• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

‘वाइल्ड लाइफ फोटोग्राफर अवार्ड’ जीतने वाली ऐश्वर्या श्रीधर की कहानी है बेहद इंस्पायरिंग, जानें उनके बारे में

वाइल्ड लाइफ फोटोग्राफी बेहद एडवेंचर्स प्रोफेशन है। ऐसे में इसमें बहुत कम महिलाएं ही शामिल होना चाहती हैं। 
author-profile
Published -30 Jul 2022, 13:26 ISTUpdated -30 Jul 2022, 13:39 IST
Next
Article
aishwarya sridhar story

वाइल्ड लाइफ फोटोग्राफी एडवेंचर प्रोफेशन्स में से एक है। जिसमें फोटोग्राफी के दौरान जान का खतरा भी रहता है। यही वजह है कि इस प्रोफेशन में बहुत कम महिलाएं हैं। ऐश्वर्या श्रीधर भी इन्ही महिलाओं में से एक हैं, जो सालों से इस बतौर वाइल्डलाइफ फोटोग्राफर काम करती आ रही हैं। शानदार फोटोग्राफी स्किल्स के कारण उन्हें दुनिया भर में जाना जाता है। आज के इस लेख में हम आपको ऐश्वर्या श्रीधर की कहानी के बारे में बातएंगे, जिन्होंने 23 साल की उम्र में वाइल्ड लाइफ फोटोग्राफर ऑफ द ईयर का अवार्ड जीता। वो इस पुरस्कार जीतने वाली पहली भारतीय लड़की हैं। आइए जानें उनके बारे में- 

कौन हैं ऐश्वर्या श्रीधर?

who is aishwarya sridhar

ऐश्वर्या श्रीधर भारत की वन्यजीव फोटोग्राफर और डॉक्यूमेंट्री फिल्ममेकर हैं। वो अब तक सैंक्चुअरी एशिया यंग नेचुरलिस्ट अवार्ड और इंटरनेशनल कैमरा फेयर जीतने वाली सबसे कम उम्र की महिला के तौर पर जानी जाती हैं। साल 2020 में ऐश्वर्या ने वाइल्डलाइफ फोटोग्राफर ऑफ द ईयर का अवार्ड जीतने वाली पहली भारतीय महिला हैं। इसके अलावा ऐश्वर्या बॉम्बे हाईकोर्ट द्वारा स्टेट वेटलैंड आइडेंटिफिकेशन कमेटी की सदस्य के रूप में काम करती हैं।

बचपन से फोटोग्राफी की शौकीन हैं ऐश्वर्या श्रीधर

ऐश्वर्या श्रीधर को बचपन से ही फोटोग्राफी का शौक था। उनके पिता जी बॉम्बे नेचुरल हिस्ट्री सोसायटी के मेंबर हैं, जिस वजह से वो अपने पिता के साथ घूमने जाया करती थीं। तब वो महज 11 साल की थीं जब उन्हें पहली बार फोटोग्राफी का शौक लगा। स्कूली पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने जनसंचार विषय से ग्रेजुएशन पूरा किया।

इसे भी पढ़ें- सेना में वीरता के लिए गैलेंट्री अवार्ड पाने वाली पहली भारतीय महिला मिताली मधुमिता के बारे में जानें

मिल चुके हैं कई सम्मान

बचपन से ही ऐश्वर्या श्रीधर कुदरती खूबसूरती को देखना चाहती थीं,यही कारण है कि उन्होंने पर्यावरण संरक्षण में भी अपना भरपूर योगदान दिया। इस प्रोफेशन में उनके माता-पिता ने भी भरपूर साथ दिया। ऐश्वर्या श्रीधर को उनके योगदान के लिए कई पुरस्कार मिल चुके हैं हैं, जिसमें ‘डायना अवार्ड’ और ‘वुमन आइकॉन इंडिया अवार्ड’ शामिल हैं। 

ऐश्वर्या श्रीधर का करियर

aishwarya sridhar first lady to win the wildlife photographer of the year award

यूं तो ऐश्वर्या का जन्म एक तमिल परिवार में हुआ लेकिन वो हमेशा मुंबई में ही पली बढ़ीं हैं। उन्होंने अपनी पढ़ाई ‘डॉक्टर पिल्लई ग्लोबल एकेडमी’ से पूरी की। उन्होंने कैम्ब्रिज इंटरनेशनल परीक्षा में बिजनेस स्टडीज के पेपर में वर्ल्ड टॉपर रहीं। इसके बाद उन्होंने मुंबई विश्वविद्यालय से मास मीडिया विषय में ग्रेजुएशन पूरा किया। 

इसे भी पढ़ें- जानें भारतीय सेना की पहली महिला अफसर प्रिया झिंगन के बारे में

फीचर फिल्म बना चुकी हैं ऐश्वर्या श्रीधर

first lady to win the wildlife photographer of the year award

फोटोग्राफर होने के साथ-साथ ऐश्वर्या एक डॉक्यूमेंट्री फिल्म मेकर भी हैं। बता दें कि उनकी पहली वृत्तचित्र ‘पंजे द लॉस्ट वेटलैंड को डीडी नेशनल पर दिखाया जा चुका है। इसके अलावा उन्होंने माया नामक एक जंगली बंगाल बाघिन पर ‘द क्वीन ऑफ तारू’ नामक एक फीचर फिल्म भी बनाई है। जिसे न्यूयॉर्क के 9वें वन्यजीव संरक्षण फिल्म समारोह में सर्वश्रेष्ठ शौकिया फिल्म का पुरस्कार दिया जा चुका है।

जहां महिलाएं बेहद रिस्की जॉब करने से बचा करती हैं, वहीं ऐश्वर्या को इस Adventures  काम में बहुत मजा आता है। वो उन महिलाओं के लिए किसी इंस्पिरेशन से कम नहीं हैं, जिन्हें अपना पैशन फॉलो करना है। तो ये थी ऐश्वर्या की कहानी, जिसके बारे में आपको जरूर जानना चाहिए। आपको हमारा यह लेख पसंद आया हो तो इसे लाइक और शेयर करें, साथ ही ऐसी जानकारियों के लिए जुड़े रहें हर जिंदगी के साथ।

Image Credit- twitter

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।