सर्दियों में अलसी (flax seeds) के लड्डू जरूर बनाएं। इसे आप 30 मिनट में घर पर बना सकते हैं। असली और गोंद से बने लड्डूओं को आप 1 महीनें तक डिब्बे में भरकर रख लें इसे आप 1 महीने तक खा सकते हैं ये खराब नहीं होते और सर्दियों में अलसी के लड्डू खाने से बहुत फायदा भी मिलता है। आप अगर अलसी और गोंद को मिक्स करके सर्दियों में पिन्नी बनाकर खाएंगें तो आपको सर्दी भी नहीं लगेगी और आप बीमार भी नहीं पड़ेंगी।

अलसी और गोंद के लड्डू की सामग्री

अलसी (flax seeds)- 1/2 किलो

गेहूं का आटा- 1/2 किलो

देसी घी- 1/2 किलो

गुड़- 800 ग्राम

काजू- 100 ग्राम

बादाम- 100 ग्राम

पिस्ता- 50 ग्राम

किशमिश- 50 ग्राम

गोंद- 100 ग्राम

इलायची- 10-15 पिसी हुई 

अलसी और गोंद के लड्डू की सामग्री

सबसे पहले आप अलसी (linseeds or flax seeds) को एक थाली में छानकर रखें। फिर इसे सूखी कढ़ाई में रोस्ट करें। अलसी को रोस्ट करने के बाद इसे मिक्सी में दरदरा पीस लें।

अब एक कढ़ाई में घी डालकर उसे गर्म करें और उसमें गेहूं का आटा डालकर सुनहरा होने तक भून लें। आटे से महक आने लगेगी इसे आप अलग से एक ट्रे में निकाल कर रख लें। कढ़ाई में देसी घी डालकर इसमें गोंद को तलें। गोंद हल्की ब्राउन हो जाएगी और फूल जाएगी फिर इसे एक प्लेट में निकाल कर रख लें। सारी गोंद को देसी घी में तलने से बाद इसे किसी बेलन या बेलन जैसी चीज़ से दबाकर पीस लें। 

जिस कढ़ाई में गोंद फ्राई की है अब इसमें अलसी डालिये और धीमी आंच पर इसे थोड़ी देर पकाइये। जैसे जैसे अलसी पकेगी इसमें से अच्छी खूशबू आने लगेगी। फिर इसे आप एक प्लेट में निकाल कर रख लीजिए। 

अब सारे ड्रायफ्रूट्स को आप बारीक काट लें।

अलसी के लड्डू बनाने के लिए अब आपको गुड़ की चाशनी तैयार करनी है। चाशनी तैयार करने का तरीका भी आसान है एक पैन में पानी गर्म करें और उसमें गुड़ डाल दें इसे धीमी आंच पर पकाएं और एक तार की चाशनी जब तैयार हो जाए तब इसमें भुना हुआ आटा, भुनी हुई अलसी, बारीक कटे हुए ड्रायफ्रूट्स, गोंद, इलायची पाउडर सब मिला दें। 

चाशनी में इस सारी सामग्री को अच्छे से मिक्स करें और फिर हल्का ठंडे होने पर इसके छोटे-छोटे लड्डू बना लें। आप अलसी के लड्डूओं को एयर टाइट कन्टेनर में डालकर एक महीने तक रख सकते हैं। 

अलसी और गोंद के लड्डू बनाने में आपको सामग्री तैयार करने के बाद सिर्फ आधा घंटा ही लगेगा।

Read more: Keto diet वाले स्पेशल तिल के लड्डू

  • Inna Khosla
  • Her Zindagi Editorial