• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

इनफर्टिलिटी और आईवीएफ को लेकर आपके मन में भी हैं भ्रम, तो जानें ये बातें

आज हमारी एक्‍सपर्ट आपको इनफर्टिलिटी और आईवीएफ से जुड़े कुछ मिथ और तथ्‍यों के बारे में विस्‍तार से बता रहे हैं। 
author-profile
Published -25 Aug 2022, 17:39 ISTUpdated -25 Aug 2022, 18:37 IST
Next
Article
infertility and ivf expert

इन विट्रो फर्टिलाइजेशन (आईवीएफ), एक प्रकार की असिस्टेड रिप्रोडक्टिव तकनीक (एआरटी) है जो मानव शरीर के बाहर स्‍पर्म और एग्‍स को फर्टिलाइज करती है। एग्‍स को फर्टिलाइज करने के लिए आईवीएफ में ओवरीज से एग्‍स को निकालने के बाद मैन्युअल रूप से स्‍पर्म और एग्‍स को लैब में मिलाना शामिल है। 

फर्टिलाइजेशन के कुछ दिनों बाद, फर्टिलाइज एग्‍स जिसे भ्रूण कहा जाता है, इसे यूट्रस में रखा जाता है। प्रेग्‍नेंसी तब होती है जब यह भ्रूण यूटेराइन की दीवार से जुड़ जाता है। 

लोग कई कारणों से आईवीएफ चुनते हैं, जिसमें इनफर्टिलिटी की समस्या या जब एक कपल में से एक साथी की पहले से मौजूद मेडिकल कंडीशन होती है। यदि उनके लिए अन्य रिप्रोडक्टिव ट्रीटमेंट्स विफल हो गए हैं तो कुछ लोग आईवीएफ की कोशिश करते हैं।

आप अपने पार्टनर के साथ हुई बातचीत या उस भावनात्मक दिन को याद कर सकते हैं जब आपने बर्थ कंट्रोल लेना बंद कर दिया था जिसके कारण आपने परिवार बनाने का निर्णय लिया था। आपने, कई अन्य महिलाओं की तरह, यह मान लिया था कि बर्थ कंट्रोल के सभी तरीकों का उपयोग करना बंद करने के बाद, प्रेग्‍नेंट होना आसान होगा।

फिर, जब एक महिला लगातार 12 महीनों से प्रेग्‍नेंट होने की कोशिश कर रही हो लेकिन उसे सफलता नहीं मिले, तो इसे इनफर्टिलिटी कहा जाता है। यदि आप फर्टिलिटी ट्रीटमेंट्स पर विचार कर रही हैं तो आपका प्राथमिक देखभाल चिकित्सक आपको फर्टिलिटी एक्‍सपर्ट के पास भेज देगा। यह एक्‍सपर्ट टीम वर्क, प्रतिबद्धता, करुणा और आईवीएफ जैसी उपचार प्रक्रियाओं के साथ हेल्‍दी प्रेग्‍नेंसी के लिए आपके साथ काम करेगा।

लेकिन कई लोगों को मन में आईवीएफ और इनफर्टिलिटी को लेकर कुछ भ्रम है। इसलिए इस आर्टिकल के माध्‍यम से हम आपको इससे जुड़े मिथ और तथ्‍य के बारे में बता रहे हैं। इसकी जानकारी हमें Dr. Risaa IVF की फाउंडर Rita Bakshi जी दे रही हैं।

आईवीएफ और इनफर्टिलिटी जुड़े मिथ और तथ्‍य

dr rita bakshi expert

मिथ: सिर्फ इनफर्टाइल कपल्‍स ही आईवीएफ का इस्‍तेमाल कर सकता है।

तथ्‍य: आईवीएफ के फायदे पाने के लिए आपको इनफर्टाइल होने की आवश्यकता नहीं है, जबकि इसका उपयोग अक्सर उस महिला की हेल्‍थ के लिए किया जाता है जो अन्यथा कंसीव करने में असमर्थ होती है। यदि आप या आपके पार्टनर की आनुवंशिक कंडीशन है जो आपके बच्चे के स्वास्थ्य और जीवन पर प्रभाव डाल सकती है, तो आप आईवीएफ का उपयोग करने का निर्णय ले सकते हैं।

हम लैब में आपके एग्‍स और स्‍पर्म से भ्रूण पैदा करते हैं, जिसे हम आनुवंशिक समस्‍याओं के लिए जांचते हैं। केवल ध्वनि भ्रूण स्थानांतरित किए जाते हैं। यदि आप चाहें, तो हम भविष्य के कंसीव के लिए अन्य हेल्‍दी भ्रूणों को संरक्षित कर सकते हैं।

