अक्‍सर आपने ये बात सुनी होगी कि बीमारी पूछकर या बताकर नहीं आती। और बीमारी की चपेट में आने के बावजूद हम काम में उलझी रहती हैं। चाहे ऑफिस हो या घर हम बीमारी में भी खुद की तो उपेक्षा करती ही हैं साथ ही साथ उठने-बैठने वालों को भी नजरअंदाज करती हैं। ऐसे में कई बार दूसरों को भी दिक्‍कत होती है। क्‍योंकि कुछ बीमारियों इंफेक्‍शन फैलाने वाली होती है जिससे दूसरों को भी इंफेक्‍शन हो जाता है। इसलिए आज हमें कुछ बातों का ध्‍यान रखना जरूरी हो जाता है ता‍कि हमारी वजह से दूसरों को परेशानी ना हो। आइए मयूर विहार स्थित कुकरेजा हॉस्पिटल के डॉक्‍टर Srinivasan से जानें कि ऐसे में किन-किन बातों का ध्‍यान रखना चाहिए।

डॉक्‍टर Srinivasan का कहना है कि ''सर्दियों में वायरल इंफेक्‍शन होने पर ज्‍यादातर लोग अपना तो ध्‍यान रखते हीं नहीं है साथ ही दूसरों के बारे में भी नहीं सोचते। ऐसा करने से उनके साथ-साथ दूसरे भी वायरल इंफेक्‍शन की चपेट में आ जाते हैं। यहां तक कि खांसी आने पर वह अपने मुंह को कवर भी नहीं करते हैं।''   

दूसरों से हाथ मिलाने से बचें

हमारी आदत होती है कि ऑफिस हम लोगों से हाथ मिलाती हैं ऐसा करने से आपका इंफेक्‍शन दूसरे को भी हो सकता है। साथ ही बातचीत करने से भी इंफेक्‍शन आसानी से फैलता है। इसलिए ऑफिस हो या बाहर लोगों से हाथ मिलाने और ज्‍यादा बातचीत करने से बचें। ताकी आप अपने साथ-साथ दूसरों को भी संक्रमित ना कर पाएं।   
डॉक्‍टर Srinivasan के अनुसार ''एक दूसरे के संपर्क में आने से फ्लू फैलता है। ऐसे में बेहतर यही रहेगा कि हाथ मिलाने की बजाय दूसरों को नमस्ते करें। वहीं, बच्चों का भी खास ध्यान रखने की जरूरत है। क्योंकि वे खुद अपना ध्यान नहीं रख सकते हैं।

shaking hands health inside
Image Courtesy: pinterest.com

खांसते समय मुंह कवर करें

छींक या खांसी आने पर अक्‍सर हम अपने आस-पास के लोगों का ध्‍यान नहीं रखते जिससे वह भी परेशानी में आ सकते हैं। इसलिए चाहे आप घर में हों या सार्वजनिक स्थान पर हों, खांसी या छींकने के साथ अपना मुंह और नाक को कवर करें। इससे आसपास के लोग संक्रमित नहीं होंगे। हो सके तो भीड़-भाड़ वाले इलाके से दूर ही रहें। 

हाथों को साफ रखें

संक्रमित रोग आसानी से फैलता है। ऐसा ज्‍यादातर दूसरों से हाथ मिलाने से होता है। इसलिए इनसे बचने के लिए हमेशा हाथों को साफ रखें। हो सके तो लिक्विड सोप से हाथों को बार-बार धोएं और दूसरों के संपर्क में आने से बचें। अगर साबुन और पानी उपलब्ध नहीं हो तो अच्छे hand sanitizer का प्रयोग करें या alcohol based hand rubs भी इस्तेमाल कर सकती हैं। अगर आपका बच्चा स्कूल जाता है तो उसके स्कूल बैग में sanitizer की एक छोटी सी बोतल रख सकती हैं ताकि वह भी अपने हाथों को साफ कर सके। 

washing hands health inside
Image Courtesy: Twitter (@Fdiagnozis)

मास्‍क करेगा बचाव 

खांसते और छींकते समय हवा या जमीन पर या जिस भी सतह पर मुंह और नाक से निकले द्रव कण गिरते है वह वायरस की चपेट में आ जाता है। यह कण हवा के द्वारा या किसी के छूने से दूसरे की बॉडी में मुंह या नाक के जरीए प्रवेश कर जाते है। जबकि मास्‍क पहनने से संक्रमित रोग नजदीक नहीं आते हैं। इसलिए बीमारी व्‍यक्ति को मास्‍क पहनने की सलाह दी जाती है। आप खुद भी मास्‍क का इस्‍तेमाल कर सकती हैं।

खाना बनाने से बचें

संक्रमित महिलाओं को खाना बनाने से बचना चाहिए क्‍योंकि संक्रमित रोग की चपेट में आने पर इसके फैलने का खतरा हर वक्‍त बना रहता है। ऐसे में दूसरों को खाना खिलाने और खाना बनाने से बचें क्‍योंकि खाने के साथ-साथ इंफेक्‍शन भी खाने में परोसा जा सकता है। और ऐसा करने से दूसरे भी बीमारी की चपेट में आ जाते हैं।

तो अगली बार अगर आपको भी संक्रमण घेरे लें तो अपने साथ-साथ दूसरों का खासतौर पर बच्‍चों का ध्‍यान रखने के लिए इन टिप्‍स को अपनाएं।    

Read more: मसाला ही नहीं औषधि भी है दालचीनी, कुछ ही दिनों में करती हैं weight control