कोरोनावायरस के दौरान लॉकडाउन के चलते हर कोई अपने घरों में है। ऐसा में किसी को यह जरूरी ब्रेक की तरह लग रहा है तो किसी को ऐसा महसूस हो रहा है जैस वह लगातार फंस रहा हैं। लेकिन सबसे अच्‍छी बात यह है कि हमें अपने इस खाली समय का ज्‍यादा से ज्‍यादा फायदा उठाना चाहिए। खाना पकाने जैसे शौक इन तनावपूर्ण समय के दौरान बहुत काम आते हैं। इस समय का इस्‍तेमाल आप घर में अचार बनाकर भी कर सकती हैं। जी हां मजेदार खाना और उसके साथ अचार..सुनते ही आपके मुंह में पानी आ गया ना? अचार के साथ खाने का स्वाद कई गुणा बढ़ जाता है। सब्‍जी पसंद न हो लेकिन टेस्‍टी अचार मिल जाए तो खाने का अलग ही स्वाद आता है। लेकिन अचार बनाना इतनी मेहनत और दिनों का काम है कि इसे खाना तो हर किसी को पसंद होता है, लेकिन बनाने से ज्‍यादातर लोग बचते हैं। अगर आपको भी अचार पसंद है लेकिन समय की कमी के कारण बनाने से बचती हैं तो यह समय आपके लिए एकदम सही है। 

अगर आप भी इन दिनों में कुछ नया ट्राई करना चाहती हैं और क्‍वालिटी के साथ समझौता नहीं चाहती तो आज हम आपके लिए 21 अचार की रेसिपी लेकर आए है। इन्‍हें आप घर और ऑफिस के कामों के बीच में कुछ समय निकालकर आसानी से रोजाना बना सकती हैं और अपने खाने का स्‍वाद दोगुना कर सकती हैं। साथ ही घर का बना हुआ अचार मार्केट से ज्‍यादा फ्रेश और अच्छी क्वालिटी का भी होगा। तो आइए बताते है अचार की कुछ ऐसी रेसिपी जो आपको तारीफ का हकदार बनाएंगी और घरवालों को रोज नए स्‍वाद से भी परिचित करवाएंगी। 

types of achaar inside

पहला दिन: आम और हरी मिर्च का अचार

सबसे पहले दिन हम आपको अचार की ऐसी रेसिपी बताएंगे, जो न केवल झटपट बनती हैं बल्कि यह हमारी हेल्‍थ के लिए भी अच्‍छी होती है। जी हां अचार बनाने में बहुत समय लग जाता है और आजकल की बिजी लाइफ में किसी के पास इतना टाइम है कि वो आम को काटे और 2-3 दिन तक धूप में सुखाए। इसलिए ज्यादातर लोग बाहर मार्केट से ही अचार खरीद कर खाते है जो हेल्थ के लिए काफी नुकसान दायक होता है। ऐसे में आप इस अचार को आसानी से बना सकती हैं। आइए इसे बनाने के तरीके के बारे में जानें।  

इसे जरूर पढ़ें: टी लवर हैं तो 21 दिन में सीखें चाय बनानें की 21 नई रेसिपीज

सामग्री

  • पीली सरसों- 1 बड़ी चम्मच
  • हल्दी पाउडर- 1 छोटी चम्मच
  • लाल मिर्च पाउडर- 2 छोटी चम्मच
  • काली मिर्च- ½ छोटी मिर्च
  • कच्चा आम- 250 ग्राम
  • हींग- 2 चुटकी
  • सौंफ- 2 बड़े चम्मच
  • नमक- 2 बड़े चम्मच
  • सफेद सिरका- 2 बड़े चम्मच
  • हरी मिर्च- 100 ग्राम
  • सरसों का तेल- ⅓ कप
  • मेथी के दाने- 2 छोटी चम्मच
  • सरसों के दाने- 2 छोटी चम्मच

आम और हरी मिर्च का अचार बनाने का तरीका

  • इस अचार को बनाने के लिए आम और हरी मिर्च को धोकर और सूखा लें, और आम को ग्रेट कर लें।
  • अब एक पैन में सरसों का तेल गर्म करके उसमें मेथी और सरसों के दाने डालकर मीडियम आंच पर भून लें। 
  • अब आंच धीमी करके हींग और सौंफ डालकर भून लीजिए।
  • अब आंच को बंद कर के ग्रेट किया हुआ आम, हरी मिर्च, पीली सरसों, हल्दी पाउडर, लाल मिर्च पाउडर, काली मिर्च औ नमक डालकर अच्छे से मिला लें। 
  • अब अचार में सफेद सिरका डालकर मिक्स कर लें।
  • आपका अचार तैयार है। आप इस अचार को तुरंत भी खा सकते है इसे धूप में रखने की जरूरत नहीं है।
  • आप इसे किसी कंटेनर में रखकर कई दिनों तक स्‍टोर कर सकते है।

दूसरा दिन: अदरक और हल्‍दी का अचार

आप दूसरे दिन हल्‍दी और अदरक का अचार बना सकते हैं। यह खाने में टेस्‍टी होने के साथ-साथ हेल्‍थ के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। ऐसा इसलिए क्‍योंकि अदरक डायजेशन में हेल्‍प करती हैं और हल्‍दी में करक्यूमिन नामक तत्‍व होता है। जो बॉडी में सूजन और कैंसर सेल्‍स को पैदा होने से रोकता है। आइए इस टेस्‍टी और हेल्‍दी अचार को बनाने का तरीका बताते है। 

सामग्री-

  • सरसों तेल- 1/3 कप 
  • सरसों के दाने- 1 छोटी चम्मच
  • हींग- 1 चुटकी
  • काली मिर्च - 1 छोटी चम्मच
  • मेथी दाना- 2 छोटी चम्मच
  • सौंफ- 4 छोटी चम्मच
  • पीली सरसों के दाने - 4 छोटी चम्मच 
  • नमक - 2 छोटी चम्मच
  • कच्ची हल्दी - 200 ग्राम
  • अदरक - 100 ग्राम
  • नींबू - 2
  • हरी मिर्च -10

अदरक और हल्‍दी का अचार बनाने का तरीका 

  • इस अचार को बनाने के लिए सबसे पहले हल्दी, अदरक, नींबू और हरी मिर्च को अच्छे से धोकर पोंछ लें, ताकि पूरा पानी सूख जाएं।  
  • अब अदरक और हल्दी को छीलकर, छोटा-छोटा काट लें। 
  • हरी मिर्च को चार हिस्‍सों में और नींबू को दो हिस्‍सों में काट लें। 
  • अचार बनाने के लिए पैन को गैस पर रखकर, उसमें सौंफ, मेथी दाना और काली मिर्च डालकर 1 मिनट के लिए लगातार चलाते हुए हल्का भून लें। 
  • फिर मसालों को दरदरा पीस लें। 
  • सरसों का तेल को भी जला लें ताकि उसमें स्‍मैल निकल जाए। 
  • तेल को थोड़ा ठंडा करके उसमें सरसों के दाने भून लें फिर इसमें हींग डालें। 
  • फिर अदरक, हल्दी और हरी मिर्च डाल दीजिए, साथ में नमक, सरसों के दाने और दरदरा पीसा मसाला डाल दें। 
  • सभी चीजों को अच्‍छे से मिक्‍स कर दें। अचार में नींबू का रस डालकर अच्छी तरह मिला दीजिए। 
  • आपका अचार तैयार है। इसे आप सूखे कांच या चीनी मिट्टी के कन्टेनर में भरकर रख दें। 
  • 3-4 दिन में अचार बनकर तैयार हो जाएगा।
  • अचार में नींबू के रस के जगह 2-3 चम्‍मच सिरका का इस्‍तेमाल भी कर सकते हैं। 

