काला जामुन लोगों के पसंदीदा फलों में से एक है। अपने स्वाद के साथ-साथ इसके रंग को भी खूब पसंद किया जाता है। इस फल के कई फायदे हैं, यह न सिर्फ ब्लड शुगर को कंट्रोल करता है बल्कि डायबिटीज के मरीजों को अन्य लाभ भी पहुंचाता है। कई लोग इसके सिरके का सेवन करना पसंद करते हैं। दरअसल जामुन साइडर विनेगर यानी जामुन का सिरका फलों के रस या गुदे से बनाया जाता है। इसे आप नियमित अपने खाने या फिर अन्य चीजों के साथ सेवन कर सकते हैं। 

यह एप्पल साइडर विनेगर की तरह ही हेल्दी होता है। आयुर्वेद के अनुसार जामुन साइडर विनेगर समग्रता को बढ़ावा देने के लिए वात, पित्त और कफ तीनों दोषों को बैलेंस करने में प्रभावी है। आइए जानते हैं इसके फायदों के बारे में...

हीमोग्लोबिन बढ़ाने में करता है मदद

jamun

पूरे स्वास्थ्य के लिए हीमोग्लोबिन जरूरी है। जिन लोगों का हीमोग्लोबिन कम होता है उन्हें रोजाना जामुन साइडर सिरका का सेवन करना चाहिए क्योंकि इसमें ब्लड प्लेटलेट्स बढ़ाने के लिए आयरन होता है। इसके अलावा, यह महिलाओं के लिए बहुत मददगार है क्योंकि वे पीरियड से निपटती हैं जिससे हर महीने हेवी ब्लड फ्लो होता है। सिरका तेजी से रिकवरी करने में मदद करता है। इसके अलावा पीलिया और एनीमिया से पीड़ित मरीजों को इस सिरके का सेवन करना चाहिए। यह हेल्दी प्लेटलेट काउंट करने के लिए शरीर में आयरन बढ़ाने में मदद करता है।

पाचन तंत्र को बनाए बेहतर

अगर आपका पाचन तंत्र बेहतर तरीके से काम नहीं करता है तो आपको जामुन का सिरका ट्राई करना चाहिए। इसमें एंटी बैक्टीरियल और एंटीमाइक्रोबियल गुण होते हैं जो पेट से जुड़ी समस्याओं को पैदा करने वाले बैक्टिरिया से लड़ते हैं। इसकी मदद से आप अपने पाचनतंत्र को वापस ट्रैक पर ला सकते हैं। कब्ज और एसिडिटी जैसी समस्या से भी यह राहत दिलाता है। जामुन सिरका में फोलिक एसिड, ऑक्सालिक एसिड और गैलिक एसिड होते हैं, जो पेट में गैस और एसिड बनने से रोकते हैं।

यूरिन इंफेक्शन से दिलाए राहत

urine infection

यूटीआई एक बैक्टीरियल इंफेक्शन है जो किडनी, ब्लैडर, यूरेटर और यूनिररी को बुरी तरह से प्रभावित करता है। यूटीआई से लड़ने के लिए नियमित जामुन के सिरके का सेवन करना चाहिए, इससे आपको राहत मिलेगी। इसमें बैक्टीरिया को मारने और कार्य को फिर से स्थापित करने के लिए विटामिन और मिनरल्स होते हैं। यह यूटीआई के लक्षणों को भी कम करता है, जैसे पेट दर्द, मांसपेशियों में दर्द मतली जैसी समस्या को कम करता है।

इसे भी पढ़ें:महुआ कई बीमारियों के लिए है रामबाण, जानिए क्या हैं इसके फायदे

 

डायबिटीज को करता है कंट्रोल

diabetes diet

जामुन के एंटीडायबिटिक गुणों को हम सभी जानते हैं, ऐसे में यह जामुन के सिरके में भी मौजूद होता है। यह ब्लड शुगर के स्तर को कम किए बिना शुगर और स्टार्च को एनर्जी में कन्वर्ट करता है। डायबिटीज के मरीज को रात में जामुन के सिरके का सेवन करना चाहिए ताकी सुबह ब्लड शुगर का लेवल नॉर्मल रहे। यह प्यास, लगातार पेशाब, कमजोरी और मतली जैसे जुड़े लक्षणों को भी नियंत्रित करेगा।

Recommended Video

त्वचा के लिए भी है फायदेमंद

vinegar recipe

शरीर को अंदर से हेल्दी रखने के साथ-साथ यह त्वचा के लिए भी काफी फायदेमंद है। इसमें एस्ट्रिजेंट के गुण होते हैं जो फोड़ा फुंसी से निजात दिलाते हैं। सिरके का सेवन करने से आपकी त्वचा निखरी हुई दिखेगी। इसमें ऐसे कई पोषक तत्व होते हैं जो त्वचा को अंदर से हेल्दी बनाने में मदद करते हैं। साथ ही, आपका पाचन तंत्र सही है तो आपकी त्वचा अपने आप दमकने लगेगी। ऐसे में आप अपनी हेल्दी डाइट में जामुन का सिरका शामिल कर सकती हैं।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें। इसी तरह के अन्य रोचक लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।