जहां बात जंक फूड की आती है वहां सबसे पहले पिज्जा और बर्गर ध्यान आता है। ऐसा अक्सर देखा गया है कि रेस्त्रां का बर्गर अगर घर पर बनाने की कोशिश की जाए तो या तो उसमें ज्यादा तेल हो जाता है, या तो बन वैसा सॉफ्ट और जूसी नहीं बन पाता, या फिर पैटी में कोई दिक्कत हो जाती है। ये समस्याएं सिर्फ आपके साथ नहीं कई लोगों के साथ होती हैं। कई लोगों को ये लगता है कि बाहर का अनहेल्दी खाने से अच्छा है कि हम घर पर ही कुछ अच्छा बना लें, लेकिन ऐसा होता नहीं है। 

पर कई बार हेल्दी और अच्छे इंग्रीडियंट्स डालने के बाद भी ऐसा हो जाता है। ऐसे में क्यों न हम कुछ टिप्स का ध्यान रखें जिससे हमारा बर्गर भी रेस्त्रां स्टाइल अच्छा बनेगा। ध्यान हमें वो पांच बातें रखनी हैं जो सबसे ज्यादा बर्गर का स्वाद बिगाड़ने का काम करती हैं। 

1. बहुत ज्यादा स्टफिंग्स डालने की कोशिश न करें-

घर के बर्गर में अधिकतर ये समस्या होती है कि हम सब कुछ डालने की कोशिश करते हैं। अंडे, ब्रेड क्रम्ब्स, प्याज, टमाटर, लेटस, चार-पांच तरह की सॉस, नॉनवेज बर्गर्स में मीट, मटर, बीटरूट और न जाने क्या-क्या। आप अगर अपने बर्गर में बहुत सारे इंग्रीडियंट्स डालना भी चाहते हैं तो भी आपको रेसिपी देखनी होगी। 

आप पैटी को बनाते समय ये जरूर ध्यान रखें कि कई इंग्रीडियंट्स एक साथ मेल नहीं खाते हैं और ये स्वाद मिक्स कर देते हैं। इसलिए अपने बर्गर में बहुत ज्यादा स्टफिंग डालने की कोशिश न करें। 

burger and cooking hacks

इसे जरूर पढ़ें- प्रोटीन से भरपूर ये 3 तरह की चटनी खाएंगी तो नहीं पड़ेगी सब्जी की जरूरत, जानें रेसिपी

2. बर्गर में बहुत सारे मसालों की जरूरत नहीं होती है-

आपको घर पर बर्गर को बनाते हुए ये ध्यान रखना चाहिए कि बर्गर में बहुत सारे मसालों की जरूरत नहीं होती है और इसलिए आपको बर्गर में ढेर सारे मसाले नहीं डालने चाहिए। रेस्त्रां में तो ज्यादातर कस्टमाइज्ड मसाला या फिर नमक और काली मिर्च ही डाला जाता है, लेकिन अगर आप घर के बर्गर को आलू टिक्की समझ कर उसमें सारे मसाले डाल देंगी तो ये गलत हो जाएगा। इसलिए बर्गर में सब्जियां तो डालें, लेकिन मसाले लिमिटेड डालने की कोशिश करें जो ज्यादा स्वाद दें। 

3. बर्गर को बहुत दबाने की कोशिश न करें- 

कई बार अंजाने में ही पैटी सेकते समय या फिर, बन सेकते समय या फिर बर्गर पूरा असेंबल करने के बाद ही सही हम उसे जबरन में दबा देते हैं और ये तरीका गलत साबित हो जाता है।  

दरअसल, बर्गर को बहुत ज्यादा दबाने से उसका फैट बाहर आ जाता है और अंदर से बर्गर ड्राई हो जाता है।  

making burger at home

4. बहुत ज्यादा पकाने की जरूरत नहीं है- 

यहां भी वही आलू टिक्की और बर्गर वाला अंतर ध्यान में रखना जरूरी है। आप चाहें जिस भी चीज़ की पैटी बना रहे हों उसे एक साइड से 5-7 मिनट से ज्यादा न पकाएं। आलू टिक्की की तरह उसे क्रिस्पी करने की कोशिश करेंगे तो ये गलत होगा।  

अगर आपको थोड़ा और पकाने वाला स्वाद अच्छा लगता है तब तो ठीक है, नहीं तो अगर रेस्त्रां जैसा स्वाद चाहिए तो दोनों साइड से 7-7 मिनट ही पकाएं। इससे ज्यादा में स्वाद बिगड़ जाएगा।  

burger tricks

इसे जरूर पढ़ें- मौसम के कारण हो रही है सुस्ती तो ये 3 कोल्ड कॉफी रेसिपी करेंगी आपको रीचार्ज 

5. बन को बहुत ज्यादा न सेकें- 

बर्गर का बन दोनों साइड से सिका जरूर होता है, लेकिन कई लोग उसे पाव भाजी के बन की तरह इतना ज्यादा सेंक देते हैं कि वो ठीक तरह से अपनी इलास्टिसिटी मेनटेन नहीं कर पाता है। ऐसा नहीं करना है। बर्गर का बन सिर्फ थोड़ा सा रोस्ट करना होता है और इससे ज्यादा में वो खराब हो जाएगा।  

तो अगली बार अगर आप बर्गर बनाएं तो ये सारी बातें ध्यान रखें। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी है तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।