कच्‍चे पपीते की ग्रेवी वाली खट्टी मीठी चटनी बचपन से ही मेरी पसंदीदा चटनी रही है। मेरी मां अकसर ही इस चटनी को बनाया करती है। स्‍वाद में खट्टी मीठी लगने वाली ये चटनी बनाने में भी बहुत आसान होती है और इसके लिए ज्‍यादा सामग्री की जरूरत नहीं पड़ती। अगर आप खट्टी और मीठी चीजों के शौकीन है तो यह चटनी आपको जरूर पसंद आएगी। वैसे भी कच्‍चा पपीता हेल्‍थ के लिए फायदेमंद होता है और अगर आप पपीते को अलग-अलग तरीके से बनाकर खाना चाहती है तो यह एक और आप्शन आपकी रेसिपी लिस्‍ट में शामिल कर सकती है। इस चटनी की खास बात यह है कि इसमें किसी भी तरह का मसाला नहीं पड़ता और इसलिए ये हेल्‍थ के लिए फायदेमंद है। तो आइए जानें, इसे बनाने का तरीका।

raw papaya chutney inside

इसे जरूर पढ़ें: सूरन की ग्रेवी वाली चटनी कैसे बनाएं, जानें इसकी रेसिपी

कच्चे पपीते की ग्रेवी वाली चटनी बनाने के लिए सामग्री:

  • कच्चा पपीता- 1 कप
  • राई- 1/2 टेबल स्‍पून  
  • हल्दी पाउडर- चुटकीभर
  • नींबू- 1
  • चीनी- 4 टेबल स्‍पून  
  • नमक- स्‍वादानुसार
  • तेल- अंदाजानुसार
  • पानी- अंदाजानुसार

कच्चे पपीते की ग्रेवी वाली चटनी बनाने का तरीका:

  • सबसे पहले पपीते को छिलकर थोड़े बड़े-बड़े लेकिन पतले आकार में काट लें और अच्‍छे से धो लें।
  • गैस पर धीमी आंच पर एक कढ़ाई चढ़ाए और गर्म होने दें, जब कढ़ाई गर्म हो जाए तो इसमें तेल डालें और गर्म होने पर इसमें राई डालें।

papaya chutney inside

  • अब इसमें कटे हुए पपीते के टुकड़े डालें और फ्राई करें। जब पपीते के टुकड़े फ्राई हो जाए तो उसमें हल्दी पाउडर, नमक और चीनी डालें।
  • चीनी डालने के बाद इसमें पानी डालें और साथ ही नींबू का रस भी डालें और पकने के लिए छोड़ दें। ध्‍यान रखें कि पानी थोड़ा ज्‍यादा ही डालें क्‍योंकि हमें पपीते को गलाना है। लेकिन ध्‍यान रखें कि पपीते के टुकड़े गलकर टुटने नहीं चाहिए।

how to make raw papaya chutney at home inside

इसे जरूर पढ़ें: चटपटी प्याज की चटनी कैसे बनाएं, जानें इसकी रेसिपी

  • 10 मिनट बाद चेक करें कि पपीते गले या नहीं। अगर नहीं गले हो इनको और थोड़ा सा पकाएं और अगर पक गई हो तो गैस बंद कर दें।

तैयार है आपकी कच्‍चे पपीते की ग्रेवी वाली खट्टी मीठी चटनी। इसे आप चावल, रोटी या पराठे के साथ खा सकती हैं। इसे आप लंच या डिनर में सर्व कर सकती है।

Photo courtesy- (YouTube, Bhalobese Ranna, YouTube, Deskgram, ChangeIP, Navbharat Times)