तीसरा दिन: आंवले का अचार 

तीसरे दिन के लिए हम आपको आंवले के लच्छे अचार के बारे में बता रहे है। इसे आप बहुत आसानी से और जल्द बनाकर तैयार कर सकते हैं। विटामिन सी से भरपूर ये अचार स्‍वाद के साथ-साथ हेल्‍थ के लिए भी बहुत अच्‍छा होता है। इसे खाने से आप अपनी बॉडी में विटामिन सी की कमी को पूरा कर सकत हैं, क्‍योंकि कहते है कि आंवले में मौजूद विटामिन सी इसे उबलने और स्‍टोर करने के बाद भी कम नहीं होता है। 

सामग्री 

  • आंवला- 7 
  • सौंफ पाउडर- 2 छोटी चम्मच
  • मेथी दाना- 1 छोटी चम्मच
  • सरसों के दाने- 1 छोटी चम्मच
  • अदरक- 2 इंच टुकड़ा
  • लाल मिर्च पाउडर- 2 छोटी चम्मच
  • हींग- 2 चुटकी
  • नमक- स्वादानुसार
  • सरसों का तेल - 3/4 कप
  • जीरा - 1/2 छोटी चम्मच
  • कलौंजी - 1/2 छोटी चम्मच
  • हल्दी पाउडर -  1/5  छोटी चम्मच

आंवले का अचार बनाने का तरीका 

  • अचार बनाने के लिए सबसे पहले किसी बर्तन में पानी उबाल लें फिर इसमें आंवले डालकर 5 मिनट के लिए रख दें। 
  • अब अचार के लिए मसाले तैयार करने के लिए सौंफ, मेथी दाना, काली सरसों के दाने और जीरा डालकर सभी मसालों को दरदरा पीस लें। 
  • अब आंवला को निकाल लें और आंवले ठंडा होने पर इसे और अदरक को कद्दूकस करें। 
  • पैन में तेल डालकर गरम करें और इसे ठंडा होने के लिए रख दें। 
  • तेल के हल्का ठंडा होने पर इसमें हींग और कलौंजी डालें। 
  • फिर गैस ऑन करके, इसे धीमा रखें। 
  • अब तेल में कद्दूकस किया हुआ अदरक और दरदरे मसाले डालकर 2 मिनट भून दें।  
  • मसाले भूनने के बाद इनमें कद्दूकस किए हुए आंवले और हल्दी पाउडर, लाल मिर्च पाउडर और नमक डालकर मिक्स कर लें।
  • आंवलों को लगातार चलाते हुए 2 मिनट और भून लें। 
  • फिर गैस बंद कर दें और अचार को थोड़ा ठंडा होने दें। 
  • फिर इसमें सिरका डालकर मिक्स कर दें। अचार तैयार है, इसे किसी जार में निकाल लें। 
  • इस अचार को बनने में 3 दिन का समय लगता है। लेकिन इसे आप 5 महीने तक स्‍टोर करके खा सकते हैं।

चौथा दिन: नींबू का अचार

यूं तो नींबू के अचार को डालने का सही समय जनवरी का होता है क्‍योंकि इस समय पतले छिलके वाले नींबू बाजार में मिल जाते हैं, लेकिन इसे आप भी डाल सकते हैं। नींबू का अचार कई तरीके जैसे नींबू का सादा अचार, नींबू का मीठा अचार, नींबू का लच्‍छे वाला अचार बना सकते हैं। कहा जाता है कि नींबू का अचार जितना पुराना होता जाता है, स्वादिष्ट और पेट के लिये पाचक होता है, गैस या अपच जैसी पेट की गड़बड़ी में ये अचार बहुत फायदेमंद होता है। चौथे दिन हम आपको नींबू भरवां अचार की रेसिपी बताने जा रहे है।

सामग्री -

  • नीबू- 750 ग्राम
  • सेंधा नमक- 2 छोटी चम्मच
  • सोंठ पाउडर- 2 छोटे चम्मच
  • हल्दी पाउडर- 1 छोटी चम्मच
  • काला नमक- 1/4 कप
  • सादा नमक- 1/4 कप
  • हींग - 1/4 छोटी चम्मच
  • जावित्री - 2-3 फूल
  • जीरा - 2 छोटी चम्मच
  • अजवायन - 2 छोटे चम्मच
  • बड़ी इलाइची- 10  
  • काली मिर्च- 2 छोटी चमम्च
  • दालचीनी - 2 इंच टुकड़े
  • जायफल - 1
  • मेथीदाना - 2 छोटे चम्मच
  • धनिया पाउडर - 2 छोटी चम्मच

नींबू का अचार बनाने का तरीका 

  • नींबू को रात भर पानी में डाल कर रख लें। 
  • फिर अगले दिन नीबू को पानी से निकालकर अच्‍छी तरह से सूखा लें। 
  • 500 ग्राम नींबू में बीच में से 4 कट लगा लें। लेकिन ध्‍यान रहें कि नींबू नीचे से जुड़े रहें। 
  • फिर सारे साबुत मसालों को दरदरा पीसकर एक बड़ प्‍याले में निकाल लें। 
  • अब कटे नींबू को एक-एक लेकर जितना मसाला नीबू में आ जाए उतना भर लें। 
  • फिर नींबू सूखे कन्टेनर में सीधे-सीधे लगा दें और बचे मसाले को नींबू के ऊपर डाल दें।
  • 250 ग्राम नींबू का रस निकालकर, भरे हुए नींबू के ऊपर कन्टेनर में डाल दीजिये। 
  • नीबू 3-4 दिन में रस में डूब जायेंगे। फिर इसे रोजाना धूप में रखें। 
  • कुछ ही दिनों में आपको नींबू का भरवां अचार बनकर तैयार हो जाएगा। 
  • नीबू का अचार 2-3 साल तक रख कर खाया जा सकता है।
types of achaar inside

पाचवां दिन: टमाटर का अचार

पाचवें दिन हम आपको टमाटर के अचार की रेसिपी बताने जा रहे है। आपको लग रहा होगा भला टमाटर का भी अचार बन सकता है तो हम आपको बता दें, हां। टमाटर की चटनी, सब्जी, सलाद आदि तो आप बनाकर खाते ही रहते होंगे, लेकिन टमाटर का स्वाद अगर आपको लंबे समय तक लेना है, तो टमाटर का अचार बनाकर रख लें और आप जब चाहे, तब इसे निकालकर इसका स्वाद ले सकते हैं। 

