श्रीदेवी और माधुरी दीक्षित, दोनों ही बॉलीवुड में अपनी हिट फिल्मों और बेमिसाल एक्टिंग के लिए जानी जाती रही हैं। श्रीदेवी ने बॉलीवुड को 'नगीना', 'निगाहें', 'सदमा', 'चालबाज', 'मिस्टर इंडिया', 'लम्हे', 'चांदनी' जैसी बेमिसाल फिल्में दी, तो वहीं माधुरी दीक्षित ने 'हम आपके हैं कौन', 'साजन', 'बेटा', 'तेजाब', 'दिल', 'देवदास', 'दिल तो पागल है' जैसी फिल्मों के जरिए लोगों को अपना दीवाना बनाया। दोनों अपने करिश्माई व्यक्तित्व को लेकर चर्चित रहीं और दोनों ने इंड्रस्ट्री पर अपने-अपने समय में राज किया। अगर श्रीदेवी की बात करें तो वह देश की एकमात्र ऐसी एक्ट्रेस थीं, जिन्होंने तमिल और तेलुगु फिल्मों में जबरदस्त सफलता हासिल की। उन्होंने दक्षिण भारत के सुपरस्टार्स कमल हासन और रजनीकांत, दोनों के साथ उन्होंने 20-20 से ज्यादा फिल्मों में काम किया। इसके बाद जब उन्होंने हिंदी फिल्मों में काम किया, तो यहां भी उन्होंने कामयाबी हासिल की। श्रीदेवी को भारत की पहली फीमेल सुपरस्टार कहा जाता है। लेकिन एक वो दौर भी था, जब माधुरी दीक्षित को कामयाबी मिलने की शुरुआत हो चुकी थी और वह तेजी से लोकप्रिय हो रही थीं। इस दौरान वह इंडस्ट्री में पहले से स्थापित श्रीदेवी के लिए सबसे बड़ी प्रतिद्वंद्वी बन गई थीं।

माधुरी दीक्षित और श्रीदेवी, दोनों रहीं टॉप एक्ट्रेस 

madhuri dixit sridevi competitors

माधुरी दीक्षित ने राजश्री प्रोडक्शन्स की अबोध फिल्म से अपने फिल्मी सफर की शुरुआत की थी। उनका एक दो तीन गाना जितना हिट हुआ, उसकी आज भी मिसाल दी जाती है। माधुरी दीक्षित की एक स्माइल देश के लाखों लोगों का दिल जीत लेती थी। माधुरी दीक्षित को जल्द ही बॉलीवुड के स्टार्स अनिल कपूर, सनी देओल, जैकी श्रॉफ, गोविंदा, आमिर खान, शाहरुख खान, संजय दत्त और यहां तक कि विनोद खन्ना जैसे स्टार्स के साथ फिल्में मिलने लगीं, वहीं श्रीदेवी सिर्फ अनिल कपूर और ऋषि कपूर जैसे स्टार्स पर सिमट गईं। जहां श्रीदेवी का हिंदी बोलने का अंदाज थोड़ा अलग था, वहीं माधुरी दीक्षित की हिंदी पर अच्छी पकड़ थी। उस समय की मैगजीन्स में अक्सर दोनों को एक-दूसरे के मुकाबले में रखा जाता था।

इसे जरूर पढ़ें: Throwback: वायरल हो रहा है श्रीदेवी का यह वीडियो, देखें कैसे बेटी खुशी की लगा रही हैं डांट

माधुरी दीक्षित की कामयाबी जारी रही

madhuri dixit sridevi top actresses

फिल्म 'रूप की रानी चोरों का राजा', एक बड़े बजट की फिल्म थी, जिसे श्रीदेवी के पति बोनी कपूर ने प्रोड्यूस किया था, लेकिन वह बॉक्स ऑफिस पर बुरी तरह पिट गई और इससे उनकी पर्सनल लाइफ भी प्रभावित हुई। उधर माधुरी दीक्षित 1994 में आई फिल्म 'हम आपके हैं कौन' सुपर-डुपर हिट रही और इसके बाद श्रीदेवी से उनका कोई मुकाबला नहीं रह गया। माधुरी दीक्षित लगातार कामयाबी की सीढ़ियां चढ़ रही थीं। उनकी 6 फिल्में हिट रही थीं, जिनमें 1993 में आई 'खलनायक' भी शामिल थी। वहीं श्रीदेवी को अब पहले जैसा रेसपॉन्स नहीं मिल रहा था। माधुरी दीक्षित ने बॉलीवुड में लंबे वक्त तक काम करने के बाद श्रीराम नेने से शादी कर ली और अमेरिका रहने लगीं। वहीं श्रीदेवी ने भी अपनी बेटियों जाह्नवी कपूर और खुशी कपूर की परवरिश पर ध्यान दिया।

इसे जरूर पढ़ें: माधुरी दीक्षित ने लॉकडाउन में अपने बेटे अरिन को सिखाया डांस, देखिए ये मजेदार वीडियो

sridevi in english vinglish

दिलचस्पी बात ये है कि सिर्फ 80-90 के दशक में ही नहीं, बल्कि दोनों के फिल्मों में कम बैक के दौरान भी 'आजा नच ले' और 'इंग्लिश विंग्लिश' के साथ उनकी प्रतिद्वंद्विता देखने को मिली। इस वक्त में श्रीदेवी ने एक बार फिर से अपना टैलेंट साबित किया था।  

Recommended Video

प्रतिद्वंद्वी होने के बावजूद एक-दूसरी की करती थीं तारीफ

आज के समय में बॉलीवुड की बड़ी एक्ट्रेसेस के बीच कंपटीशन होने पर वे एक-दूसरे के खिलाफ कड़वी बातें बोलने में गुरेज नहीं करती, लेकिन श्रीदेवी और माधुरी दीक्षित के कंपटीशन निराला ही था। दोनों एक-दूसरे की आलोचना करने के बजाय हमेशा तारीफ करती ही नजर आती थीं।

श्रीदेवी और माधुरी दीक्षित, दोनों के बीच इनसिक्योरिटी जैसी चीज नहीं थी। दोनों ने कई बारा एक-दूसरे की फिल्मों की तारीफ की और ये भी जाहिर किया कि उन्हें एक-दूसरे की परफॉर्मेंस कितनी ज्यादा इंप्रेसिव लगी। एक दूसरे के लिए सम्मान से जाहिर होता है कि दोनों के बीच हेल्दी कंपटीशन था और इसमें किसी तरह की कड़वाहट जैसी कोई बात नहीं थी।

अगर आपको यह खबर अच्छी लगी तो इसे जरूर शेयर करें। बॉलीवुड से जुड़ी दिलचस्प खबरें जानने के लिए विजिट करती रहें हरजिंदगी।