अच्छा! अगर आपसे यह सवाल किया जाए कि सेहतमंद रहने के लिए भोजन करने के नियमों के किन-किन चीजों को शामिल करना चाहिए, तो फिर आपका जवाब क्या हो सकता है? शायद आपके पास इसका कोई सटीक जानकारी नहीं हो। लेकिन, आपको बता दें कि आयुर्वेद के अनुसार हेल्दी रहने के लिए भोजन करने के कई नियम होते हैं।

अगर आप आयुर्वेद के अनुसार भोजन करने के नियमों का पालन करती हैं, तो काफी हद तक कई परेशानियां अपने आप दूर हो सकती हैं। अगर आप इसके बारे में नहीं जानती हैं, तो आयुर्वेद की डॉक्टर रेखा राधामोनी हमें बताने जा रही है कि आयुर्वेद में भोजन करने के नियमों में इन 6 आदतों को ज़रूर शामिल करना चाहिए, तो आइए जानते हैं।

कैसा होना चाहिए भोजन?

 principles of eating rules as per ayurveda inside

शायद आप नहीं करती हो लेकिन, आपके और हमारे आसपास कई महिलाएं हैं, जो दिन में एक से दो बार ठंडे भोजन का ज़रूर सेवन करती हैं। लेकिन, डॉक्टर राधा का कहना है कि गर्म भोजन का सेवन करना ठंडे भोजन से अधिक फायदेमंद साबित हो सकता है। ऐसी कई महिलाएं होती हैं, जो रात का बचा हुआ भोजन अगले दिन गर्म करके सेवन करती हैं,  ऐसे में अगर आप भी ठंडा भोजन सेवन करती हैं तो आपको इससे बचना चाहिए।

कितना भोजन करें?

अमूमन देखा जाता है कि जब भी किसी का पसंदीदा भोजन बनता है, तो वो ज़रूरत से अधिक ही खाने का प्रयास करता है। कई बार ये आदत आपको बीमार भी कर सकती हैं। ऐसे में अगर आपको ओवर ईटिंग की आदत है, तो आपको इस आदत को बदलना चाहिए। राधामोनी के अनुसार राइट क्वांटिटी में भोजन करना सेहत के लिए बहुत ज़रूरी नियमों में से एक होना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: Expert Tips: जानें खाली पेट दही खाने के फायदों के बारे में

कितने अंतराल पर भोजन करें?

eating rules as per ayurveda inside

ये लगभग हर कोई जनता है कि दोबारा खाने के लिए तभी जाना चाहिए जब पहला भोजन अच्छे से पच गया हो। कई महिलाएं ऐसी होती हैं कि जब वो पसंदीदा भोजन देखती हैं, तो वो भूल जाती है कि पांच मिनट पहले ही भोजन किया था। राधामोनी के अनुसार पहले और दूसरे भोजन करने के बीच में लगभग चार से पांच घंटे का अंतराल ज़रूर होना चाहिए। इससे पाचन तंत्र भी सही रहता है।

Recommended Video

न करें जल्दी भोजन

अगर आपको जल्दी-जल्दी भोजन करने की आदत है, तो फिर आपको बदलने की ज़रूरत है क्योंकि, ये लगभग हम सभी जानते हैं कि जल्दी-जल्दी भोजन करना सेहत के लिए सही नहीं माना जाता है। इससे पाचन तंत्र पर बुरा असर पास सकता है।

ना करें बातें भोजन करते समय 

principles of eating rules as per ayurveda inside

अमूमन देखा जाता है कि जब परिवार के साथ टेबल पर खाने के लिए बैठते हैं, तो सब लोग खाने के बीच में ही आसपास में बातें करने लगते हैं। ऐसे में आपको इस आदत से बचना चाहिए। इसके अलावा हंसना, टीवी देखना आदि चीजों से खाते समय भी बचना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: रात को दूध में गाय का घी डालकर पिएं, सुंदरता और सेहत दोनों बढ़ेंगी

कब पानी पिएं 

ये तो आप जानते ही होंगे कि आयुर्वेद ही नहीं बल्कि अन्य जानकर लोग भी खाने के बीच में पानी पीने से मना करते हैं। ऐसे में अगर आपको भी भोजन करने के दौरान बीच-बीच में पानी पीने की आदत है, तो इस आदत को बदलने की ज़रूर पड़ सकती हैं।

अगर आपको यह स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक पर जरूर शेयर करें और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit:(@freepik)