मिशन को लेकर भारतीय वैज्ञानिक पहले से ही संशय की स्थिति में थे। यही वजह थी कि इसरो आखिर के अंतिम 15 मिनट को सबसे खतरनाक और अहम मान रहा था। चंद्रयान-2 मिशन को पूरी तरह से असफल नहीं कहा जा सकता है।

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने चंद्रयान 2 मिशन पर अपने ऑफिशियल स्टेटमेंट में इसरो के वैज्ञानिकों की पूरी टीम और रिसर्चर्स को बधाई दी है। 

 

 

वहीं प्रियंका गांधी ने अपने ट्वीट में लिखा है, 'इसरो टीम में सभी पर गर्व है। असफलता यात्रा का एक हिस्सा हैं। इनके बिना कोई सफलता नहीं मिलती है। पूरा देश आपके साथ खड़ा है और आप पर विश्वास करता है।'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की सराहना

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ISRO वैज्ञानिकों का के प्रयासों की सराहना की है। उन्होंने कहा, भारत को अपने वैज्ञानिकों पर गर्व है। उन्होंने अपनी तरफ से सर्वश्रेष्ठ प्रयास किए हैं और हमेशा देश का मान बढ़ाया है। इस समय में हिम्मत से काम लेना चाहिए और हम हिम्मती बने रहेंगे। साथ ही जीवन में उतार-चढ़ाव आते रहते हैं और यह यात्रा जारी रहेगी। 

हर भारतीय को गर्व है

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने भी ISRO के वैज्ञानिकों को उनकी कड़ी मेहनत के लिए बधाई दी है। उन्होंने कहा, 'इसरो की कोशिशों से हर भारतीय गौरवान्वित महसूस कर रहा है। लैंडर Vikram का ISRO केंद्र से संपर्क टूटने के कुछ ही मिनट बाद अमित शाह ने सोशल मीडिया पर लिखा, 'चंद्रयान-2 की अभी तक की इसरो की उपलब्धि पर प्रत्येक भारतीय को गर्व है। भारत हमारे प्रतिबद्ध और कड़ी मेहनत करने वाले इसरो के वैज्ञानिकों के साथ है। भविष्य की यात्रा के लिए मेरी शुभकामनाएं।' 

इस पर राहुल गांधी ने इसरो वैज्ञानिकों का उत्साहवर्धन करते हुए लिखा, 'आपका का काम बेकार नहीं जाएगा। आपके इस प्रयास ने कई बेजोड़ और महत्वाकांक्षी भारतीय अंतरिक्ष मिशनों की बुनियाद रखी है।'

ममता बनर्जी ने की तारीफ

 

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और TMC प्रमुख ममता बनर्जी ने भी ISRO वैज्ञानिकों की सराहना की है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा - 'हमें अपने वैज्ञानिकों पर गर्व है। इसरो टीम ने चंद्रयान 2 के लिए कड़ी मेहनत की। हम सभी आपके साथ हैं। आप हमें हमेशा गौरवान्वित होने का मौका देते रहेंगे।'