अब एक बार फिर से कोविड ने हमारी जिंदगी में दस्तक दे दी है और कुछ महीनों की राहत के बाद अब एक बार फिर भारत में तीसरी लहर शुरू हो गई है। दिसंबर अंत से लेकर जनवरी के पहले हफ्ते तक में ही केस 5,000 से 50,000 पार कर गए हैं और सिर्फ एक हफ्ते में ही दोबारा कोरोना लॉकडाउन जैसे हालात हो गए हैं। 

एक तरह से देखा जाए तो कोरोना जैसी बीमारी के साथ रहना काफी मुश्किल है और जहां हम आए दिन घरों में रहते हैं वहीं दूसरी ओर कोरोना ना होने के बाद भी कई समस्याओं के चलते हमें अस्पताल जाना पड़ जाता है। ऐसे में क्या किया जाए?

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन और सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल जैसी विश्व स्तरीय हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन्स की वेबसाइट्स पर इसकी जानकारी दी गई है। तो चलिए जानते हैं कि ऐसे समय पर आपको क्या करना चाहिए। 

1. अपॉइंटमेंट लेकर जाने की कोशिश करें-

कोरोना के कारण अस्पतालों में भीड़ भी है और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना थोड़ा मुश्किल है। ऐसे में आपको हमेशा अपॉइंटमेंट लेकर ही हॉस्पिटल जाना चाहिए। ये बहुत जरूरी है कि आप घंटों लाइन में खड़े होने से बचें। 

covid and hospital

इसे जरूर पढ़ें- फेस मास्क पहनने को लेकर WHO की नई गाइडलाइन्स, कोरोना वायरस के खतरे को कम करने के लिए अब जरूर करें ये काम

2. अपने साथ जरूर ले जाएं ये चीज़ें-

डबल मास्क, ग्लव्स, सैनिटाइजर, वेट वाइप्स आदि अपने साथ रखें। आप फेस शील्ड भी ले जा सकते हैं, लेकिन मास्क के बिना फेस शील्ड भी ज्यादा काम नहीं करेगी, आपको फेस शील्ड जरूर इस्तेमाल करनी है। 

 

3. ज्यादा भीड़ ना बढ़ाएं-

अगर आप अकेले डॉक्टर के पास नहीं जा सकते हैं तो एक ही इंसान को लेकर जाएं। ज्यादा लोगों को अपने साथ ले जाने की जरूरत नहीं है। ये सिर्फ अस्पताल में भीड़ ही बढ़ाएगा और प्रेग्नेंट महिला या बच्चों को तो बिल्कुल भी ना लेकर जाएं। उन्हें खतरा ज्यादा बढ़ सकता है और ये सही नहीं है। 

hospital during covid

4. इधर-उधर टिक कर खड़े होने की आदत छोड़ें-

आपके लिए ये जरूरी होगा कि आप अस्पताल के किसी भी सरफेस पर ऐसे ही हाथ ना लगाएं। आपको इधर-उधर टिक कर खड़े होने की आदत है या फिर आपको बार-बार टेबल आदि पर हाथ रखने की आदत है तो इससे बचें। अस्पताल का सरफेस काफी ज्यादा गंदा होता है और कोविड ना भी हुआ तो भी बहुत सारे कीटाणु मौजूद होते हैं। ये कई अलग तरह की बीमारियों का कारण बन सकते हैं।  

Recommended Video

इसे जरूर पढ़ें- शॉपिंग या ट्रैवल के वक्त क्या gloves पहनने से होगा फायदा? WHO की ये जानकारी आएगी आपके काम 

5. अपने लक्षण और हेल्थ रिपोर्ट ना छुपाएं- 

कई लोगों की आदत होती है कि वो अपने लक्षण छुपाने लगते हैं और सर्दी-खांसी को भी आम ही समझते हैं। अगर आपको ज़रा भी लक्षण दिख रहे हैं तो हमेशा अपने लक्षणों के बारे में बताएं और अपनी मेडिकल हिस्ट्री से जुड़े पेपर्स लेकर जाएं। अपने लक्षणों के बारे में पूरी तरह से बताना बहुत जरूरी है। 

ये बात ध्यान रखें कि सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क पहनना बहुत जरूरी है और ये आपको और आपके आस-पास के लोगों को कोरोना से बचा सकता है। अगर आपके घर में ही कोई बीमार है तो उसे आइसोलेशन पर जरूर रखें। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी है तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।