सामग्री 

  • टमाटर- 5  
  • लाल मिर्च पाउडर - 3 छोटी चम्मच 
  • हल्दी पाउडर - 1 छोटी चम्मच 
  • इमली का पल्प - 2 टेबल स्पून 
  • सरसों का तेल - ½ कप से थोड़ा ज्यादा (125 ग्राम) 
  • नमक - स्वादानुसार 
  • लाल मिर्च साबुत- 4-5 
  • जीरा- 1 छोटी चम्मच 
  • काली सरसों के दाने- 2 छोटी चम्मच 
  • हींग - 1 चुटकी
  • मेथीदाना - 1 छोटी चम्मच 

टमाटर का अचार बनाने का तरीका 

  • टमाटर का अचार बनाने के लिए भी सबसे पहले टमाटर को धोकर और सुखाकर टमाटर को मोटा-मोटा काट लें। 
  • टमाटर को पकाने के लिए पैन में तेल डालकर गर्म करें और फिर टमाटर को तेल में डालकर अच्छे से मिक्स कर दें। 
  • पैन को ढककर टमाटरों को कम से कम 10 मिनट तक मीडियम आंच पर पूरी तरह से नर्म होने तक पका लें।
  • लेकिन बीच-बीच में इसे चैक करते रहें। पकने के बाद इसे अच्‍छी तरह से मैश कर दें, ताकि यह पूरी तरह से ड्राई हो जाए। 
  • फिर इसमें इमली का पल्प मिलाकर 1-2 मिनट पका लें।  टमाटर को थोड़ा ठंडा करने के बाद इसे हल्का दरदरा पीस लें।  
  • फिर कढ़ाही में तेल डालकर गर्म करके उसमें सरसों, मेथी के दाने और जीरा डालकर मसालों को धीमी आंच पर हल्का सा भून लें। 
  • इसमें सूखी लाल मिर्च को काटकर और हींग डाल दें। फिर, इसमें टमाटर और इमली का पेस्ट, हल्दी पाउडर, लाल मिर्च पाउडर और नमक डालकर सभी चीजों को अच्छे से चलाकर मिक्स करते हुए थोड़ी देर पका लें। 
  • गैस बंद कर दें। आपका टमाटर का अचार तैयार है। 
  • अचार को पूरी तरह से ठंडा होने के बाद किसी भी कांच के कंटेनर में भरकर रख दें। 
  • इस अचार को आप 1 महीने तक इस्‍तेमाल कर सकते हैं।

छठां दिन: मोटी लाल मिर्च का अचार

ज्‍यादातर लोगों को खाने के साथ मिर्च खाना बहुत पसंद होता है। ऐसे लोग घर में मिर्च का अचार बनाकर, अपने खाने के स्‍वाद को बढ़ा सकते हैं। आज यानि छठे दिन हम आपको मोटी लाल मिर्च का स्‍वादिष्‍ट अचार बनाने की रेसिपी बताने जा रहे हैं। यह बेहद तीखा और टेस्‍टी मोटी लाल मिर्च का आचार अगर कोई एक बार खा लेगा तो उसका मन इसे बार-बार खाने का करेगा। 

सामग्री - 

  • लाल मिर्च- 250 ग्राम
  • नमक- स्वादानुसार
  • काली सरसों के दाने- 4 बड़ी चम्‍मच 
  • सौंफ- 4 बड़ी चम्‍मच 
  • सरसों का तेल- 1 कप
  • नींबू- 2
  • मेथी दाने- 2 बड़ी चम्‍मच 
  • काला नमक- 1 बड़ी चम्‍मच 
  • हल्दी पाउडर- 1 बड़ी चम्‍मच 
  • हींग- 2 पिंच
  • जीरा- 2 बड़ी चम्‍मच 
  • काली मिर्च- 1 बड़ी चम्‍मच 
  • अजवायन- 1 बड़ी चम्‍मच 

मोटी लाल मिर्च का अचार बनाने का तरीका 

  • इसे बनाने के लिए सबसे पहले मिर्च को धोकर धूप में 2 से 3 घंटे सूखा लें।
  • हर अचार की तरह इसका मसाला तैयार करने के लिए सभी साबुत मसालों की तरह भूनकर दरदरा पीस लें। 
  • पैन में सरसों का तेल डालकर अच्छे से गर्म कर लीजिए। तेल से धुआं उठने पर गैस बंद कर दीजिए और तेल को पैन में ही ठंडा होने दीजिए। 
  • मसाले को प्लेट में निकाल लें। काली सरसों को भी दरदरा पीसकर इन्हीं मसालों में मिक्स कर लें। 
  • इसमें काला नमक, हल्दी पाउडर और हींग डालकर अच्छे से मिला लें। साथ ही नींबू का रस निकालकर मसाले में मिक्स कर लीजिए।
  • फिर, मसाले में 2 टेबल स्पून तेल भी मिला दीजिए। अचार के लिए मसाला तैयार है।
  • मिर्च के डंठल काटकर हटा दें और इसे लंबाई में काटकर इसमें मसाला भरने के लिए थोड़ा सा पल्प और बीज निकालकर मिर्च को खाली दें। 
  • फिर मिर्च में मसाले भरें। 
  • तेल में एक-एक मिर्च को पूरी तरह डुबोकर दूसरे प्याले में रखते जाए। 
  • आपका अचार तैयार है। इसे कन्टेनर में भर लें। आधी मिर्च कन्टेनर में भरने के बाद प्लेट में बचे हुए मसाले को भी इन मिर्च पर डाल दें।  
  • ऊपर से बाकी मिर्च भर करक इसपर तेल डाल दें। कन्टेनर का ढक्कन बंद कर दें। 
  • लाल मिर्च का तीखा अचार बनकर तैयार है। 
  • इसे आप धूप में रखें। 3 दिन बाद, अचार मसाले सोख लेगा और अचार खाने के लिए तैयार हो जाएगा। 
  • इस अचार का लुफ्त आप पूरे साल भर ले सकते हैं।

सातवां दिन: मेथी दाने का अचार

मेथी दाने का अचार गर्माहट देने के साथ-साथ डायजेशन के लिए भी बहुत अच्‍छा होता है। साथ ही इसकी गर्म तासीर जोड़ों के दर्द के लिये भी अच्‍छी होती है। इसलिए हम सातवें दिन आपको मेथी दाने का अचार बताने जा रहे हैं। लेकिन गर्म तासीर होने के कारण इसे थोड़ी मात्रा में ही खाना चाहिए। 

सामग्री 

  • मेथी के दाने - 1/4 कप 
  • हींग - 1/4 छोटी चम्मच 
  • काली मिर्च - आधा छोटी चम्मच
  • सरसों का तेल - 2-3 बड़ा चम्‍मच 
  • नीबू - 6-7 नीबू
  • लाल मिर्च पाउडर - आधा छोटी चम्मच
  • नमक - स्‍वादानुसार 
  • सौंफ - 1 छोटी चम्मच 
  • हल्दी पाउडर - 1/2 छोटी चम्मच

