प्रतिष्ठित ओलंपिक खेल जापान के टोक्यो शहर में  23 जुलाई से आगाज हो चुका है। ये खेल हर एथलीट को अपने सपनों को पूरा करने और देश का नाम दुनिया में रौशन करने का एक बेहतरीन मंच है। इस वर्ष भारत की तरफ से लगभग 127 खिलाड़ी टोक्यो ओलंपिक में भाग ले रहे हैं। इसमें लगभग 56 महिलाएं भी शामिल हैं, जो अपने सपनों को साकार करने लिए तैयार है। एक दिन पहले ही मीरा बाई चानू ने सिल्वर मेडल देश के नाम करके पदक की शुरुआत कर दी है।

हर बार हरज़िन्दगी किसी न किसी महिला एथलीट के बारे में आपको करीब से बताते रहती है। इससे पूर्व आर्टिकल में आपने हॉकी खिलाड़ी मोनिका मलिक के बारे में जाना होगा। आज इसी क्रम में हम आपको भारत की गोल्फ महिला ख़िलाड़ी अदिति अशोक की इंस्पायरिंग जर्नी के बारे में बताने जा रहे हैं, तो आइए जानते हैं।

इसे भी पढ़ें: Tokyo Olympic 2021: 19 साल की भारतीय पहलवान अंशु मलिक से जुड़े रोचक तथ्‍य जानें

कौन हैं अदिति अशोक?

all about aditi ashok golf player

अदिति अशोक बेंगलुरु की रहने वाली एक फेमस गोल्फ खिलाड़ी हैं। उनका जन्म 29 मार्च 1998 को हुआ था। अशोक के पिता एक रियल एस्टेट क्षेत्र में काम करते हैं। उन्होंने लगभग पांच साल की उम्र में पहली बार कर्नाटक गोल्फ एसोसिएशन के पास स्थित एक रेस्तरां से गोल्फ खेल को देखी थी। तब उन्होंने अपने पिता से पूछा कि उसे क्या कहते हैं? तब पिता में बताया इसे गोल्फ खेल कहते हैं। तब से अदिति अशोक के मन में बैठ गया है कि मुझे आगे चलकर गोल्फ खिलाड़ी ही बनाना है।

आगे उन्होंने गोल्फ एकेडमी में दाखिला ले लिया और फिर वो खेल को और भी करीब से जानने लगी। कुछ वर्षों की मेहनत के बाद अदिति ने पीछे मुड़कर कभी भी नहीं देखा और निरंतर आगे बढ़ती रही।

परिवार ने हर कदम पर दिया साथ

aditi ashok golf player

पांच साल की उम्र में एक लड़की के लिए गोल्फ खेलना इतना आसान नहीं था। ऐसे में माता-पिता का साथ खड़ा होना बहुत ज़रूरी था। अदिति को कभी पिता तो कभी मां एकेडमी में खेलने के लिए लेकर जाती थी। कुछ दिन पहले ही अदिति के पिता ने कहा था कि 'मैं बस उसका बैग लेकर जाता हूं, बाकी पूरी मेहनत वो खुद करती थी'। (एथलीट दुती चंद के बारे में जानें)

Recommended Video

अदिति अशोक की उपलब्धियां

about aditi ashok golf player

  • साल 2013 में एशियाई खेलों में चयन के बाद अशोक ने फिर कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा और निरंतर आगे बढ़ती रही। इसके बाद साल 2014 में युवा ओलंपिक खेलों और 2014 एशियाई खेलों में भाग लेने वाली पहली और एकमात्र भारतीय महिला गोल्फर हैं।
  • इसके अलावा लल्ला आइचा टूर स्कूल का खिताब जीतने वाली वो सबसे कम उम्र की और पहली भारतीय महिला भी हैं। इसके अलावा साल 2016 में लेडीज यूरोपियन में भी हिस्सा ले चूकी हैं।
  • आपकी जानकारी के लिए बता दें कि साल 2016 में रियो ओलिंपिक में भगा लेने वाली एक मात्र भारतीय गोल्फर खिलाड़ी थीं। उस समय वो महज़ 18 वर्ष की थी। हालांकि, रियो में कोई भी पदक उनके नाम नहीं रहा है लेकिन, बेहतरीन खले से सबके नज़र में आ गई थी।
  • इसके अलावा प्रोफेशनल वुमेंस गोल्फ सर्किट में अदिति अशोक तीन बार टॉप-10 में भी रही हैं। ये उपलब्धि किसी बड़ी उपलब्धि से कम नहीं है।

कब है अदिति का मैच?

know all about aditi ashok indian golf player

अदिति का मैच 23 जुलाई से लेकर 25 जुलाई के बीच में है। रियो ओलंपिक के बाद अदिति के साथ भारत को भी बेहद उम्मीद हैं कि अशोक इस बार देश के लिए पदक लेकर वापस आएंगी।  आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अदिति अशोक अर्जुन पुरस्कार से भी समान्नित हैं।

अगर आपको यह स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक पर जरूर शेयर करें और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit:(@gannett-cdn.com,olympicchannel.com)