एक्‍सरसाइज करना सेहत के लिए बहुत अच्‍छा माना जाता है। रोजाना एक्‍सरसाइज करने से ना केवल हमारा वेट कंट्रोल में रहता है बल्कि हम हेल्‍दी भी रहते हैं। इसके अलावा एक्‍सरसाइज हमारे हार्ट को भी हेल्‍दी रखती है। जी हां फिटनेस का पॉजिटीव असर हमारे हार्ट पर पड़ता है। फिटनेस से जुड़ी ये बातें हम सभी जानते हैं। लेकिन क्‍या आप जानती हैं कि एक्‍सरसाइज करने से कैंसर के खतरे को भी कम किया जा सकता है। यह बात हम नहीं कह रहे बल्कि एक नए अध्ययन से इस बात का पता चला है। जी हां कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी जिसका नाम सुनकर ही हमारे रोगटें खड़े हो जाते है। यूं तो यह किसी को भी हो सकता है। इसकी कोई उम्र नहीं होती। कैंसर दुनियाभर के लोगों के लिए चुनौती है। इसके मरीजों की संख्या हर साल बढ़ रही है। कैंसर का समय पर उपचार ना किया जाये तो वह जानलेवा हो सकता है। लेकिन एक्‍सरसाइज को अपने रुटीन में शामिल करके आप इस बीमारी के होने की संभावना को कम कर सकती हैं।

इसे जरूर पढ़ेें: ये 5 तरह के कैंसर सिर्फ होते हैं हम ladies को, जानें क्यों?

fitness for cancer inside

क्‍या कहता है शोध

जी हां रिसर्च के अनुसार, जो लोग फिटनेस कम करते है, उनकी तुलना में फिटनेस ज्‍यादा करने वाले लोगों में फेफड़े व कोलोरेक्टल कैंसर या कोलन कैंसर या बड़ी आंत कैंसर के होने की संभावना बहुत कम हो जाती है। इस शोध के लिए शोधकर्ताओं ने 49,143 वयस्कों पर साल 1991 से 2009 तक एक्सरसाइज स्ट्रेस टेस्टिंग किया।

 

fitness for cancer inside

शोध का नतीजा

शोध के निष्कर्ष से पता चला कि उच्चतम फिटनेस की श्रेणी में आने वाले लोगों में फेफड़े के कैंसर के विकास की संभावना 77 प्रतिशत और कोलन कैंसर के विकास की संभावना 61 प्रतिशत कम हो गई। कैंसर नामक जर्नल में इस शोध को प्रकाशित किया गया है। इसमें दर्शाया गया है कि फेफड़े के कैंसर से ग्रस्त व्यक्तियों में से जिनमें फिटनेस की मात्रा उच्चतम थी, जांच के दौरान उनके मरने की संभावना में 44 प्रतिशत की कमी आई और कोलन कैंसर से पीड़ित व्यक्तियों में अधिक फिटनेस की श्रेणी में आने वाले लोगों में 89 प्रतिशत की कमी आई।

अमेरिका में जॉन होपकिन्स यूनिवर्सिटी के सहायक प्राध्यापक कैथरीन हैंडी मार्शल ने कहा, "कैंसर के परिणामों पर फिटनेस के प्रभाव को देखने के लिए हमारा यह शोध सबसे बड़े और विविध समूहों की इकाई में से एक है।" Ladies में लंग कैंसर का संकेत हो सकते हैं ये लक्षण

fitness for cancer inside

मार्शल ने आगे यह भी कहा, "आमतौर पर आजकल डॉक्टरों के पास जाकर लोग फिटनेस टेस्टिंग करवाते हैं। पहले से ही कई लोगों के पास इसके परिणाम हो सकते हैं और उन्हें यह सूचित किया जा चुका है कि फिटनेस का कैंसर की संभावनाओं पर क्या प्रभाव है और इसके साथ ही फिटनेस का लेवल अन्य चीजों जैसे कि दिल की बीमारियों के लिए क्या मायने रखती है।"