आईवीएफ का उपयोग सेम-सेक्‍स वाले कपल्‍स द्वारा पति या पत्नी के डीएनए का उपयोग करके बच्चा पैदा करने के लिए किया जा सकता है। इस कंडीशन में, आप प्रोसेस को समाप्त करने के लिए डोनर स्‍पर्म या डोनर एग्‍स का चयन करेंगे।

इसे जरूर पढ़ें:क्या है IVF? जानें इनफर्टिलिटी से जुड़ी इस प्रक्रिया का तरीका और इसे करवाने के कारण

मिथ: आईवीएफ का इस्तेमाल किसी भी उम्र में किया जा सकता है।

तथ्‍य:  एक महिला का रिप्रोडक्टिव सिस्‍टम उसकी उम्र के साथ बढ़ता है। एक हेल्‍दी भ्रूण विकसित करने के लिए, वह आईवीएफ के साथ भी पर्याप्त एग्‍स का उत्पादन करने में सक्षम नहीं हो सकती है। या शायद उसका यूट्रस इतना मजबूत नहीं है कि एक बच्चे को सहन कर सके।

आईवीएफ की सफलता की संभावना अन्य कारकों से भी प्रभावित होती है। कुछ कपल्‍स को कठिनाइयों का अनुभव होता है जो इस संभावना को बढ़ाते हैं कि उन्हें कई आईवीएफ चक्रों की आवश्यकता हो सकती है।

सहज गर्भाधान के समान, इस बात का कोई आश्वासन नहीं है कि आईवीएफ सफल होगा। आपके डॉक्टर आपकी उम्र और हमारे पार्टनर के स्वास्थ्य के आधार पर आपकी सफलता की संभावना का वर्णन करते हैं।

misconceptions about infertility

मिथ: यदि आप इनफर्टाइल हैं तो गर्भधारण के लिए आईवीएफ ही एकमात्र विकल्प है।

तथ्‍य: एक हेल्‍दी गर्भधारण करने के लिए आपको आईवीएफ की आवश्यकता नहीं हो सकती है जब तक कि आपको या आपके पति या पत्नी को आनुवंशिक समस्या न हो या आप दोनों एक ही-सेक्स संबंध न हों। आप और आपके पार्टनर दोनों की रिप्रोडक्टिव सिस्‍टम का पूरी तरह से मूल्यांकन करने के बाद ही हम आईवीएफ की पेशकश करते हैं।

सरल तरीके, संरचनात्मक मुद्दों को ठीक करने के लिए सर्जरी या हार्मोन को संतुलित करने वाली दवाएं आपके लिए फायदेमंद हो सकती हैं। एक अन्य विकल्प कृत्रिम गर्भाधान है, जिसमें डोनर या आपके पति या पत्नी से स्‍पर्म बिना किसी सेक्‍सुअल  के आपके यूट्रस में डाला जाता है।

मिथ: बर्थ कंट्रोल कैंसर का कारण बनता है। 

तथ्‍य: आपको ओव्यूलेशन और कई एग्‍स के उत्पादन को ट्रिगर करने के लिए दवाएं लेनी चाहिए, लेकिन चिंता न करें-वे हानिरहित हैं। आईवीएफ का उपयोग वैश्विक स्तर पर 48.5 मिलियन से अधिक कपल्‍स द्वारा कंसीव करने के लिए किया गया है। इन कपल्‍स के इलाज के बाद के वर्षों में, किसी भी अध्ययन ने कैंसर के बढ़ते जोखिम की पहचान नहीं की है।

misconceptions about ivf

निष्कर्ष:

कई समाज केवल महिला साथी को इनफर्टिलिटी के लिए दोषी ठहराते हैं। हालांकि, यह बहुतायत से स्पष्ट है कि या तो पुरुष या महिला, या शायद दोनों, इनफर्टिलिटी के लिए जिम्मेदार हो सकते हैं।

 

Recommended Video

भले ही इनफर्टिलिटी कभी-कभी अपने आप ठीक हो जाती है, लेकिन संभावनाएं अक्सर उत्साहजनक नहीं होती हैं। कई विशेषज्ञ कुछ कपल्‍स के इस विश्वास से असहमत हैं कि गोद लेने से भविष्य में गर्भधारण की संभावना बढ़ जाती है। परिवार बनाने की योजना बना रहे दंपत्तियों को इन बातों को ध्यान में रखते हुए जल्द से जल्द अपने डॉक्टर के पास अपॉइंटमेंट लेना चाहिए! 

उम्मीद है कि आपको यह जानकारी पसंद आई होगी। इस आर्टिकल को शेयर और लाइक जरूर करें, साथ ही कमेंट भी करें। फिटनेस से जुड़े ऐसे ही और आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी से। 

Image Credit: Freepik.com

बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

Her Zindagi
Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।