• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search
author-profile
  • Mitali Jain
  • Editorial

हैंडवॉशिंग के दौरान बच्चे करते हैं ये चार गलतियां

अक्सर बच्चे हाथ धोते समय कुछ गलतियां कर बैठते हैं। जानिए इस लेख में।
author-profile
  • Mitali Jain
  • Editorial
Published -19 Jun 2022, 13:00 ISTUpdated -19 Jun 2022, 13:40 IST
Next
Article
handwash daily

जब पर्सनल हाइजीन की बात होती है तो उसमें हाथ धोने को अवश्य शुमार किया जाता है। किसी भी तरह के वायरस, बैक्टीरिया या संक्रमण को रोकने का सबसे अच्छा तरीका है हाथों को अच्छी तरह साफ करना। खासतौर से, कोरोना काल में बच्चों से लेकर बड़ों तक हर किसी ने हाथ धोने के महत्व को बहुत ही गहराई से समझा है। लेकिन फिर भी यह देखने में आता है कि बच्चे हाथ धोते समय कुछ कोताही बरतते हैं।

यूं तो खाना खाने से पहले व बाद में, यहां तक कि अन्य कई एक्टिविटी करने के बाद भी हाथ धोना आवश्यक है। लेकिन यह बच्चों के लिए और भी अधिक जरूरी हो जाता है। दरअसल, बच्चों का इम्युन सिस्टम काफी कमजोर होता है और ऐसे में अगर वह हाइजीन प्रैक्टिस का ध्यान नहीं रखते हैं तो इससे उनके बार-बार बीमार होने की संभावना भी कई गुना बढ़ जाती है। हालांकि, यह देखने में आता है कि बच्चे हाथ तो धोते हैं, लेकिन फिर भी यह कुछ छोटी-छोटी गलतियां कर बैठते हैं, जिससे उन्हें इसका पूरा लाभ नहीं मिलता। तो चलिए आज इस लेख में हम आपको बच्चों द्वारा की जाने वाली कुछ ऐसी ही हैंडवॉशिंग मिसटेक्स के बारे में बता रहे हैं-

साबुन का उपयोग ना करना

soap

आपने अक्सर यह नोटिस किया होगा कि जब आप बच्चों को हाथ धोने के लिए कहते हैं, तो अक्सर वह साबुन का इस्तेमाल करने से बचते हैं। दरअसल, बच्चे स्वभाव से बेहद ही चंचल होते हैं और इसलिए उनके दिमाग में काफी जल्दबाजी होती है। हो सकता है कि वह अपने फेवरिट फूड को खाने की जल्दी में हों तो ऐसे में वह सादे पानी से ही हाथ धो लेते हैं। जबकि यह एक बहुत बड़ी मिसटेक है। पानी से हाथ धोने से वह साफ तो नजर आते हैं, लेकिन वास्तव में यह क्लीन नहीं होते। वहीं, साबुन एक रासायनिक प्रतिक्रिया बनाता है जो एक बार झाग बनाने के बाद कीटाणुओं को धो देता है।

इसे जरूर पढ़ें- World Hand Hygiene Day: हाथ धोना है बेहद जरूरी, इंफेक्‍शन से बचने के लिए ये टिप्‍स जरूर अपनाएं

जल्दी-जल्दी में हाथ धोना

यह एक कॉमन मिसटेक है, जो अक्सर बच्चे कर बैठते हैं। कई बार बच्चे हाथों में साबुन लेते हैं और तुरंत ही पानी से हाथों को धो देते हैं। जब बच्चे जल्दबाजी में हाथ धोते हैं, तो उनके हाथों पर मौजूद कीटाणु पूरी तरह से साफ नहीं होते हैं। इसलिए आपको यह सुनिश्चित करना चाहिए कि बच्चे कम से कम 30 सेकंड तक हाथ अवश्य धोएं। ऐसे में आप बच्चे को हाथ धोते समय उनका फेवरिट सॉन्ग गाने के लिए कहें। ताकि यह उन्हें थकाऊ ना लगे और वह अपने हाथों को अच्छी तरह साफ कर सकें।

गंदी जगहों को छूना

uses of soap

कई बार ऐसा होता है कि बच्चे हाथ तो धोते हैं, लेकिन उसके बाद वह गीले हाथों से ही गंदे दरवाजों या किसी अन्य जगहों को टच करते हैं। इसमें भले ही आपको कोई बुराई ना नजर आए, लेकिन नम वातावरण बैक्टीरिया के जीवित रहने के लिए एक आदर्श स्थान है। जिसका अर्थ है कि गीले हाथ बैक्टीरिया के बढ़ने की अधिक संभावना पैदा करते हैं। इसलिए, जब भी बच्चे हाथ धोते हैं तो उसके बाद उसे अच्छी तरह पोंछें और फिर उसे सूखने दें। (घर को कैसे बनाएं बैक्टीरिया फ्री)

हाथों को पूरी तरह से क्लीन ना करना

जब बच्चे हाथ धोते हैं तो अक्सर वह केवल अपनी हथेलियों पर ध्यान केंद्रित करते हैं, लेकिन कीटाणु केवल हथेलियों पर ही नहीं होते। बल्कि उंगलियों के बीच के हिस्से और पीछे के हिस्से पर भी मौजूद हो सकते हैं। ऐसे में जब वह अपने हाथों पर पूरी तरह से साबुन लगाकर उसे अच्छी तरह रगड़ते नहीं है तो उनके हाथ अच्छी तरह साफ नहीं हो पाते हैं। 

इसे जरूर पढ़ें- Liquid Soap Dispenser को साफ करना भी है जरूरी, जानिए कैसे करें इसे Disinfect

तो अब आप भी बच्चों को इन हैंडवॉशिंग मिसटेक्स के बारे में बताएं और उन्हें बार-बार बीमार होने से बचाएं। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकीअपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ। 

Image Credit- freepik

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।