मेथी दाने का अचार बनाने का तरीका 

  • मेथी दाने का अचार बनाने के लिए सबसे पहले पैन में तेल डालकर गरम कर लें।
  • फिर तेल को मीडियम गर्म रहने तक ठंडा कर लें, तेल में मेथी के दाने डालकर 1-2 मिनट मेथी के दाने को भून लें। 
  • अब गैस बंद करके, मेथी दाने में हींग पाउडर, काली मिर्च, सोंफ, हल्दी पाउडर, लालमिर्च पाउडर और नमक डालकर अच्छी तरह मिला लें। 
  • और अब इसे एक प्याले में निकालकर इसमें नींबू का रस मिला लें। 
  • मेथी दाना का अचार बन गया है, लेकिन खाने के लिये 3 दिन बाद तैयार होगा।

आठवां दिन: मेथी दाने का कच्‍चे आम वाला अचार 

अगर आप मेथी दाने के अचार को थोड़ा ज्‍यादा खट्टापन लाना चाहते हैं तो आप इसमें कच्‍चे आम को मिलाकर बना सकते हैं। इससे मेथी दाने का अचार बहुत ज्‍यादा टेस्‍टी हो जाता है।

सामग्री

  • मेथी के दाने - 1/4 कप 
  • हींग - 1/4 छोटी चम्मच 
  • काली मिर्च - आधा छोटी चम्मच
  • सरसों का तेल - 2-3 बड़ा चम्‍मच 
  • कच्‍चा आम - 250 ग्राम
  • लाल मिर्च पाउडर - आधा छोटी चम्मच
  • नमक - स्‍वादानुसार 
  • सौंफ - 1 छोटी चम्मच 
  • हल्दी पाउडर - 1/2 छोटी चम्मच

मेथी दाने का कच्‍चे आम वाला अचार 

  • जी हां आप सातवें दिन बताई गए अचार में थोड़ा ज्‍यादा खट्टापन चाहती हैं तो अचार को कच्चे आम के साथ भी बनाया जा सकता है।
  • इसके लिए आपको नींबू के रस की जगह कच्चा आम लेकर उसे छील कर छोटे छोटे टुकड़ों में काट लें।  
  • कढ़ाई में मसाले मिक्स मेथी के दाने निकाल कर कटे हुये आम के टुकड़ों में मिलाकर रख दें।
  • कच्चे आम से रस बाहर जायेगा और मेथी के दाने उसमें फूल जायेंगे और अचार बन कर तैयार हो जायेगा।
  • अचार को 15 दिन तक रख कर खाया जा सकता है, अचार को अधिक दिन तक चलाने के लिये, अचार को फ्रिज में रख कर खायें।
types of achaar inside

नौंवा दिन: सहजन का अचार

सहजन की फली का अचार बहुत स्वादिष्ट बनता है। सहजन की फली जब एकदम नरम होती है, तो इससे अचार बनता है। यह अचार टेस्‍टी होने के साथ -साथ हेल्‍दी भी होता है क्‍योंकि सहजन में भरपूर मात्रा में प्रोटीन, कैल्शियम, आयरन, पोटेशियम, जिंक जैसे पोषक तत्‍वों के अलावा मल्टीविटामिंस, एंटीऑक्‍सीडेंट, दर्दनिवारक गुण और एमिनो एसिड पाए जाते हैं। आइए इसे बनाने के तरीके के बारे में जानें। 

सामग्री

  • सहजन की फली - 300 ग्राम
  • नमक - 1 छोटी चम्मच
  • हींग - 2-3 पिंच
  • हल्दी पाउडर - 1 छोटी चम्मच
  • सरसों का तेल - 1/3 कप
  • काली मिर्च पाउडर - 1/4 छोटी चम्मच
  • पीली सरसों- 2 छोटी चम्मच
  • सिरका - 1 छोटी चम्मच
  • सौंफ पाउडर - 1 छोटी चम्मच
  • लाल मिर्च पाउडर - 1/4 छोटी चम्मच

सहजन का अचार बनाने का तरीका 

  • अचार बनाने के लिये, सबसे पहले सहजन की फलियों को धोकर सुखाकर, लंबाई में काट लें। 
  • फिर इसमें एक छोटा चम्मच नमक मिलाकर किसी डिब्बे में 3 दिन के लिए बंद करके रख दें।  
  • रोजाना दिन में एक बार चम्मच से फलियों को हिला लें। 
  • 3 दिन बाद नमक में रखी हुई सहजन की फली का अचार बनाइये।
  • हर अचार की रेसिपी की तरह इसके लिए भी तेल गर्म करके ठंडा करें। 
  • फिर इसमें हींग, हल्दी पाउडर, सौंफ पाउडर डालकर, मिक्स कर दें। 
  • फिर सहजन की फली, नमक, लाल मिर्च पाउडर, सरसों पाउडर और काली मिर्च पाउडर डालकर, सारी चीजों को अच्छी तरह मिक्स कर दें।
  • फिर अचार में सिरका भी डालकर मिला दें। 
  • सहजन की फली का अचार तैयार है। तैयार अचार को अच्छी तरह ठंडा होने के बाद कांच के कन्टेनर में भर कर रख दें।  
  • 3 दिन में अचार खट्टा और बहुत स्वादिष्ट हो जाता है। 
  • सहजन की फली के अचार को 1-2 महीने तक रखकर खाया जा सकता है। 

दसवां दिन: करेले का अचार

दसवें दिन हम आपको थोड़ा कड़वा लेकिन हेल्‍दी अचार बनाने की रेसिपी बताने जा रहे हैं। हालांकि कड़वा होने के कारण लोगों को करेला ज्‍यादा पसंद नहीं आता है, लेकिन फिर भी इसमें मौजूद पोषक तत्‍वों के कारण लोग इसे जरूर खाते हैं। अगर आपको भी करेला पसंद नहीं है तो परेशान न हो और इसके पोषक तत्‍व पाने के लिए घर में ही इसका स्वादिष्ट अचार बनाकर खाएं। यह बनाने में आसान होने के साथ-साथ आपके खाने में स्वाद जोड़ देगा!

