बारिश की रिमझिम फुहारों के साथ बीमारियों की भी बरसात होने लगती है। जी हां बारिश अपने साथ कई जानलेवा बीमारियां लेकर आती है और इन्‍हीं में से एक डेंगू भी है, जो मच्छर के काटने से होती है। डेंगू बुखार एक वायरल एडीज एजिप्टी मच्छर से फैलने वाला इंफेक्‍शन है। अगर इस बुखार का समय से इलाज ना किया जाये तो मरीज की हालत गंभीर हो सकती है और उसकी जान भी जा सकती है। इसलिए डेंगू के बारे में जानकारी होना बेहद जरूरी है। खासतौर पर परिवार की नींव यानी महिलाओं को तो इसके बारे में जानकारी होनी ही चाहिए क्‍योंकि जानकारी के अभाव में वह अपने परिवार की सही देखभाल कैसे कर पायेगी? आइए इस आर्टिकल में डेंगू के बारे में जानें कुछ बातें।


क्या हैं डेंगू?

डेंगू (dengue) एक वायरस से होने वाली बीमारी का नाम है जो एडीज नामक मच्छर के काटने से होती है! इस मच्छर के काटने पर वायरस तेजी से मरीज के शरीर में अपना असर दिखाता है। जिसके कारण तेज बुखार और सिर दर्द जैसे लक्षण दिखाई देते है। डेंगू होने पर मरीज के ब्‍लड में प्लेटलेट्स की संख्या तेजी से कम होती है जिसके कारण कई बार जान का जोखिम भी बन जाता है। इसके शुरुआती लक्षण सामान्य बुखार से मिलते जुलते होते हैं।

 

डेंगू के लक्षण

  • पेट में तेज दर्द
  • अधिक पसीना आना
  • ब्‍लैक स्‍टूल
  • भूख में कमी
  • थकान और कमजोरी
  • जोड़ों और मसल्‍स में पेन
  • ब्‍लडप्रेशर का अचानक कम होना
  • सांस लेने में परेशानी
  • नाक, मुंह, मसूड़ों या स्किन से ब्‍लीडिंग 
  • ब्‍लड की या बिना ब्‍लड की लगातार उल्टी

डेंगू एक लाइलाज़ रोग है अभी तक इसकी कोई दवा या वैक्सीन नहीं बनी है। सिर्फ़ बॉडी इम्यूनिटी बढ़ाना ही एक मात्र इलाज है। उपरोक्त लक्षण दिखते ही पास के अस्पताल जायें।


डेंगू के कारण

  • डेंगू कमजोर इम्‍यूनिटी वाले लोगों को आसानी से हो जाता है।
  • डेंगू के सबसे ज़्यादा मामले बरसात के मौसम में देखने को मिलते हैं।
  • डेंगू फैलाने वाले मच्छर दिन में काटते हैं।
  • डेंगू मच्छर ठहरे हुए पानी में पनपते हैं, जैसे – कूलर के पानी में, नालों और आस-पास की नालियों में रूके पानी से।


Diagnosis and Treatment

डेंगू बुखार का पता लगाने के लिए ब्‍लड टेस्‍ट और प्लेटलेट की गणना की जाती है। Lungs में इसके वायरस फैले हैं या नहीं, इसके लिए चेस्‍ट का एक्स-रे किया जाता है। हालांकि इसके उपचार के लिए अभी तक की किसी तरह की दवा नहीं बनी है। लेकिन कुछ तरीके हैं जिसके जरिये इस पर काबू पाया जा सकता है। फ्रेश ब्‍लड मरीज को चढ़ाया जाता है, बॉडी में ब्लड ऑक्सी‍जन को नॉर्मल रखने के लिए ऑक्सीजन थेरेपी की जाती है।

 

Prevention

  • इसके कारण ब्रेन प्रॉब्‍लम हो सकती हैं।
  • लीवर को नुकसान हो सकता है।
  • यह बीमारी न हो इसके लिए पूरी कोशिश करें कि मच्छर आपको न काटने पाये।
  • मच्छरदानी में सोयें, पूरे कपड़े पहनें।
  • इस मौसम में अधिक ट्रेवल करने से बचें।

डेंगू होने पर बॉडी में प्लेटलेट्स तेज़ी से गिरने लगते है। ऐसे में दवा के साथ-साथ हेल्‍दी डाइट और खान-पान और सही routine रखना बेहद ज़रूरी हो जाता है।
 

Read More Links