• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

क्‍या खांसते समय कपड़ों में निकल जाता है यूरिन? तो हो सकती है यह गंभीर समस्‍या

अगर आपका यूरिन भी हंसते, छींकते, खांसते, दौड़ते और कूदते समय निकल जाता है तो सावधान हो जाएं। यह एक गंभीर समस्‍या का संकेत हो सकता है।  
author-profile
Published -13 Jul 2022, 18:38 ISTUpdated -14 Jul 2022, 00:04 IST
Next
Article
pelvic floor muscles weakness hindi

Verified by Dr Swathi Reddy (PT)

लगभग सभी फिटनेस फ्रीक महिलाएं अपने हैमस्ट्रिंग, एब्डोमिनल और बाइसेप्स को मजबूत और टोंड रखने के तरीके के बारे में जानती हैं। लेकिन जैसे आप अपनी अन्य मसल्‍स के लिए करती हैं, वैसे ही नियमित रूप से पेल्विक फ्लोर एक्‍सरसाइज करना भी महत्वपूर्ण है। यद्यपि आप अपनी पेल्विक फ्लोर की मसल्‍स को नहीं देख सकती हैं, लेकिन इसकी ताकत आपके ब्‍लैडर और बाउल फंक्शन, आपके यौन जीवन और महिलाओं के लिए, बच्चे के जन्म और उससे आगे के आपके अनुभव में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है।

आपका पेल्विक फ्लोर मसल्‍स का एक ग्रुप है जो आपके पेल्विक के बेस पर स्थित होता है, जो टेलबोन से फैला होता है।  जब ब्‍लैडर यूरिन से भर जाता है तब कंट्रोल मसल्‍स पर निर्भर करता है। इस कंट्रोल में मदद करने के लिए, ब्‍लैडर के आसपास की मसल्‍स टाइट होनी चाहिए। मूत्रमार्ग एरिया के आसपास पेल्विक फ्लोर की मसल्‍स यूरिन को रोकने में मदद करती हैं। कमजोर पेल्विक फ्लोर के लक्षण क्‍या है और इसे कैसे दूर किया जा सकता है? इस बारे में हमें मातृत्व अस्पताल, बेंगलुरु की कंसलटेंट फिजियोथेरेपिस्ट और सर्टिफाइड डाइट काउंसलर और एमआईएपी, डॉक्‍टर स्वाति रेड्डी (पीटी) जी बता रही हैं।

कमजोर पेल्विक फ्लोर के लक्षण क्या हैं?

weak pelvic floor

पेट के निचले हिस्‍से के साथ, पेल्विक की मसल्‍स पोश्चर और रीढ़ को सहारा देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं। पेल्विक फ्लोर की मसल्‍स शरीर में पांच महत्वपूर्ण काम करती हैं: अंगों को सपोर्ट करना, स्थिरता, स्फिंक्टरिक  फंक्शन और सर्कुलेशन। हालांकि, ये मसल्‍स हमारी बहुत मदद करती हैं, लेकिन बढ़ते समय के साथ कमजोर हो जाती हैं और अधिक खिंची हुई हो जाती हैं। प्रेग्‍नेंसी और डिलीवरी भी कुछ ऐसे कारक हैं जो पेल्विक फ्लोर की मसल्‍स के कमजोर होने का कारण बनते हैं। कुछ संकेत हैं जो पेल्विक फ्लोर की मसल्‍स में कमजोरी का संकेत देते हैं और वे इस प्रकार हैं:

  • बार-बार टॉयलेट जाना और यूरिन करने की अचानक जरूरत पड़ना।
  • सेक्‍सुअल रिलेशनशीप के दौरान संतुष्टि या दर्द में कमी।
  • हंसते, छींकते, दौड़ते और कूदते समय यूरिन का रिसाव होना।
  • पीठ के निचले हिस्से में दर्द और पेट या पेल्विक में भारीपन महसूस होना।

पेल्विक फ्लोर की मसल्‍स की मजबूती के लिए टिप्‍स

diet for weak pelvic floor

ऊपर कुछ सामान्य लक्षण हैं जो कमजोर पेल्विक की मसल्‍स के लक्षणों के रूप में पाए जाते हैं। हालांकि, ये आमतौर पर पाई जाने वाली समस्याएं हैं जो कमजोर पेल्विक की मसल्‍स के रूप में होती हैं, लेकिन इन कमजोर मसल्‍स की देखभाल करने के लिए उचित उपाय हैं ताकि वे मजबूत हो सकें। वे हैं:

  • फाइबर और प्रोटीन से भरपूर हेल्दी डाइट लें और ज्यादा से ज्यादा पानी पिएं।
  • अतिरिक्त वजन कम करें जो पेल्विक फ्लोर पर तनाव से राहत देता है।
  • जब आपके पेल्विक फ्लोर की मसल्‍स कमजोर हों तब भारी सामान उठाने और कूदने/दौड़ने से बचें।
  • सुनिश्चित करें कि आप हर बार टॉ‍यलेट से बाहर आने पर अपना ब्‍लैडर पूरी तरह से खाली कर लें।
  • डिलीवरी के बाद डायस्टेसिस रेक्टी के लिए खुद का आकलन करवाएं क्योंकि इससे पेल्विक मसल्स की ताकतप्रभावित हो सकती है। क्योंकि कमजोर कोर मसल्‍स पेल्विक फ्लोर की मसल्‍स को भी कमजोर कर सकती हैं।

मजबूत पेल्विक मसल्‍स के लिए एक्‍सरसाइज 

exercise for pelvic floor

उपरोक्त स्‍टेप्‍स को फॉलो करते हुए, कुछ एक्‍सरसाइज करना महत्वपूर्ण है जो हमें मजबूत पेल्विक मसल्‍स के निर्माण में मदद करती हैं। ये एक्‍सरसाइज सुनिश्चित करती हैं कि मसल्‍स अपनी मूल ताकत पर वापस जाएं। निम्नलिखित एक्‍सरसाइज को अपनी रूटीन में शामिल करने का प्रयास करें। इसे अलग-अलग पोजीशन में किया जा सकता है और किसी को पता भी नहीं चलता कि आप इसे कर रही हैं।

  • एक चेयर (ऑफिस में) पर आराम से बैठें या अपने पैरों को क्रॉस करके (घर पर) बैठें। 
  • अपनी पेल्विक फ्लोर की मसल्‍स को ऊपर की ओर स्‍ट्रेच करें जैसे कि आप यूरिन के फ्लो को रोकने की कोशिश कर रही हैं या मसल्‍स का उपयोग करके छोटी वस्तु को पकड़ने की कोशिश कर रही हैं। 
  • यह मसल्‍स को मजबूत करता है और आपके हिप्‍स की मसल्‍स को कसने के बजाय केवल पेल्विक फ्लोर पर ध्यान केंद्रित करता है।
  • जैसे ही आप सांस लेती हैं, पेट का विस्तार होता है और पेल्विक की मसल्‍स में स्‍ट्रेच होता है। 
  • जैसे ही आप मुंह से सांस छोड़ती हैं, पेट को अंदर लेना चाहिए और पेल्विक फ्लोर की मसल्‍स को ऊपर उठाना चाहिए। 
  • इसमें 5 सेकंड के लिए रुकें और प्रक्रिया को दोहराएं।
  • इसे लेटने की पोजीशन में भी किया जा सकता है। 
  • अपने घुटनों को मोड़कर, पीठ को फर्श पर सपाट रखते हुए, पैरों को फर्श पर सपाट करके लेटें और अपने पेल्विक मसल्‍स को टाइट का प्रयास करें और खुद को ऊपर उठाएं और कुछ काउंट गिनने तक रुकें। जैसे-जैसे एक्‍सरसाइज बढ़ती है आप होल्डिंग काउंट भी बढ़ा सकती हैं।
  • सबसे आसान; बस अपनी मसल्‍स को निचोड़ने का प्रयास करें और इसे मुक्त होने दें और इसे दो बार दोहराएं।

Recommended Video

इन एक्‍सरसाइज दिन के किसी भी समय किया जा सकता है (ब्‍लैडर खाली होना चाहिए) और आपके दिन में सिर्फ कुछ समय की आवश्यकता होती है। जब सही तरीके से किया जाता है, तब इन एक्‍सरसाइज ने महिलाओं में सुधार के लिए प्रभावी परिणाम दिखाए हैं। जैसा महिलाओं को होता है, वैसा ही पुरुषों को भी होता है। इसलिए, मसल्‍स को मजबूत करने के लिए इन एक्‍सरसाइज को करना महत्वपूर्ण है और कमजोर मसल्‍स के बारे में कुछ अलग महसूस होने पर अपने डॉक्टर से परामर्श करना महत्वपूर्ण है।

आपको यह आर्टिकल कैसा लगा? हमें फसबुक पर कमेंट करके जरूर बताएं। ऐसी ही और जानकारी के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें।  

Image Credit: Shutterstock & Freepik

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।