भारत में होली का पर्व कई कारणों से फेमस है। अगर इसके धार्मिक पहलू को देखा जाए तो इस दिन बुराई पर अच्‍छाई की जीत हुई थी और विष्‍णु भक्‍त एवं असुरों के राजा हरिण्यकशिप के बेटे प्रह्लाद की भक्ति की शक्ति देखने को मिली थी। 

इस त्‍यौहार के साथ ही गर्मियों का मौसम भी आजाता है और इसलिए इस त्‍यौहार पर सूखे और गीले रंग से खूब होली भी खेली जाती है। मगर किसी भी त्‍यौहार का मजा तब तक कहां आता है, जब तक मीठाई की मिठास उसमें न घुली हो। इसलिए होली के पर्व के आते ही हर घर में तरह-तरह की मिठाइयां बनने लगती हैं। 

आज हम आपको होली पर बनाए जाने वाले खास पकवानों और उनकी रेसिपी के बारे में बताएंगे। 

इसे जरूर पढ़ें: मास्टर शेफ कविराज खियालानी से जानें बाजरे की रेसिपीज

गुजिया- होली का त्‍यौहार बिना गुजिया के अधूरा है। हाफ मून के आकार की गुजिया में स्‍वाद का खजाना भरा होता है। इसे खोए, गरी, ड्राई फूट्स आदि की फिलिंग के साथ तैयार किया जाता है। 

चाट- घर में अगर होली पार्टी हो और उसमें गोल गप्‍पे, पापड़ी चाट, चना चाट, आलू चाट, कटोरी चाट, दही भल्‍ले, पालक पकोड़े और कचौड़ी न हो तो होली के रंगों का मजा ही फीका रह जाता है। इसे आप होली पार्टी में लाइव काउंटर पर तैयार कर सकते हैं। 

मखाने की खीर- खीर कई तरह से तैयार की जा सकती हैं। मखाने की खीर का भी अपना अलग ही स्‍वाद है। यह स्‍वादिष्‍ट होने के साथ ही सेहतमंद भी होती है। इसे दूध, केसर, मखाने और मावा के साथ गैसे को धीमा करके आसानी से पकाया जा सकता है। 

ठंडाई- होली का रंग तभी जमता है जब ठंडाई होती है। इसे होली ड्रिंक भी कहा जा सकता है। वैसे तो आप ठंडाई का सेवन कभी भी कर सकते हैं, मगर होली पर ठंडाई पीने का मजा ही कुछ और होता है। ठंडाई बनाने के लिए आपको दूध, चीनी, बादाम, केसर, कालीमिर्च, रोज पेटल्‍स, दालचीनी आदि सामग्रियों की जरूरत होगी। 

नमकपारा- मिठाई के साथ ही कुछ नमकीन भी जरूरी होता है। इससे मुंह का जायका और भी अच्‍छा हो जाता है। इसलिए आप घर पर ही मैदा, अजवाइन और जीरे की मदद से नमकपारा बना सकती हैं। यह खाने में स्‍वादिष्‍ट और बनाने में आसान है।  

firni by expert

ठंडाई और खजूर की फिरनी 

सामग्री 

1 लीटर दूध 

  • 1/2 कैद मिल्‍कमेड/ कंडेंस्‍ड मिल्‍क 
  • 100 ग्राम मेवा 
  • 1/4 छोटा चम्‍मच हरी इलायची 
  • 4-5 बारकी कटे खजूर 
  • 50 ग्राम चावल का पेस्‍ट (30 मिनट तक पानी में चावल को भिगो कर रखें और फिर पेस्‍ट बनाएं।)
  • 3-4 बड़ा चम्‍मच ठंडाई सिरप 
  • 10-12 रोज पेटल्‍स 
  • चीनी स्‍वादानुसार 

विधि 

  • एक पैन में दूध गरम करें और उसमें चीनी और मावा डालें। अब गैस को सिम करकें इसे पकाएं और लगातार चलाते रहें। इससे सामग्री पैन के तले में चिपकेगी नहीं। 
  • अब इसमें चावल का पेस्‍ट डालें और लगातार घोल को चलाते रहें। इसके बाद इलायची पाउडर डालें और गैस को लो फ्लेम पर ले आएं और सामग्री को 20 से 25 मिनट तक पकाएं। 
  • अब मिठास जांचें और थोड़ा सा कंडेंस्‍ड मिल्‍क डालें । इससे अच्‍छा फ्लेवर और टेक्‍सचर आ जाता है। इसे अच्‍छी तरह से मिक्‍स करें और रूम के तापमान के बराबर ठंडा होने दें। 
  • अब इसमें अपनी पसंद के ड्राई फ्रूट्स डालें और ठंडाई सिरप मिक्‍स करें। आपकी फिरनी तैयार है इसे 3-4 घंटे के लिए फ्रिज में ठंडा होने के लिए रख दें और फिर सर्व करें। 
gujiya by expert