सामग्री

  • करेले- 8
  • हींग- 1/2 छोटा चम्मच
  • मेथी दाना- 1/3 छोटा चम्मच
  • तिल का तेल- 1 कप
  • मिर्च पाउडर- 1/2 बड़ा चम्मच
  • करी पत्ता- मुट्ठी भर
  • हरी मिर्च- 8
  • सरसों के दाने- 1/2 बड़ा चम्मच
  • नमक- आवश्यकतानुसार
  • तेल- आवश्यकतानुसार

करेले का अचार बनाने का तरीका

  • करेले का अचार बनाने के लिए सबसे पहले करेले को अच्छी तरह से धो लें और फिर एक सूती कपड़े का इस्‍तेमाल करके इसे अच्‍छे से पोंछ लें।
  • करेले को काटकर लंबाई में आधा कर दें और बीज को निकाल लें और साथ ही हरी मिर्च को भी काट लें।
  • अब इन पर नमक लगाकर इन्हें 3 से 4 घंटे के लिए एक तरफ रख दें।
  • करेलों को निचोड़कर इसका कसैलापन निकाल लें, चम्मच की मदद से बीच बाहर निकाल लें और धोए फिर से इन्हें निचोड़ लें।
  • मसाले में थोड़ा सा नींबू का रस मिला लें और इसके बाद हर करेले में इस मसाले को भरें।
  • इन सभी करेलों कांच में जार में रखें और बचा हुआ नींबू का रस डालकर इसे बंद कर दें।
  • 3 से 4 दिन इसे धूप में रखें और एक हफ्ते बाद इसे खाएं।

11 वां दिन: आम का मीठा अचार

कच्चे आमों से कई तरह के अचार और चटनी बनाकर खाई जा सकती हैं, जिन्हें हम साल भर तक स्‍टोर खाने के इस्‍तेमाल में लाते रहते हैं। अभी आम का मौसम चल रहा है, बच्चों को मीठे अचार बहुत पसंद आते है। ऐसे में आप उनके लिए आम का मीठा अचार बनाकर स्‍टोर कर सकती हैं। आइए 11 वें दिन हम इस रेसिपी को बनाने का तरीका बताते हैं।

सामग्री

  • आम का गूदा – 2 किलो
  • बड़ी सौंफ - 125 ग्राम
  • कलौंजी - 25 ग्राम
  • पिसी सौंठ - 25 ग्राम
  • कालीमिर्च - 25 ग्राम
  • शक्कर – 4 किलो
  • सिरका - थोड़ा सा 
  • नमक - 250 ग्राम
  • पिसी हुई लालमिर्च - 125 ग्राम
  • बड़ी इलायची - 25 ग्राम

आम का मीठा अचार बनाने का तरीका 

  • सबसे पहले आम को छीलकर उसकी गुठली निकाल कर उसके बड़े-बड़े टुकड़े कर लीजिए।
  • किसी स्टील के बर्तन में दो किलो पानी शक्कर में डालकर उसे तेज आंच पर रख दें। 
  • जब पानी उबल जाए तो उसमें आम के टुकड़ों को डाल दें। 
  • 15 मिनट पकने के बाद पिसी हुई लालमिर्च, कालीमिर्च, सौंफ और कलौंजी को उसमें डाल दीजिए।
  • लगभग 10 मिनट तक इन चीजों को आंच पर रखने के बाद बर्तन पर महीन कपड़ा बांधकर ठंडा होने के लिए उसे किसी खुली जगह पर रख दीजिए।
  • सब चीजें पूरी तरह ठंडी हो जाने के बाद सिरका मिलाकर अचार को किसी जार में रख दीजिए। 
  • सिरका डालने से अचार लंबे समय तक चलता है।

12 वां दिन: कटहल का अचार

आपने नींबू, आम और गाजर का अचार तो खाया होगा, लेकिन कई ऐसी सब्जियां हैं जिनका अचार बेहद स्‍वादिष्‍ट बनता है। उन्‍हीं में से एक है कटहल। कटहल का अचार घर पर ही बनाया जा सकता है। लेकिन आपको इसे बनाने के लिए इसकी सही तरीके और इसमें पड़ने वाली सही सामग्री का पता होना चाहिए। तो चलिए 12 वें दिन हम आपको घर पर ही कटहल का अचार बनाना सिखाते हैं।

सामग्री

  • कटहल - 500 ग्राम
  • सरसों का तेल - 1 कप
  • पीली सरसों दाना - 3 बड़ा चम्मच
  • अदरक का पाउडर - 2 छोटा चम्मच
  • सौंफ पाउडर - 2 छोटा चम्मच
  • लाल मिर्च पाउडर - 1 छोटा चम्मच
  • हींग - 1/2 छोटा चम्मच
  • अजवायन - 1 छोटा चम्मच
  • मेथी दाना - 2 छोटे चम्मच
  • जीरा - 2 छोटे चम्मच
  • काला नमक - 1 छोटा चम्मच

कटहल का अचार बनाने का तरीका

  • अचार बनाने के लिए आपको कच्‍चे और सफेद कटहल को खरीदना होगा। 
  • फिर इसके छिलकर हटाकर 1 इंच के टुकड़ों में काटें।
  • अब कटे हुए कटहल के टुकड़ों को कुकर की स्‍टीम में उबाल लें। 
  • कटहल को चेक करने के लिए कुकर को खोलें। अगर वह हल्‍का गलने लगा हो तो उसे बाहर निकालें। इसे अलग ठंडा होने के लिए रख दें।
  • अब एक पैन में तेल गरम करें। इसमें हल्‍दी, हींग डालकर फिर इसमें कटहल डालें। इसे 2 मिनट तक अच्‍छे से पकाएं। 
  • फिर इसे थोड़ा ठंडा होने दें। इसके बाद इसमें सारे मसाले मिलाकर अच्‍छे से मिक्‍स करें।
  • आपका अचार तैयार है। इसे आप सब्‍जी की तरह भी खा सकते हैं। 
  • लेकिन आपको इसका असली स्‍वादा 4 दिन बाद ही आएगा, जब यह खट्टा हो जाएगा। 
  • इस अचार को आप सूखे और एयरटाइड कंटेनर में स्‍टोर करके रखें।
types of achaar inside

13 वां दिन: करोंदे का अचार

अचार खाने के स्वाद भूख दोनों को बढ़ा देते हैं, और अगर घर में कई प्रकार के अचार हो, तब तो क्‍या कहना। इसलिए आज हम आपको करोंदे के अचार के बारे में बता रहे हैं जो हल्‍के खट्टेपन के कारण खाने में बहुत ही स्वादिष्ट लगता है। आइए करोंदे का अचार बनाने की आसान रेसिपी के बारे में जानें। 

सामग्री - 

  • करोंदे - 200 ग्राम
  • अजवायन - 1 छोटा चम्मच
  • मेथीदाना - 1 छोटा चम्मच
  • सरसों का पाउडर - 2 छोटे चम्मच
  • नमक - 1 बड़ा चम्मच
  • सरसों का तेल - ½ कप
  • कलौंजी - 1 छोटा चम्मच
  • मोटी सौंफ - 1 छोटा चम्मच
  • हींग - 2 चुटकी
  • हल्दी पाउडर - 1 बड़ा चम्मच
  • लाल मिर्च पाउडर - 1 बड़ा चम्मच

करोंदे का अचार बनाने का तरीका 

  • इसका अचार बनाने के लिए करोंदे को साफ पानी से धोकर थोड़ी देर हवा में सुखा लें। जब पानी सूख जाये तो करोंदों को बीच में से दो टुकडो में काट लें।
  • फिर कढ़ाई गर्म करें फिर उसमे सौंफ, मेथी, कलौंजी, अजवायन डालकर हल्का सा भूनकर दरदरा पीस लें। 
  • कटे हुए करोंदे में नमक, मिर्च, हल्दी सरसों का पाउडर, और दरदरा पिसा मसाला मिला दें।
  • तेल को गर्म करें। जब तेल जल जाए तो गैस बंद करके और तेल को हल्का ठंडा होने के लिए रख दें। तेल में हींग और मसाले और करोंदे मिला दें। 
  • पूरी तरह से ठंडा होने के बाद अचार को एयर टाइट कंटेनर में भरकर रख दें। 
  • इस अचार को आप 1 हफ्ते तक खा सकते हैं।

14 वां दिन: टेंटी का अचार

आपने बाजार से मिलने वाले मिक्‍स अचार में अक्‍सर टेंटी को देखा होगा। लेकिन 14 वें दिन हम आपको इस अचार को बनाने का तरीका बताने जा रहे हैं। इस अचार को बनाने के लिए टेंटी को सरसों के तेल और खूब सारे मसाले में अच्छे से मिला कर धूप में रख दिया जाता है और बहुत ही स्वादिष्ठ अचार तैयार होता है। मुझे यह अचार बहुत पसंद है, मुझे विश्‍वास है कि यह अचार आपको भी बहुत पसंद आएगा।

सामग्री

  • टेंटी- 250 ग्राम 
  • लाल मिर्च - 1/4 छोटी चम्मच
  • राई (पीली सरसों)- 2 बड़े चम्‍मच 
  • हींग- 2-3 पिंच
  • सरसों का तेल - आधा कप
  • सिरका- 1 बड़ा चम्‍मच 
  • नमक- 2 छोटी चम्मच
  • हल्दी पाउडर- 1 छोटा चम्मच

टेंटी का अचार बनाने का तरीका

  • टेंटी के डंठल तोड़कर इसे साफ पानी से धो लें। 
  • फिर इन्‍हें एक बर्तन में डालकर इतना पानी भरें कि टेंटी डूब जाए। 
  • अब इस बर्तन को ढककर धूप में रख दें। 
  • टेंटी का पानी 2 दिन बाद बदलते रहें। 
  • 5-6 दिनों में टेंटी का हरा रंग, पीले रंग में बदल जाता है। 
  • अब इन्‍हें 2 बार साफ पानी से धोकर छलनी में रख कर धूप में रख दें। 
  • 2 - 3 घंटों में जब पानी सूख जाएगा, तब हम इसका अचार बनाएगे। 
  • इसे बनाने के लिए सरसों के तेल को पैन में डालकर गर्म करें। 
  • फिर कढ़ाई को गैस से उतार कर नीचे रखकर तेल को ठंडा कर लें।  
  • हल्‍के गर्म तेल में हल्दी पाउडर, हींग, टेंटी, नमक और लाल मिर्च डालकर अच्छी तरह मिला लें। 
  • अचार में सिरका डाल कर भी मिक्स करें। टेंटी का अचार तैयार है, अचार को ठंडा होने के बाद, कांच के कन्टेनर में भरकर रख लें। 
  • रोजाना इसे हिलाते रहें। जब 8-10 दिन में अचार खट्टा और स्वादिष्ट होने लगेगा। तो यह खाने के लिए तैयार हो जाएगा।

15 वां दिन: लसोड़े का अचार

लसोड़े का अचार बच्चों को बहुत पसंद आता है। हालांकि यह उत्तर भारत में बहुत ज्‍यादा बनाया जाता है। लेकिन अगर आपने अब तक इसे नहीं बनाया है तो आज ही ट्राई करें। क्‍योंकि आज हम आज आपको इसकी आसान रेसिपी के बारे में ही बताने जा रहे हैं।

सामग्री

  • लसोड़े - 1/2 किलो
  • नमक - स्वादानुसार
  • हल्दी पाउडर - 1 छोटी चम्मच
  • राई या पीली सरसों - 2 बड़ी चम्‍मच 
  • सरसों का तेल - 2 बड़ी चम्‍मच 
  • हींग - 1 पिंच
  • लाल मिर्च पाउडर - 1/4 छोटी चम्मच

लसोड़े का अचार बनाने का तरीका

  • लसोड़े को अच्‍छे से धोकर उबलते पानी में इसे 5 मिनट तक रख दें। 
  • ठंडा होने पर लसोड़े से सारा पानी निकाल दें। 
  • लसोड़े में से गुठली निकालकर इसे दो हिस्‍सों में काट दें। 
  • मीडियम आंच में एक कड़ाही में जीरा, मेथी के दाने, अजवाइन और सौंफ डालकर हल्का सा रोस्ट कर लें।
  • मसाले के ठंडा होने पर इसमें पीली सरसों, नमक और हल्दी मिक्‍स करके दरदरा पीस लें। 
  • अब दोबारा धीमी आंच में एक कड़ाही में तेल डालकर इसमें लसोड़े, पिसा हुआ मसाला, हींग डालकर मिक्‍स करते हुए अच्छे से मिक्स कर लें। 
  • जब लसोड़े में मसाले अच्छे से मिक्स हो जाए तो गैस बंद कर दें। 
  • अचार को ठंडा करके किसी जार में रख दें।
  • लसोड़े का अचार तैयार है।
types of achaar inside

16 वां दिन: परवल का अचार

भरवां परवल की सब्‍जी और परवल की मिठाई तो आपने बनाई और खाई होगी। लेकिन क्‍या आपने कभी परवल का अचार खाया है, अगर नहीं तो 16 वें दिन हम आपको परवल के अचार की रेसिपी बताने जा रहे हैं, जो खाने में बहुत टेस्‍टी होता है और साथ ही वह हेल्‍थ के लिए भी बहुत अच्‍छा माना जाता है।

सामग्री

  • परवल - 300 ग्राम
  • हल्दी पाउडर- 1 छोटी चम्मच
  • पीली सरसों-  3 छोटी चम्मच
  • सरसों का तेल- 4 छोटी चम्मच
  • हींग- 2 पिंच
  • नमक- स्‍वादानुसार 
  • सिरका- 2 बड़े चम्‍मच 
  • सौंफ- 3 छोटी चम्मच
  • मेथी दाना- 2 छोटी चम्मच

परवल का अचार बनाने का तरीका

  • अचार के लिये हरे ताजे परवल लेकर उसे धोकर छील लें।  
  • फिर परवल से पानी सूखने पर इसे गोल-गोल टुकड़ों में काट लें। 
  • फिर पानी गर्म करके इसमें परवल के टुकड़े 5 मिनट के लिए डालकर छोड़ दें।
  • ऐसा करने से परवल हल्‍के नर्म हो जाएंगे।
  • परवल के टुकड़े किसी कॉटन कपड़े डालकर धूप में सूखने दें।  
  • 4-5 घंटे की धूप में रखने के बाद ये परवल सूखकर अचार के लिये तैयार हो जायेंगे।
  • पीली सरसों, मेथी दाना और सौंफ को साफ करके दरदरा पीस लें। 
  • फिर तेल गर्म करके उसमें हींग और हल्दी पाउडर और सारे मसाले डाल कर मिला लें। 
  • परवल के टुकड़े भी इस मसाले में डालकर मिला लें। 
  • अब इन्हें किसी कांच के कंटेनर में बंद करके तीन चार दिन के लिए रख दें। 
  • आपका परवल का अचार तैयार है। इसे आप 2 हफ्ते तक खा सकते हैं। 

17 वां दिन: हरी मिर्च का अचार

मिर्च का अचार लगभग सभी को पसंद होता है, लेकिन अगर आप मिर्च के अचार के तीखेपन से घबराते हैं तो आप मठे की हरी मिर्च का अचार ट्राई कर सकती हैं। इस अचार को बनाने के लिए मिर्च को मठा में भिगोकर बनाया जाता है जिससे वह मुलायम, खट्टी होने के साथ-साथ इसका तीखापन भी गायब हो जाता है। इस अचार को बच्‍चे भी बहुत चाव से खाते है। तो देर किस बात की आइए 17 वें दिन हम इसी अचार की रेसिपी के बारे में जानते हैं।

सामग्री

  • मोटी हरी मिर्च - 500 ग्राम
  • पीली सरसों- 4 छोटा चम्मच (पाउडर)
  • सोंफ पाउडर- 2 छोटा चम्मच
  • मेथी - 1 छोटा चम्मच
  • मठा - 1 लीटर
  • नमक - स्‍वादानुसार 
  • जीरा - 2 छोटा चम्मच
  • नीबू - 2 
  • सरसों का तेल - 2 छोटा चम्मच
  • हल्दी पाउडर - 1 छोटा चम्मच
  • हींग - 1/6 छोटा चम्मच

हरी मिर्च का अचार बनाने का तरीका 

  • बाकी अचारों की तरह इसे भी धोकर पानी सूखा लें। 
  • फिर हरी मिर्च को कांच के कन्टेनर में भरकर मठे में डुबाकर धूप में रख दें।
  • 4-5 दिन में मिर्च मठे में पीली पड़ लग जाएगी। 
  • मिर्च को 2 दिन में एक बार हिलाते रहें। 
  • फिर हरी मिर्च को मठे से निकालकर, साफ पानी से अच्छी तरह से धो लें। 
  • फिर इसे 1 दिन के लिए धूप में सूखा लें। 
  • अब मिर्च को लंबाई में इस तरह चाकू से काटे कि मिर्च दूसरी तरफ से जुड़ी रहें।  फिर सभी मसालों को ड्राई रोस्‍ट करके दरदरा पीस लें। 
  • पिसे हुए इन मसालों में नमक और हल्दी पाउडर के साथ ही नीबू का रस और तेल डालकर मिला लें। 
  • फिर कटी हुई मिर्च में मसाला भर लें। 
  • इस अचार को ज्‍यादा दिन चलाने के लिए, एक प्याले में सरसों का तेल लेकर हर एक मिर्च को तेल में डुबाकर, कांच के कन्टेनर में भरकर रख लें। 
  • 4-5 दिन में अचार तैयार हो जाता है। 
  • इसे आप 5 महीने तक स्‍टोर करके रख सकते हैं।

18 वां दिन: अदरक का अचार

आपने आम, नींबू, गाजर और मिर्च का अचार तो खूब खाया होगा। लेकिन अगर इनसे हटकर कुछ मजेदार अचार बनाना चाहते हैं तो 18 वें दिन आप अदरक का अचार बनाइए। इस अचार की सबसे अच्‍छी बात यह है कि यह मात्र 2 दिन में बनकर तैयार हो जाता है और खाने के स्वाद के साथ ही यह आपका हाजमा भी दुरुस्त रखता है। यानि स्‍वाद के साथ सेहत भी अच्‍छी रहेगी। आइए इसकी आसान रेसिपी के बारे में जानें।

सामग्री

  • अदरक- 250 ग्राम
  • हरी मिर्च- 100 ग्राम
  • नींबू का रस- 3
  • हींग- 1/2 छोटा चम्‍मच
  • नमक- स्वादानुसार
  • सरसों का तेल- 2 छोटा चम्‍मच
  • लाल मिर्च पाउडर- 1 छोटा चम्‍मच
  • सौंफ- 1 छोटा चम्‍मच
  • राई- 1 छोटा चम्‍मच

अदरक का अचार बनाने का तरीका

  • अदरक का अचार बनाने के लिए सबसे पहले अदरक को अच्‍छी तरह से धोकर, इसे लंबे-लंबे टुकड़ों में काट लें।
  • इन टुकड़ों को एक कपड़े पर फैलाकर कुछ देर के लिए सूखने के लिए रख दें, ताकि काटने के बाद इसमें आने वाली नमी दूर हो जाए।
  • फिर हरी मिर्च को भी अच्‍छी तरह से धोकर साफ कर लें और बीच से फाड़ लें।
  • इसके बाद एक थाली में ऊपर बताए सारे मसाले डालकर मिला लें।
  • फिर इसी थाली में अदरक के टुकड़े और मिर्च डालकर अच्छी तरह मिक्स कर लें।
  • इसके बाद इसमें नींबू का रस और तेल डालकर अच्छी तरह मिला लें। लेकिन तेल को मिक्‍स करने से पहले अच्‍छी तरह से मिला लें।
  • इस अचार को सूखी कांच की बर्नी में रखें। 
  • बर्नी को 2 दिन के लिए तक धूप में रखें। आपका अदरक का टेस्‍टी और हेल्‍दी अचार तैयार है।
  • इसे आप 3 महीने तक इस्तेमाल कर सकते हैं।
types of achaar INSIDE

19 वां दिन: जिमीकंद का अचार

जिमीकन्द जिसे आप सूरन के नाम से भी जानते है, इसका अचार ज्‍यादा दिनों तक टिकाता नहीं है। लेकिन गुण और स्वाद में इसका कोई मुकाबला नहीं। आप चाहे तो इसे तुरंत बना कर खा सकते हैं। आइए 19 वें दिन हम आपको इसी रेसिपी के बारे में बताते हैं। 

सामग्री

  • जिमीकंद - 250 ग्राम
  • पीली सरसों - 2 छोटी चम्मच (दरदरी पिसी हुई)
  • हींग - 2-3 पिंच
  • नमक - स्‍वादानुसार 
  • मेथी दाना - 2 छोटी चम्मच 
  • सिरका - 3 छोटी चम्मच
  • सरसों का तेल - ¼ कप 
  • काली मिर्च - ½ छोटी चम्मच
  • हल्दी - 1 छोटी चम्मच
  • अजवायन - 1/2 छोटी चम्मच
  • लाल मिर्च पाउडर - 1 छोटी चम्मच

जिमीकंद का अचार बनाने का तरीका

  • जिमीकंद को छीलकर छोटे-छोटे टुकडों में काट लें और धोकर कुकर में डालकर उबाल लें। 
  • फिर जिमीकंद को छलनी में डालकर उसमें से एक्‍स्‍ट्रा पानी निकालकर, कॉटन के कपड़े पर फैलाकर 2 घंटे के लिए धूप में सुखा लें। 
  • सूखने के बाद इसे प्याले में रखकर इसमें नमक, मेथी दाने का पाउडर, पीली सरसों का पाउडर, हींग, हल्दी पाउडर, अजवायन, लाल मिर्च पाउडर, सिरका और सरसों का तेल डालकर अच्छी तरह मिला लें। काली मिर्च पाउडर भी डाल लें। 
  • अचार को आप बनते ही खा सकते हैं, लेकिन अचार का असली स्वाद 3 दिन बाद ही आता है जब मसाले अच्छी तरह जिमीकन्द के टुकड़ों में मिल जाते है।  जिमीकंद के अचार को 1 महीने तक खाने के लिए इस्‍तेमाल किया जा सकता है।

20 वां दिन: आम का हींग वाला अचार

फलों के राजा आम का नाम सुनकर बच्‍चों के नहीं बड़ों के मुंह में भी पानी आने लगता है। और अगर बात हो कच्‍चे आम के हींग वाले अचार की फिर तो कोई भी इसे खाना चाहेगा। इसलिए आज यानि 20 वें दिन हम आपको हींग वाले आम के अचार की रेसिपी बताने जा रहे हैं। 

सामग्री

  • कच्चा आम- 1 किलो 
  • हल्दी पाउडर- 2 चम्मच 
  • हींग पाउडर- 1 चम्मच
  • नमक- स्‍वादानुसार
  • पीसी हुई सरसों- 2 चम्मच  
  • लाल मिर्च पाउडर- 2 चम्‍मच 
  • सरसों का तेल- 1 कप

आम का हींग वाला अचार बनाने का तरीका 

  • कच्चे आम को अच्छी तरह धोकर छील लें और छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लें।
  • अब कटे हुए टुकडो को 2 घंटे धूप में सुखा लें जिससे उसका सारा पानी सूख जाए। 
  • अब इन टुकड़ों में हल्दी और नमक मिलाकर एक कांच की बरनी में भर दे और बरनी के मुंह पर एक कपडा बांधकर 3-4 दिनों के लिए धूप में रख दें। 
  • तीन चार दिनों के बाद इस अचार में पिसी हुई हींग, लाल मिर्च पाउडर और पीसी हुई सरसों मिला के अच्छे से मिला लें। 
  • एक कप तेल मिला कर फिर से 3-4 दिनों के लिए धूप में रख दें। 
  • एक हफ्ते में आपका टेस्‍टी हींग वाला आम का अचार तैयार हो जाएगा।

Recommended Video

21 वां दिन: गाजर और मूली का अचार

अगर आपको भी अचार पसंद है लेकिन बनाने से बचती हैं तो 21 वें दिन हम आपको ऐसे अचार की रेसिपी बताएंगे कि जिसे आप सिर्फ 15 मिनट में झटपट बना सकते हैं। जी हां 21 वें दिन हम आपको गाजर, मूली और हरी मिर्च का अचार बनाना बताएंगे। इसे बनाना बेहद ही आसान है, आप बिना किसी परेशान और धूप में रखें इसे बना सकती हैं। और सबसे अच्‍छी बात इसे बनाने के लिए आपको बहुत ज्‍यादा चीजों की जरूरत भी नहीं होती है।

सामग्री

  • गाजर- 2
  • हरी मिर्च- 4
  • मूली- 2
  • धनिया - 1 बड़ी चम्मच
  • सौंफ- 1 बड़ी चम्मच
  • सरसों- 1 चम्मच
  • जीरा-1 बड़ी चम्मच
  • मेथी- 1 बड़ी चम्मच
  • साबुत काली मिर्च- 1 बड़ी चम्मच
  • सरसों का तेल- 1 छोटी कटोरी
  • हल्दी- 1 छोटी चम्मच
  • अजवाइन- 1 छोटी चम्मच
  • आमचूर पाउडर- 1 बड़ी चम्मच
  • मिर्च पाउडर- 1 छोटी चम्मच
  • नमक- 1 छोटी चम्मच

गाजर और मूली का अचार बनाने का तरीका

  • अचार बनाने के लिए आप सबसे पहले गाजर, मूली और मिर्च को पानी से धोकर उसे साफ कपड़े से पोछ लें।
  • अब आप इन सभी चीजों को लंबे-लंबे टुकड़ों में काट लें। अब आप एक कढ़ाई में तेल डालकर उसे गर्म होने दें।
  • जब तेल गर्म हो जाए तो आप उसमें सबसे पहले कटी हुई मिर्च को भून लें।
  • मिर्च को 5 मिनट भूनने के बाद आप उसमें कटी हुई गाजर और मूली डालकर 3 से 4 मिनट तक चलाएं।
  • दूसरी तरफ अचार का मसाला बनाने के लिए आप सभी चीजों को अच्छे से भून लें।
  • सभी चीजों को भूनने के बाद दरदरा पीस लें और 1 अलग बर्तन में रख लें।
  • अब आप भूनी हुई गाजर, मूली और मिर्च में हल्दी 1 छोटी चम्मच, मिर्च पाउडर 1 छोटी, नमक 1 छोटी, अजवाइन 1 छोटी और आमचूर पाउडर 1 बड़ी चम्मच डालकर अच्छे से चलाएं।
  • इसके बाद आप पीसे हुए मसाले से 2 चम्मच मसाला डालकर 4 मिनट तक लो गैस पर सभी मसालों को मिक्स करें।
  • आपका मिक्‍स अचार बना गया। अब आप इसे लजीज खाने के साथ सबको सर्व करें।
  • यह अचार बहुत ज्‍यादा दिन नहीं चलता है इसलिए इसका इस्‍तेमाल जल्‍दी कर लें।

टिप्‍स

अचार बनाते समय जिस भी बर्तन का इस्तेमाल करें, वह सूखा और साफ होना चाहिए। अचार में किसी तरह की नमी और गंदगी नहीं जानी चाहिए। अचार के लिये कंटेनर को उबलते पानी से धोकर इसे धूप में अच्छी तरह सुखा लें। साथ ही अचार को लंबे समय तक खराब होने से बचाने के लिए जब भी अचार कंटेनर से निकालें, साफ और सूखे चम्मच का इस्‍तेमाल करें। अचार को तेल में अच्छे से डूबा कर रखें, ऐसा करने से अचार लंबे समय तक चलता है। अचार को कभी-कभी धूप में भी रखा जा सकता है, इससे भी अचार की लाइफ ज्यादा हो जाती है। तो देर किस बात कि आप भी इन अचारों में से अपनी पसंद के अचार को जरूर बनाएं। और हमें कमेंट करके जरूर बताएं कि यह अचार की रेसिपी आपको कैसी लगी। इस तरह की और जानकारी पाने के लिए हर जिंदगी से जुड़ेे रहें।