रातभर बिस्तर पर करवट बदलना और बीच बीच में उठकर ये सोचना कि आखिर मुझे नींद कब आएगी? शायद इसे निराशाजनक और मूड खराब करने वाली कोई और चीज नहीं होगी! कुछ लोगों को नींद के साथ एकाग्रता की भी दिक्कत होती है। ऐसे लोग चाहे कितनी भी जल्दी सो जाएं और अपने कमरे का कैसा भी माहौल बना लें, नींद में खलल पड़ना तय होता है। ये समस्या न सिर्फ आपके स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव डालती है बल्कि आपको चिड़चिड़ा और थका हुआ भी दिखाती है। जबकि इसके विपरित कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो एक बार सो गए तो सीधा सुबह ही उनकी आंखें खुलती हैं। बिस्तर पर जाते ही नींद आना, दुनिया के सबसे बड़े सुखों में से एक है। हालांकि इस समस्या के लिए तनाव और हमारा व्यस्त भरा जीवन भी काफी हद तक जिम्मेदार होता है। आज हम आपको इस समस्या से निपटने के लिएचाइनीज दवा एक्यूपंक्चर के फायदे के बारे में बता रहे हैं। ये एक ऐसा तरीका है जो वाकई फायदेमंद और प्रभावशाली है।

इसे भी पढ़ें: इंडिया की 5000 साल पुरानी वो थैरेपी जिसके लिए दुनियाभर से आते हैं लोग

क्या है एक्यूपंक्चर थैरेपी

acupuncture therapy for sleep inside

एक्यूपंक्चर चीन की एक ऐसी ट्रेडिशनल दवा है जिसमें शरीर की कुछ विशिष्ट नसों और मांसपेशियों को उत्तेजित करने के लिए बारीक सुईयों का इस्तेमाल किया जाता है। ये सुईयां बहुत पतली होती हैं और इन्हें शरीर के प्रेशर प्वॉइंट्स पर लगाया जाता है। चीन में एक्यूपंक्चर थैरेपी का इस्तेमाल आमतौर पर अनिद्रा के इलाज के लिए प्रयोग किया जाता है। हालांकि इस प्राचीन चीनी उपचार की प्रभावशीलता पर कोई वैज्ञानिक समर्थन नहीं है, लेकिन फिर भी यह विभिन्न प्रकार के दर्द और बीमारियों के इलाज के लिए व्यापक रूप से लोकप्रिय है।


जानें, नींद की समस्या को कैसे दूर करती है एक्यूपंक्चर थैरेपी

acupuncture therapy for sleep inside

पारंपरिक चीनी चिकित्सा के अनुसार, शरीर और मस्तिष्क के संतुलन को बनाए रखने के लिए इक्यूपंक्चर थैरेपी की पतली सुईयों को काफी सावधानीपूर्वक इस्तेमाल में लाया जाता है। इन बारीक सुइयों की मदद से क्यूई (शरीर का ऐसा अंग जहां सारी एनर्जी एकत्रित रहती है) को संतुलित किया जाता है। एक्सपर्ट कहते हैं कि यदि क्यूई में किसी भी प्रकार का असंतुलन या रुकावट आती है तो यह पूरे शरीर में दर्द और बेचैनी के साथ ही अन्य बीमारियों का भी कारण बनता है। यह भी कहा जाता है कि एक्यूपंक्चर उपचार रक्त के प्रवाह में मदद करता है और दर्द को कम करता है। जब एक्यूपंक्चर प्वॉइंट्स पर इन सुईयों को चुभाया जाता है तो हॉर्मोन्स में भी संतुलन आता है और नींद की समस्या भी दूर होती है।

इसे भी पढ़ें: थाईलैंड की थाई मसाज के बारे क्या आप जानते हैं ये सब...


जानें क्या कहती है रिसर्च

acupuncture therapy for sleep inside

झेजियांग चीनी मेडिकल यूनिवर्सिटी द्वारा प्रकाशित एक शोध में कहा गया कि अनिद्रा से लड़ने के लिए एक्यूपंक्चथैरेपी दवाओं से भी ज्यादा फायदेमंद है। रिसर्च में यह भी कहा गया कि इससे न सिर्फ नींद की समस्या दूर नहीं होती है बल्कि नींद की गुणवत्ता और इसकी अवधि में भी सुधार होता है। अध्ययन में कहा गया कि एक्यूपंक्चर थैरेपी से 92.9 प्रतिशत लोगों की नींद की समस्या को दूर किया गया, जबकि दवाओं के सेवन से केवल 67.9 प्रतिशत लोगों को ही फायदा हुआ।