बॉडी में मौजूद हार्मोन का ज्‍यादा या कम मात्रा में डिस्‍चार्ज होना हार्मोनल असंतुलन कहलाता हैं। जबकि हेल्‍दी रहने के लिए हमारी बॉडी में हार्मोंस बैलेंस होना बेहद जरूरी है। जी हां महिलाओं के जीवन में हार्मोन्स का बहुत महत्व है, वैसे तो ये पुरुषों के लिए भी जरूरी हैं लेकिन महिलाओं पर इनका प्रभाव बहुत जल्दी और बहुत ज्‍यादा देखने को मिलता है क्‍योंकि हार्मोन्‍स के थोड़े से असंतुलन से ही महिलाओं में कई तरह की बीमारियों होने लगती है। लेकिन ज्‍यादातर महिलाएं जानती ही नहीं उनके बॉडी में हार्मोन असंतुलन है और इसका सबसे बड़ा कारण है इसके लक्षणों को नजरअंदाज करना।

जी हां आज के समय में महिलाएं में हार्मोन असंतुलन एक आम परेशानी बन गइ है और इसका सबसे बड़ा कारण बदलता लाइफस्‍टाइल और खान-पान की गलत आदतें हैं। हालांकि ज्‍यादातर महिलाओं में ये परेशानी 40 से 50 की उम्र में देखने को मिलती है, लेकिन आजकल कम उम्र की लड़कियां भी इसका शिकार हो रही हैं। अक्‍सर महिलाएं इसके लक्षणों को हल्‍के में लेती हैं, लेकिन सही समय पर इसकी पहचान कर इसका इलाज कराना बेहद जरूरी है। आइए जानें महिलाओं में हार्मोन असंतुलन होने पर क्‍या-क्‍या लक्षण दिखाई देते हैं। लेकिन सबसे पहले जान लेते हैं कि बॉडी में हार्मोन का बैलेंस होना क्‍यों जरूरी है।

इसे जरूर पढ़ें: ज्‍यादा खाने से ही नहीं बल्कि इन 5 कारणों से भी बढ़ता है महिलाओं का वजन

हार्मोन

हार्मोन बॉडी में बनने वाले एक तरह का केमिकल हैं, जो ब्‍लड के माध्यम से आपके अंगों और टिश्‍युओं तक पहुंचते हैं। यह आपकी बॉडी में धीरे-धीरे काम करते हैं और बॉडी की कई प्रक्रियाओं को प्रभावित करते हैं। बॉडी के बढ़ने, मेटाबॉलिज्म, सेक्‍स एक्टिविटी, प्रजनन और मूड आदि क्रियाओं में हार्मोन महत्वपूर्ण भूमिका अदा करते हैं। इसलिए हार्मोन बॉडी के लिए जरूरी हैं। हार्मोन की बेहद कम मात्रा भी आपकी बॉडी और सेल्‍स के कई बड़े बदलावों के लिए काफी होती हैं। यही कारण है कि हार्मोन का बहुत अधिक या बहुत कम होना आपकी हेल्‍थ पर गहरा प्रभाव पड़ता है।

झड़ते बाल

hormonal imbalance hair fall

थोड़े बहुत बाल तो सभी के गिरते हैं लेकिन अगर आपको ऐसा महसूस हो कि देखभाल के बावजूद आपके बाल बहुत ज्‍यादा झड़ रहे हैं, तो आपको सावधान हो जाना चाहिए क्‍योंकि ये बॉडी में हार्मोन असंतुलन का लक्षण हो सकता है। 

सोते समय बहुत ज्‍यादा पसीना आना

अगर रात को सोते समय आपकी गहरी नींद इसलिए टूट जाती है कि आप अचानक पसीने से भर जाती हैं, तो ये खतरनाक हो सकता है और आपको शीघ्र ही अपने सभी टेस्ट करवा लेने चाहिए। ओवरी से स्राव होने वाला हार्मोन प्रोजेस्टेरॉन आपको नींद लेने के लिए प्रेरित करता है। अगर इसका लेवल नॉर्मल से कम होता है, तो आपको नींद न आने की समस्या हो सकती है। इसके अलावा एस्ट्रोजेन की कमी से रात में पसीना आने की समस्या हो सकती है जिससे आपकी नींद प्रभावित होती है।

थकान

अगर आपको बहुत ज्‍यादा या लगातार थकान महसूस होना भी हार्मोन असंतुलन के कारण हो सकता है। जी हां अगर अपना पूरा ध्यान रखने और हेल्‍दी खाने के बावजूद भी आपको हर समय थकान महसूस होती है तो समझ लीजिए ये हार्मोन्स से जुड़े टेस्ट करवाने का समय है। प्रोजेस्टेरॉन की अधि‍कता आपको हर समय नींद और थकान महसूस करने के लिए प्रेरित करता है। वहीं थाइरॉयड ग्लैंड थॉइरॉक्स‍िन का स्राव बहुत कम मात्रा में करती है, तो आप एनर्जी में कमी महसूस करती हैं।

कब्ज की शिकायत
hormonal imbalance constipation

अगर आपको लगता है कि अचानक आपको कब्ज की शिकायत शुरू हो गयी है जबकि पहले कभी ऐसी कोई तकलीफ नहीं थी, तो एक बार हार्मोन टेस्‍ट के बारे में डॉक्‍टर से बात करने में कोई बुराई नहीं है।

पिंपल्‍स

हार्मोन असंतुलन होते ही सबसे पहले महिलाओं के चेहरे की रंगत उड़ने लगती है, या तो चेहरे पर मुहांसे होने लगते हैं या कई तरह के दाग पड़ने लगते हैं। खासतौर से मेल हार्मोन एंड्रोजेन, जो महिलाओं और पुरूषों दोनों में पाया जाता है, आपकी तेल ग्रंथि को अत्यधि‍क एक्टिव कर सकता है, जिससे यह समस्या हो सकती है। इसके अलावा चेहरे पर बाल होना भी इसी का नतीजा हो सकता है।

इसे जरूर पढ़ें: लाइफ में बढ़ गया है स्‍ट्रेस तो घबराएं नहीं इन मजेदार तरीकों से करें कम

पीरियड्स में बदलाव

आपका पीरियड आपकी हेल्‍थ का सबके बड़ा आईना हैं। अगर आपके पीरियड्स में कोई भी बदलाव आ रहा है और पीरियड्स अनियमित होना शुरू हो गया है तो एक अच्छे डॉक्टर की सलाह जरूर लेनी चाहिए।

ज्यादा भूख लगना
hormonal imbalance weight loss

अगर आपको अचानक ज्यादा भूख लगने लग जाएं तो यह भी हार्मोंस असंतुलन का लक्षण हो सकता है। दरअसल जब हमारी बॉडी में एस्ट्रोजेन हार्मोन के लेवल में कमी आती है तो हमें जरूरत से भी ज्यादा भूख लगने लगती है। इतना ही नहीं आप ज्यादा खाने लगती हैं जिस कारण आपका वजन बढ़ने लगता है।

अगर आपको भी इनमें से कोई लक्षण दिखाई दें तो तुरंत डॉक्‍टर से संपर्क करें।