मां अपने बच्चों की देखभाल के लिए अपना जीवन समर्पित कर देती हैं। बच्चे का खान-पान और उसकी रोजमर्रा की जरूरतें पूरी करने के लिए मां घर से बाहर निकलना भी बंद कर देती हैं। देश की ज्यादातर महिलाएं बच्चों की देखभाल में इतना ज्यादा समय देती हैं कि उनके पास अपने घूमने और एंजॉय करने के लिए समय नहीं होता और बुढ़ापे में बच्चों के बड़े हो जाने पर वे अकेली और असहाय हो जाती हैं और जीवन में निराश महसूस करने लगती हैं। लेकिन इस मामले में दक्षिणामूर्ति कृष्ण कुमार की मां Chudarathana बहुत लकी रहीं। उनका बेटे कृष्ण कुमार ने उनकी तकलीफों को समझा और फैसला किया कि वह उन्हें अपने 20 साल पुराने चेतक स्कूटर स्कूटर पर पूरा देश घुमाएंगे। मां की देश घूमने की चाह पूरी करने के लिए कृष्ण कुमार ने अपनी नौकरी से इस्तीफा दे दिया और अब तक अपनी मां को नेपाल, भूटान जैसे पड़ोसी देशों की यात्रा करा चुके हैं। कृष्ण कुमार ने जनवरी 16, 2018 में मातृ सेवा संकल्प यात्रा की शुरुआत की थी और उनकी इस इंस्पायरिंग स्टोरी से आनंद महिंद्रा इतने प्रभावित हुए कि उन्होंने कृष्ण कुमार को एसयूवी गिफ्ट में देने का फैसला किया। जानिए कृष्ण कुमार और मां के साथ उनकी इस अनोखी यात्रा के बारे में-

मां को देश घुमाने का लिया संकल्प

anand mahindra gifts suv to krishna kumar

कृष्ण कुमार ने एक बड़े मीडिया हाउस को दिए इंटरव्यू में कहा, 'मेरी मां अपनी युवावस्था में किचन के कामों में फंसी रही। इसीलिए मैंने उन्हें तीर्थस्थलों पर घुमाने का फैसला किया। देश घूमने का उनका अंदाज भी बहुत निराला है। कृष्ण अपनी मां के साथ सुबह और शाम को घूमते हैं। उसके बाद वे किसी मंदिर, धर्मशाला या अपने शुभ चिंतकों के यहां रुक जाते हैं। इस यात्रा के लिए कृष्ण अपनी जमा पूंजी खर्च कर रहे हैं। मीडिया को दिए इंटरव्यू में कृष्ण कुमार ने बताया, 'मेरे पिता की मौत 4 साल पहले हो गई थी। मैंने बैंगलुरु में 13 साल तक अलग-अलग कंपनियों के लिए काम किया और उसके बाद मैंने फैसला लिया कि मैंने अपनी मां का सपना सच करूंगा।' कृष्ण अपनी मां के लिए कितने डेडिकेटेड हैं, इस बात का पता इसी से चल जाता है कि मां की सेवा के लिए उन्होंने शादी नहीं की। 

कई राज्यों की कर चुके हैं सैर

krishna kumar with mother

अब तक कृष्ण अपनी मां को हजारों किलोमीटर का सफर करा चुके हैं। इन दोनों ने साथ-साथ चलते हुए कर्नाटक, केरला, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और महाराष्ट्र को एक्सप्लोर कर लिया है और फिलहाल वे अरुणाचल प्रदेश में हैं।  

आनंद महिंद्रा ने गिफ्ट की एसयूवी

 

आनंद महिंद्रा ने इस पर ट्वीट किया, 'यह दिल को छू लेने वाली कहानी है। यह मां ही नहीं, देश के लिए प्रेम की कहानी है। मैं कृष्ण कुमार को एक Mahindra KUV 100 NXT गिफ्ट करना चाहूंगा ताकि वह अपनी मां को अगले सफर पर कार में घुमा सकें। 

साथ है पिता का आशीर्वाद 

कृष्ण कुमार चेतक स्कूटर पर अपनी मां को एक खास वजह से घुमाते हैं। दरअसल यह स्कूटर उनके पिता जी चलाया करते थे। अब जब वह अपनी मां को देश भ्रमण पर ले जा रहे हैं तो वह इस स्कूटर को अपने पिता के प्रतीक के रूप में देखते हैं। कृष्ण मानते हैं कि इस स्कूटर पर चलते हुए उनके पिता का आशीर्वाद सदैव उनके साथ है। उनकी मां भी अपने पति की तस्वीर हमेशा साथ रखती हैं। मीडिया को दिए इंटरव्यू में उन्होंने बताया, 'अगर कृष्ण के पिता भी जीवित होते और हमारे साथ यात्रा कर रहे होते तो और भी ज्यादा अच्छा लगता।