हिन्दू शास्त्रों में कार्तिक महीने की पूर्णिमा का बहुत बड़ा महत्व माना गया है । इस पूर्णिमा को त्रिपुरी पूर्णिमा और कतकी पूर्णिमा  के नाम से भी जाना जाता है। के नाम से भी जाना जाता है। पौराणिक कथा के अनुसार ऐसा माना जाता है कि इस दिन ही भगवान शिव ने त्रिपुरासुर नामक असुर का नाश किया था।कार्तिक पूर्णिमा पूर्णिमा कार्तिक के महीने के शुक्ल पक्ष में पड़ती है और इस पूरे महीने को पूजा पथ के लिए विशेष माना जाता है।

इसी वजह से कार्तिक पूर्णिमा के दिन पूजन करने का विशेष विधान है। कार्तिक पूर्णिमा हिंदुओं के मुख्य त्योहारों में से है और इसी दिन देव दिवाली भी मनाई जाती है। ऐसी मान्यता है कि इसी दिन देवता धरती पर आते हैं और मनुष्यों के साथ दिवाली मनाते हैं। इस बार कार्तिक पूर्णिमा 19 नवंबर को पद रही है। ऐसा माना जाता कि कार्तिक पूर्णिमा के दिन त्योतिष के कुछ ख़ास उपाय करने से साक्षात् माता लक्ष्मी का आगमन होता है और घर खुशियों से भर जाता है। आइए ज्योतिषाचार्य और वास्तु स्पेशलिस्ट डॉ आरती दहिया जी से जानें कि कार्तिक पूर्णिमा के  दिन किये गए कौन से उपाय आपकी  किस्मत बदलकर घर में खुशहाली ला सकते हैं।

कार्तिक पूर्णिमा पर करें ये उपाय 

astro remedy for kartik purnima

गरीबों को दान दें 

ऐसा माना जाता है कि कार्तिक पूर्णिमा का दिन मुख्य रूप से दान पुण्य का दिन होता है। इसलिए इस दिन आप जितना दान करते हैं उसका उतना ही अधिक फल आपको प्राप्त होता है। घर की शांति और धन लाभ के लिए अपनी सामर्थ्य अनुसार कार्तिक  पूर्णिमा के दिन गरीबों को दान दें और भूखों को भोजन कराएं। अवश्य ही आपकी आर्थिक स्थिति सुधर जाएगी और घर में शांति बनी रहेगी। इस दिन किसी गरीब को चावल का दान जरूर करें, इससे सभी समस्याएं दूर होंगी।

भगवान विष्णु को तुलसी अर्पित करें 

tulsi vishnu ji

पौराणिक मान्यता है कि कार्तिक पूर्णिमा के दिन मां तुलसी का पृथ्वी पर आगमन हुआ था। इसलिए इस दिन भगवान विष्णु को तुलसी अर्पित करने से अन्य दिनों की अपेक्षा अधिक पुण्य मिलता है। कहा जाता है कि इस दिन आप जो भी भोग भगवान विष्णु को अर्पित करें उसमें तुलसी दल जरूर डालें। ऐसा करने से घर में सुख समृद्धि का वास होता है। 

इसे भी पढ़ें:Dev Uthani Ekadashi 2021:जानें देव उठनी एकादशी की तिथि, पूजा का शुभ मुहूर्त और महत्व

आम के पत्ते का तोरण

mango leaves toran

आम के पत्तों को भी पुराणों में अत्यंत पवित्र बताया गया है। ऐसा माना जाता है कि यदि आप कार्तिक पूर्णिमा के दिन घर के दरवाज़े पर आम के पत्तों का तोरण लगाते हैं तो यह आपके लिए अत्यंत फलदायी हो सकता है। आम के पत्ते घर में सकारात्मक ऊर्जा लाते हैं और जब इन्हें मुख्य द्वार पर लगाया जाता है तब ये किसी भी नकारात्मक शक्ति को भीतर प्रवेश करने से रोकते हैं। 

मुख्य द्वार पर दीपक जलाएं 

deeya lit on main door

इस दिन तुलसी के पौधे पर जल चढ़ाएं और दीपक जलाएं साथ ही, मुख्य द्वार और पूजा घर में दीपक भी अवश्य जलाएं इससे पितृ भी प्रसन्न होते हैं। ऐसी मान्यता है  कि इस दिन लाल कपड़े में कौड़ी, गोमती चक्र, काली हल्दी और एक सिक्का लपेट कर तिजोरी में रख दें। इससे धन- सम्पति बढ़ती है और परिवार में सद्भाव बना रहता है।

पीपल के पेड़ में जल चढ़ाएं 

पूर्णिमा के दिन मां लक्ष्मी का वास पीपल के वृक्ष में माना गया है और इस दिन पीपल के पेड़ में यदि जातक मीठे जल में दूध मिलाकर पीपल के पेड़ की जड़ में दे तो उसकी धन से जुड़ी समस्याएं दूर हो जाती हैं। (कार्तिक पूर्णिमा के चंद्र ग्रहण का राशियों परअसर)

 

शिवलिंग पर कच्चा दूध चढ़ाएं 

shiv lling

कार्तिक पूर्णिमा के दिन सुबह शिव मंदिर में जाकर सबसे पहले शिवलिंग पर कच्चा दूध, शहद व गंगाजल मिला कर चढ़ाने से भगवान शिव प्रसन्न होते हैं। ऐसा करने से जातक के सिर पर चढ़ा हर बोझ दूर हो जाता है। 

Recommended Video

माता लक्ष्मी को खीर का भोग लगाएं और दीपक जलाएं 

कार्तिक पूर्णिमा के दिन माता लक्ष्मी को मूर्ति या तस्वीर के सामने दीपक जलाएं और माता लक्ष्मी को खीर का भोग लगाएं एवं पांच कन्याओं को खिलाएं। इससे मां लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं और अपना आर्शीवाद भक्तों को देती हैं। इस दिन अपनी पत्नी, मां, बहन या बेटी को कुछ न कुछ उपहार जरूर दें क्योंकि उनमें साक्षात् लक्ष्मी का वास माना जाता है और ऐसा करने से देवी लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं।

कार्तिक पूर्णिमा के दिन किये गए ये ज्योतिष के उपाय आपकी सुख समृद्धि का मार्ग खोल सकते हैं और आपकी किस्मत बदल सकते हैं। 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik