एक महिला के शरीर में पीरियड्स का पैटर्न उसके अंतर्निहित स्वास्थ्य के बारे में बताता है। हमारे जीवनशैली विकल्पों और प्रचलित स्वास्थ्य स्थिति के कारण, पीरियड्स एक महिला से दूसरी महिला में भिन्न हो सकते हैं। लेकिन कई महिलाओं को महीने में दो बार पीरियड्स होते हैं। पीरियड्स खत्म होने के महज 14 दिनों के भीतर फिर से ब्लीडिंग होने लगती है। हालांकि एक्‍सपर्ट का सुझाव है कि महीने में दो बार पीरियड्स आना इन दिनों काफी आम हो गया है। लेकिन ऐसा क्‍यों होता है? आइए इस बारे में नोएडा के मदरहुड हॉस्पिटल के कंसल्टेशन गायनेकोलॉजिस्ट और ऑब्स्ट्रीटीशियन डॉक्‍टर संदीप चड्ढा से विस्‍तार में जानें।

जी हां आजकल यह कई कारकों के कारण महीने में दो बार पीरियड्स होना थोड़ा सामान्य हो गया है लेकिन अगर यह महीनों तक पूरी तरह से जारी रहता है तो आपको खुद पर तुरंत ध्‍यान देना चाहिए क्योंकि यह एक बड़ी समस्या का संकेत हो सकता है। अपने पीरियड्स पर नजर रखें। पीरियड्स की लंबाई को जानने के लिए महिला को पहले दिन ब्‍लीडिंग से ही शुरुआत करनी चाहिए। अगर इसमें कुछ भी बदलाव दिखाई दें तो तुरंत डॉक्‍टर से संपर्क करना चाहिए। किसी को महीने में दो बार पीरियड्स कैसे हो सकते हैं? इस आर्टिकल में कुछ कारण दिए गए हैं। आइए इनके बारे में विस्‍तार से जानें। 

इसे जरूर पढ़ें: Health Tips: उम्र के साथ-साथ पीरियड्स में आते हैं कुछ बदलाव, जानिए कैसे

periods health inside

महीने में 2 बार पीरियड्स आने के कारण

अगर आपके पास फाइब्रॉएड, अल्सर या जल्‍द मेनोपॉज का पारिवारिक इतिहास है तो यह सभी बातें एक महीने में दो बार पीरियड्स होने का खतरा बढ़ा सकती हैं। साथ ही अगर महिला को अनियमित ब्‍लीडिंग का इतिहास है तो उसके पीरियड्स को ट्रैक करने से किसी अन्‍य समस्या को अधिक तेजी से पहचानने में मदद मिल सकती है। यह उसके पीरियड्स की जानकारी को डॉक्टर के साथ शेयर करना भी आसान बना सकता है। अधिक और लगातार ब्‍लीडिंग का एक स्वास्थ्य प्रभाव एनीमिया के रूप में देखने को भी मिलता है जो उसके ब्‍लड में आयरन की कमी के कारण होता है। गायनेकोलॉजिस्ट, उस महिला के आयरन के लेवल की जांच कर सकती है या असामान्य ब्‍लीडिंग के कारण को निर्धारित करने के लिए अन्य टेस्‍ट करा सकती है। एनीमिया के लक्षणों में थकान, सिरदर्द, कमजोरी, चक्कर आना, सांस की तकलीफ और अनियमित दिल की धड़कन शामिल हैं।

periods twice a month inside

अन्‍य कारण

अगर आपके पीरियड्स अचानक कम हो गए हैं और महीने में दो बार होते हैं तो यह निम्नलिखित कारणों में से कोई एक कारण हो सकता है:

  • ओव्यूलेशन की कमी
  • हाइपरथाइरॉयडिज़्म
  • हाइपोथायरायडिज्म
  • वजन बहुत ज्‍यादा बढ़ना या कम होना 
  • स्ट्रेस और चिंता

Recommended Video

  • कोई अंतर्निहित बीमारी
  • बहुत ज्‍यादा ट्रेवल करना 
  • प्रीकैंसरस या कैंसर कोशिकाओं की उपस्थिति
  • वेजाइनल और सर्वाइकल इन्‍फेक्‍शन 
  • प्रेग्‍नेंसी 
  • मेनोपॉज की शुरूआती स्‍टेज
periods twice a month inside

डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए?

मेंस्ट्रुअल साइकिल में परिवर्तन एक स्वास्थ्य समस्या का संकेत दे सकता है, इसलिए अपनी गायनेकोलॉजिस्‍ट के साथ असामान्य ब्‍लीडिंग के बारे में बात करना हमेशा महत्वपूर्ण होता है। वह लक्षणों के बारे में बहुत सारे प्रश्न पूछेगी और यह सारी बातें जल्द से जल्द सही इलाज खोजने में मदद कर सकती हैं। डॉक्‍टर परेशान महिलाओं से इस तरह के कुछ प्रश्न पूछ सकती हैं:

  • आपके पीरियड्स कितने दिन हुए? क्या यह आपके लिए सामान्य है?
  • अगर पीरियड्स का छोटा होना आपके लिए सामान्य नहीं है तो ब्‍लीडिंग में परिवर्तन कब शुरू हुआ?
  • कब तक ब्‍लीडिंग रहती है?
  • ब्‍लड किस कलर का होता है?
  • ब्‍लीडिंग ज्‍यादा होती है? 
  • पैड कितनी जल्‍दी-जल्‍दी चेंज करना पड़ता है?
  • क्या क्‍लॉट दिखाई देते हैं? अगर हां, तो वे कितने बड़े होते हैं?
  • क्या कोई और अन्य लक्षण भी दिखाई देता हैं?

इस तरह से अगर आपको भी पीरियड्स महीने में दो बार और लगातार हो रहे हैं तो तुरंत अपनी गायनेकोलॉजिस्‍ट से सलाह लें। महिला स्‍वास्‍थ्‍य से जुड़ी और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें। 

Image Credit: Freepik.com