एक्ट्रेस तापसी पन्नू अपनी फिल्मों का चुनाव करते समय बहुत ध्यान रखती हैं। उनकी फिल्में आम नहीं होतीं और एक अलग तरह का एक्सपीरियंस ऑडियंस को देती हैं। तापसी पन्नू उन एक्ट्रेसेस में से नहीं हैं जिन्हें सिर्फ ग्लैमर के लिए फिल्मों में लिया जाता है बल्कि तापसी उन एक्ट्रेसेस में से हैं जो वाकई कुछ अलग करके दिखाती हैं। उनकी एक्टिंग काफी अलग लेवल की है जो उनके फैन्स को पसंद आती है। 1 अगस्त को तापसी का जन्मदिन होता है और इस मौके पर हम तापसी के उन किरदारों की बात करने जा रहे हैं जिन्होंने हिंदी फिल्मों की हिरोइन की परिभाषा ही बदल दी।

1. थप्पड़ फिल्म की अमृता-

जहां बात तापसी की फिल्मों की हो रही है वहां 'थप्पड़' का जिक्र न हो ऐसा तो हो ही नहीं सकता है। 'थप्पड़' फिल्म घरेलु हिंसा पर बात करती है और इस तरह से किसी भी हिंदी फिल्म में पहले इस टॉपिक को नहीं दिखाया गया। एक थप्पड़ भी बहुत असर डाल सकता है और इसे 'सिर्फ एक थप्पड़' कहना गलत होगा। ये घरेलु हिंसा है और पति चाहे कितना भी अच्छा क्यों न हो उसे कोई हक नहीं है कि वो अपनी पत्नी पर हाथ उठाए। थप्पड़ फिल्म की अमृता हमें बताती है कि अपने साथ हो रही अनफेयर चीज़ों को अनदेखा करके मूव ऑन करना सही नहीं है।

taapsee pannu thapaad

तापसी पन्नू ने इस किरदार में जान डाल दी। उनकी इस फिल्म को पसंद भी किया गया और हिंदी फिल्मों की हिरोइनों के लिए एक नई लीग के रोल्स का रास्ता खुल गया है।

इसे जरूर पढ़ें- तापसी पन्नू से जुड़े इन 10 दिलचस्प सवालों के जवाब दीजिए

2. पिंक फिल्म की मीनल-

वो स्मार्ट है, वो सक्सेसफुल है, वो निडर है, वो लड़ना जानती है, वो मीनल है। 'पिंक' फिल्म में तापसी का किरदार अपने साथ हो रहे अन्याय के बाद भी आगे बढ़ने की हिम्मत रखता है। इस फिल्म में सेक्शुअल हैरेसमेंट और लीगल नोटिस को लेकर बहुत अहम सवाल उठाए गए हैं। तापसी का किरदार अपने आप में पूरा था और यही इस फिल्म की खासियत थी।

taapsee pannu pink

3. नाम शबाना फिल्म की शबाना-

सुपर हीरो की फिल्में तो हमने बहुत देखी हैं, लेकिन आपको कितनी सुपर हिरोइन याद हैं? मैं ये जानती हूं कि 'नाम शबाना' जैसी फिल्में आसानी से नहीं बनतीं। नेशनल सिक्योरिटी के लिए एक मुस्लिम लड़की अपनी जान की बाजी भी लगा देती है और भले ही उसकी शुरुआत कैसे भी हुई हो, लेकिन अंत देश की सेवा के लिए होता है। 'नाम शबाना' के बाद आई थी आलिया भट्ट की फिल्म 'राज़ी' जिसमें आलिया का किरदार भी कुछ-कुछ शबाना की तरह ही था।

taapsee pannu naam shabana

तापसी की फिल्म ने सुपर हिरोइन वाली लीग को स्थापित कर दिया था।

4. बदला फिल्म की नैना-

एक कमरे में बैठी नैना अपने वकील को सब समझा रही है। वो बहुत अच्छी बिजनेसवुमेन है और वो किसी भी कीमत पर अपनी बात मनवाना जानती है। फिल्म में तापसी और अमिताभ बच्चन ने यकीनन समा बांध दिया था।

taapsee pannu badla

बदला फिल्म में तापसी का किरदार नेगेटिव शेड में था। वो फिल्म की हिरोइन होते हुए भी विलेन थीं। काजोल और मनीषा कोइराला की फिल्म 'गुप्त' के बाद ऐसे सस्पेंस के साथ शायद ही किसी फिल्म में हिरोइन को विलेन दिखाया गया है। 'गुप्त' में भी हिरोइन मनीषा को बना दिया गया था। तापसी की ये फिल्म बहुत अच्छी थ्रिलर है और इसे देखना यकीनन आपको अच्छा लगेगा।

इसे जरूर पढ़ें- हमेशा नार्मल लड़कियों वाली लाइफ जीना चाहती हैं तापसी पन्नू, रोडसाइड कॉफी पीने में आता है मजा

Recommended Video

5. गेम ओवर फिल्म की स्वपना-

ऐसी कितनी साइकोलॉजिक थ्रिलर फिल्में हैं जिन्हें आपने देखा है और एन्जॉय किया है? 'गेम ओवर' फिल्म की स्वपना के किरदार में तापसी ने एक ऐसी लड़की का किरदार निभाया है जो रेप जैसे बहुत भयंकर दंश को झेल चुकी है और मानसिक प्रताड़ना के साथ अपनी जिंदगी जी रही है। स्वपना का डर फिल्म में दिखाया गया है और ये यकीनन बहुत ही संजीदा किरदार था।

taapsee pannu game over



ऐसे कुछ ही लोग होते हैं जो अपने कंफर्ट जोन से बाहर जाकर कुछ नया करने की सोचते हैं। तापसी पन्नू ने अपने कंफर्ट जोन से बाहर जाकर अपनी फिल्में चुनीं और की हैं। उनके जन्मदिन पर हम उन्हें बधाई देते हैं।

अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।