• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

अक्षय तृतीया में व्रत करने की सोच रही हैं तो ये नियम जरूर अपनाएं

अक्षय तृतीया का व्रत रखने से पहले आप इससे जुड़े कुछ नियमों के बारे में जरूर जान लें।
author-profile
Published -28 Apr 2022, 16:58 ISTUpdated -29 Apr 2022, 17:50 IST
Next
Article
akshaya tritiya  fasting rules by expert

अक्षय तृतीया को अक्ती या आखा तीज के नाम से जाना जाता है, यह एक वार्षिक हिंदू और जैन वसंत उत्सव है। यह हिंदू कैलेंडर के अनुसार वैशाख महीने के शुक्‍ल पक्ष के तीसरे दिन पड़ता है। 

त्योहार को प्रमुख हिंदू त्योहारों में से एक माना जाता है जो आपके घर में सौभाग्य लाने के लिए मनाया जाता है। अक्षय एक संस्कृत शब्द है जिसका अर्थ है आशा, समृद्धि, आनंद और सफलता और 'तृतीया' का अर्थ तीसरा होता है। हालांकि, हर महीने शुक्ल पक्ष में तृतीया आती है लेकिन वैशाख के दौरान आने वाली शुक्ल पक्ष में तृतीया को शुभ माना जाता है। इसदिन कोई भी शुभ कार्य किया जा सकता है।

पौराणिक ग्रंथों के अनुसार, इस दिन जो भी कार्य किए जाते हैं, उनका अक्षय फल मिलता है। इसलिए इस दिन को अक्षय तृतीया कहा जाता है। ऐसा माना जाता है कि अक्षय तृतीया के मौके पर अगर कोई चीज खरीदी जाती है तो वह हमेशा आपके साथ रहती है।

इस साल यानी 2022 को यह त्योहार 3 मई को मनाया जाने वाला है। इससे जुड़ी कई किंवदंतियां और कहानियां हैं जो हिंदू संस्कृति में इसके महत्व को साबित करती हैं। यह गर्मियों की शुरुआत का प्रतीक है और किसान इस फसल के खिलने के समय का आनंद उपवास और मेलों का आयोजन करके लेते हैं। आज हम आपको बताएंगे कि अक्षय तृतीया के दिन उपवास के लिए कौन से नियम अपनाने चाहिए। इसके बारे में हमें  Life Coach और Astrologer Sheetal Shapaira जी बता रही हैं।

अक्षय तृतीया के दौरान फॉलो किया जाने वाले व्रत नियम

akshaya tritiya fasting tips

अक्षय तृतीया को व्रत रखने और भगवान की पूजा करने का भी एक अच्छा समय माना जाता है। यह दिन व्रत के साथ-साथ त्योहार की श्रेणी में आता है और किए गए सभी पवित्र कर्मों का विशेष महत्व है। इस दिन भक्तों को सुबह जल्दी स्नान करना चाहिए और देवता की पूजा करने के बाद उपवास शुरू करना चाहिए। सबसे पहले भगवान विष्णु या किसी मूर्ति की तस्वीर स्थापित करें और उसे चंदन और फूलों की माला से सजाएं।

इसे जरूर पढ़ें:अक्षय तृतीया कब है? जानें तिथि, महत्व, इतिहास एवं पूजा विधि

अब पूजा शुरू करने से पहले भगवान को तिल, चावल और चना दाल चढ़ाएं। फिर, भगवान को अपनी प्रार्थना करते हुए विष्णु शास्त्रनाम पाठ का पाठ करें। पूजा का अनुष्ठान पूरा करने के बाद, भगवान को कुछ प्रसाद चढ़ाएं और बाकी को परिवार के सदस्यों में बांट दें।

इस दिन भगवान विष्णु के साथ भगवान शिव और देवी पार्वतीकी भी पूजा की जाती है। इस दिन चावल और मूंग दाल की खिचड़ी खाने की परंपरा है।

अक्षय तृतीया को नवन के नाम से भी जाना जाता है, इसलिए बर्तन, मिठाई, तरबूज, दूध और दही का दान करना शुभ माना जाता है।

अक्षय तृतीया का महत्व

akshaya tritiya  fasting rules hindi

एक पारंपरिक हिंदू चंद्र कैलेंडर में, अक्षय तृतीया वैशाख महीने में शुक्ल पक्ष के तीसरे दिन मनाया जाता है। इस दिन भगवान परशुराम का जन्म होने के कारण इसे परशुराम जयंती भी कहा जाता है। इस दिन पवित्र नदी गंगा में स्नान करने का विशेष महत्व है। मृत पूर्वजों की शांति के लिए पुजारी को कपड़े, छाता, पवित्र धागा, खरबूजे आदि का दान भी कर सकते हैं। इस दिन भगवान बद्रीनारायण के मंदिर के कपाट भक्तों के लिए खुलते हैं।

Recommended Video

एक चबूतरे पर भगवान नारायण की तस्वीर स्थापित करनी चाहिए और भगवान को मिठाई और भीगी हुई चना दाल अर्पित करनी चाहिए। भारत में सभी कार्य मुहूर्त के अनुसार किए जाते हैं, लेकिन अक्षय तृतीया के चरण के दौरान किसी विशेष मुहूर्त की तलाश करने की आवश्यकता नहीं है। ऐसा माना जाता है कि अक्षय तृतीया का प्रत्येक सेकंड शुभ होता है।

इसे जरूर पढ़ें:अक्षय तृतीया 2022: उपवास की थाली में परोसें ये 8 पकवान, स्वाद में हैं लाजवाब

अक्षय तृतीया पर दान का महत्व

akshaya tritiya  fasting rules quote

अक्षय तृतीया को महान समृद्धि प्राप्त करने का त्योहार माना जाता है। इस दिन पवित्र कर्म, दान, दान, तपस्या, पवित्र स्नान आदि का विशेष महत्व है। गंगा और यमुना जैसी पवित्र नदियों में स्नान करना बहुत शुभ माना जाता है। ग्रीष्मकाल में उपयोग की जा सकने वाली वस्तुएं तथा वस्त्र, जल, खाद्य पदार्थ आदि का दान करना भी शुभ माना जाता है। इस दिन देवी पार्वती की पूजा गेहूं, चना, दही, दूध, खीर, गन्ना, सोना, वस्त्र, जल पात्र आदि से करनी चाहिए।

आपको यह आर्टिकल कैसा लगा? हमें फेसबुक पर कमेंट करके जरूर बताएं। ऐसी ही और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें। 

Image Credit: Shutterstock & Freepik

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।