पिछले कुछ समय से भारतीय मूल कई लोगों ने विदेशों में भी भारत का गौरव बढ़ाया है। इस क्रम में पिछले दिनों अमेरिका में पहली बार भारतीय मूल की कोई महिला उपराष्ट्रपति बनी है। इसी तरह अमेरिका में ही एक और भारतीय मूल की बेटी ने देश का मान बढ़ाया है। जी हां, हम बात कर रहे हैं, भारतीय मूल की नासा वैज्ञानिक डॉ. स्वाति मोहन के बारे में। डॉ. स्वाति मोहन नासा को मार्स पर्सिवरेंस रोवर मिशन को सफल बनाने के लिए खूब तारीफे मिल रही है। आज इस लेख में हम आपको भारतीय मूल की इस बेटी डॉ. स्वाति मोहन के बारे में कुछ जानकारी शेयर करने जा रहे हैं। इन जानकारी को जानकर आप भी भारतीय होने पर गर्व करेंगे। तो चलिए जानते हैं।

एक साल थी जब अमेरिका चली गई 

swati mohan nasa perseverance rover landing inside

डॉ. स्वाति मोहन भारत के बेंगलुरु से है। उनके बारे में कहा जा रहा है कि जब स्वाति एक साल की थी तब वो अमेरिका चली गई और उन्होंने अपनी पढ़ाई लिखाई अमेरिका में ही किया। उनके बारे में कहा रहा है कि जब स्वाति नौ साल की थी जब से वो वैज्ञानिक बनाना चाहती थी। वो वैज्ञानिक बनाने के लिए टीवी पर कई धारावाहिक भी देखती थी, जहां से वो वैज्ञानिक के कुछ गुण हासिल कर सके। धीरे-धीरे पढ़ाई करने के बाद उन्हें नासा में इंटर्नशिप करने का मौका मिला, तब से उनका सपना था कि वो नासा में ही काम करेंगी और एक वैज्ञानिक बनेगी।

इसे भी पढ़ें: भारतीय मूल की रश्मि सामंत ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी स्टूडेंट यूनियन की पहली महिला अध्यक्ष बनीं

आठ साल लगे इस मिशन में 

 

इस मिशन को लेकर यह बोला जा रहा है कि स्वाति पिछेल आठ साल से इस मिशन में लगी हुई थी। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि स्वाति मोहन 'टचडाउन कनफर्मड' को लीड कर रही थी। कहा जा रहा है लगभग 203 दिन पहले इस रोवर को मंगल ग्रह पर लैंड करने के लिए छोड़ा था। पर्सवियरेन्स रोवर मिशन को मंगल ग्रह पर उतारने के टाइम स्वाति ने भारत के साथ-साथ पूरे विश्व के लिए एक इतिहास रच दिया। इस सफल लैंडिंग के बाद स्वाति मोहन की कई तस्वीरें भी सोशल मीडिया पर छाने लगी। ('मिशन मंगल' की सफलता के पीछे इन महिलाओं की थी मेहनत)

Recommended Video

दुनिया का सबसे बड़ा स्पेस एजेंसी नासा

swati mohan nasa perseverance rover landing inside

शायद आपको जानकारी हो। अगर आपको इसके बारे में जानकारी न हो तो आपको बता दें कि नासा यानि नेशनल एरोनोटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन दुनिया का सबसे बड़ा स्पेस एजेंसी है, जहां हर साल हजारों ग्रह आकाश के गर्व में भेजा जाता है। इस एजेंसी में दुनिया भर के कई हजारों वैज्ञानिक काम करते है। सफल लैंडिंग के बाद स्वाति मोहन की कई तस्वीरें भी सोशल मीडिया पर छाने लगी। कई लोग ने स्वाति के बिंदी को लेकर जमकर तारीफे की।

इसे भी पढ़ें: मिलिए जम्मू-कश्मीर की पहली महिला बस ड्राइवर पूजा देवी से

बिंदी की तारीफ सोशल मिडिया पर 

 

नासा ने सोशल मिडिया पर मिशन की फोटोज शेयर किए हैं। लेकिन, इन सब के अलावा सोशल मिडिया पर स्वाति मोहन की बिंदी की तारीफे खूब देखने को मिली। उन्हें नासा के कंट्रोल रूम में बिंदी लगाए बैठे देख तस्वीर को लोगों ने खूब पसंद किया। सोशल मिडिया पर किसी ने लिखा 'लेडी विथ बिंदी' लिखा। किसी ने कमेंट में लिखा 'नासा में के कंट्रोल में बिंदी लगाएं स्वाति मोहन कमाल की लग रही है'। (भारतीय मूल की अमेरिकी उपराष्ट्रपति के बारे में Facts

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit:(@im.indiatimes.in,twitter)