मेवेदार नटखट गुजिया 

सामग्री 

  • 1 कप मैदा 
  • 1 चुटकी नमक 
  • 3 बड़ा चम्‍मच घी 
  • 2 बड़े चम्‍मच पानी 
  • 100 ग्राम खोया 
  • 50 ग्राम कसी हुई गरी 
  • 2 बड़े चम्‍मच चिरोंजी 
  • 2 बड़े चम्‍मच किशमिश 
  • 2 बड़े चम्‍मच चीनी या शुगर सिरप 
  • 1/4 छोटा चम्‍म इलायची पाउडर 
  • फ्राई करने के लिए तेल या घी 
  • गुजिया चिपकाने के लिए मैदे का गाढ़ा घोल 
recipes holi ki

विधि 

  • सबसे पहले गुजिया के लिए आटा तैयार करें और 20 मिनट के लिए गीले कपड़े से उसे ढांक कर रख दें। 
  • अब आप गुजिया की फिलिंग तैयार करें। इसके लिए खोए को मैश करें और थोड़ा सा भून लें। इसके बाद जब खोया ठंडा हो जाए तो उसमें किशमिश, चिरोंजी, कसी हुई गरी, चीनी और इलायची पाउडर डालें। 
  • अब आटे की छोटी लोई बनाएं और गोल बेल लें। इसमें गुजिया की फिलिंग भरें और मैदे के घोल से गुजिया को चिपकाएं। 
  • अब तेल को गरम करें। फिर धीमी आंच में गुजिया को पकाएं। इसके बाद आप इसे ट्रे में रख कर गरम-गरम सर्व कर सकती हैं। 
namakpara by expert

कालीमिर्च वाले नमकीन पारे

सामग्री 

  • 1 कप मैदा 
  • 1 कप आटा 
  • नमक स्‍वादानुसार 
  • 1 छोटा चम्‍मच अजवाइन 
  • 1 छोटा चम्‍मच जीरा 
  • 1 छोटा चम्‍मच व्‍हाइट तिल 
  • 1/2 कप गरम पानी 
  • 3-4 बड़ा चम्‍मच घी 
  • फ्राई करने के लिए तेल 

विधि 

  • एक बड़ा बाउल लें और उसमें मैदा, आटा, नमक, अजवाइन, कालीमिर्च और घी डाल कर अच्‍छे गूथ लें। गूथने के लिए गरम पानी का इस्‍तेमाल करें और आटा गुथ जाने के बाद 30-45 मिनट के लिए गीले कपड़े से ढांक दें। 
  • अब गुथे हुए आटे को 4 भाग में करें ओर लोई बना लें। इसके बाद न ज्‍यादा मोटा न ज्‍यादा पतला बेल लें। इसकी थिकनेस को आप 1/4 इंच रखें। 
  • अब पिज्‍जा कटर या चाकू की मदद से डायमंड शेप में इस कट कर लें। 
  • तेल को कढ़ाई में गरम करें और धीमी आंच में गोल्‍डन ब्राउन होने तक इसे सेक लें। 
  • इसके बाद इसे एक परात में ठंडा होने के लिए रखें और फिर एयरटाइट कनटेनर में स्‍टोर करें ओर गरम-गरम चाय के साथ सर्व करें। 

डॉक्‍टर कविराज खियालानी के बारे में जानें

डॉक्‍टर कविराज खियालानी एक सेलिब्रिटी मास्टर शेफ, क्रेएटिव क्विज़ीन स्‍पेशलिस्‍ट, लेखक, फूड राइटर और कंसल्टेंट हैं। फूड और हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री से जुड़े डॉक्‍टर कविराज खियालानी को 2 दशकों से भी अधिक समय हो चुका है और इस दौरान उन्होंने 33 से अधिक अंतर्राष्ट्रीय व्यंजनों में भी महारत हासिल की है, स्टार प्लस और कलर्स टीवी के लिए डॉक्‍टर कविराज खियालानी कई फूड शोज भी कर चुके हैं। शेफ कविराज को उनकी अनोखी पाक कला के लिए कई राष्ट्रीय पुरस्कारों से भी सम्मानित किया जा चुका है।

आपको यह आर्टिकल अच्‍छा लगा हो तो शेयर और लाइक जरूर करें और साथ ही इसी तरह और भी आसान रेसिपीज जानने के लिए पढ़ती रहें हरजिंदगी।