2010 से 2020 तक के पॉपुलर फिटनेस ट्रेंड्स, वेट लॉस के लिए अपनाएं

आज हम आपके लिए 10 सालों के पॉपुलर फिटनेस ट्रेंड्स लेकर आए हैं, जिन्‍हें अपनाने से आप भी 2021 में आसानी से अपना वेट लॉस कर सकती हैं। 
fitness regime main

आज के समय में खूबसूरत और स्‍मार्ट वही दिखाई देता है जो खुद की फिटनेस पर पूरा ध्‍यान देता है। इसलिए महिलाओं ने पिछले दशक में वेट लॉस के लिए कुछ फिटनेस ट्रेंड्स को बहुत ज्‍यादा पसंद किया हैै। यह ट्रेंड्स न केवल वर्षों से बने हुए हैंं बल्कि समय के साथ और बेहतर हुए। इसलिए आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्‍यम से कुछ ऐसे फिटनेस ट्रेंड्स के बारे में बता रहे हैं जो वेट लॉस के लिए 2010 से 2020 तक यानि 10 सालों में सबसे ज्‍यादा पसंद किए गए हैं। इन फिटनेस ट्रेंड्स के बारे में जानकर आप भी आने वाले साल 2021 में वेट लॉस करके खुद को फिट और खूबसूरत बनाए रख सकती हैं। आइए इन फिटनेस ट्रेंड्स के बारे में विस्‍तार से जानें। 

1क्रॉसफिट

CrossFit fitness inside

क्रॉसफिट करने से आपकी पूरी बॉडी का वर्कआउट हो जाता है, यह ज़ोरदार वर्कआउट 2000 में एक लाइफस्‍टाइल फिटनेस ब्रांड के रूप में शुरू हुआ। आजकल क्रॉसफिट वर्कआउट की सुविधा जिमों में उपलब्‍ध होती है। इसके फेमस होने का सबसे बड़ा कारण यह है कि इस वर्कआउट को करते हुए से आप काफी एंजॉय करते हैं और दूसरा यह तेजी से कैलोरी बर्न करने के साथ मसल्‍स को भी टोन करता है। इसके अलावा क्रॉसफिट में मसल्स की शक्ति, मसल्स की सहनशक्ति, हार्ट की सहनशक्ति, लचीलापन और शरीर की संरचना पर एक साथ काम होता है। इसमें कई डायनैमिक एक्सरसाइजेज शामिल होती हैं। अगर आप भी खुद को फिट रखना चाहती हैं तो इस एक्‍सरसाइज को जरूर करें। 

2जुम्‍बा

zumba fitness inside

जुम्‍बा पहली बार 1998 में दिखाई दिया था और तब से 2020 तक यह खुद को फिट रखने का सबसे अच्‍छा वर्कआउट माना जाता है। जी हां आजकल की लाइफस्‍टाइल में मोटापा एक आम समस्‍या हो गई है। मोटापा कम करने के लिए कई महिलाएं एक्‍सरसाइज करती है, लेकिन बढ़े हुए वजन को कम करना इतना आसान नहीं है। लेकिन लंबे समय तक एक्‍सरसाइज कर-करके महिलाएं बोर होने लगती हैंं और कुछ ही दिनों में इसे करना छोड़ देती हैंं। अगर आप भी वजन कम करने के लिए बोरिंग एक्‍सरसाइज और जिम में वर्कआउट नहीं करना चाहती हैं तो आप डांस करके भी वजन कम करके खुद को फिट रख सकती हैं। वेट कम करने के लिए जुम्‍बा से बेहतर और कुछ नहीं है। डांस के दीवानों के लिए फिटनेस का नया फंडा जुम्‍बा एरोबिक्स है।

जुम्बा डांस का एक फॉर्म है जिसमें बहुत सारी एनर्जी लगाने की जरूरत होती है। इसमें बहुत सारे मूवमेंट शामिल होते हैं जो आपकी पूरी तरह को मूव करातेे हैं। वजन कम करने में हेल्‍प करने के अलावा, यह डांस फॉर्म आपको लंग्‍स और हार्ट की समस्याओं का इलाज करने में भी हेल्‍प करते हैंं। 

3एब्स ऑब्सेस से लेकर कोर ट्रेनिंग तक

core training inside

2000 के दशक तक, हम सभी सिक्स पैक एब्स या फ्लैट एब्स बनाने के अधिक जुनूनी थे, लेकिन इस दशक में लोगों ने खुद को पूरी तरह से फिट रखने पर ध्‍यान दिया। यह वह समय है जब हमने 'कोर' की खोज की थी। कोर ट्रेनिंग नामक शब्द ने आकर्षण प्राप्त किया और लोगों ने इसे प्राप्‍त करने के लिए न केवल वर्कआउट की तरफ ध्‍यान दिया बल्कि मजबूत कोर होने के महत्व का एहसास किया। कोर के लिए बहुत सारे क्रंचेज करने की बजाय प्‍लैंक, नी टक, माउंटेन क्‍लाइंबर और अन्‍य कई गतिशील एक्‍सरसाइजेज की तरफ ध्‍यान दिया। 

4वेट ट्रेनिंग

weight training inside

इस दशक से पहले और यहां तक कि शुरुआत में, महिलाओं को वेट ट्रेनिंग के लिए मना किया जाता था। कुछ महिलाएं खुद भी इसे करने से बचती थीं। यह सिर्फ पुरुषों के लिए था। लेकिन इस दशक में महिलाओं को बॉडी और वेट लॉस दोनों के लिए वेट ट्रेनिंग की क्षमता का एहसास हुआ। स्‍ट्रेंथ ट्रेनिंग सिर्फ आपके शरीर को बेहतर बनाती है, आपको उभार नहीं देती है। हालांकि, दुर्घटना से बचने और इस वर्कआउट के सबसे ज्‍यादा फायदे पाने के लिए सही तरीके को जानने के लिए एक्‍सपर्ट के तहत ट्रेनिंग लेना महत्वपूर्ण होता है।

5हाई इंटेंसिटी वर्कआउट

​high intensity workout inside

इस दशक में हाई इंटेंसिटी वर्कआउट ने एक नया अर्थ लिया। यह दशक का सबसे फेमस वर्कआउट था जिसमें बहुत से लोग छोटे, ज़ोरदार वर्कआउट पर ध्यान फोकस कर रहे थे। इस तरह के वर्कआउट को हाई इंटेंसिटी इंटरवल ट्रेनिंग (एचआईआईटी) के रूप में जाना जाता है। समग्र स्वास्थ्य और फिटनेस के लिए हाई इंटेंसिटी वर्कआउट के प्रभाव का आकलन करते हुए कई अध्ययन किए गए। इसे फैशनेबल वर्कआउट भी कहते हैं। ये काफी एनर्जेटिक होता है और इसे करने से काफी मात्रा में कैलोरी बर्न होती है। इसमें एक निर्धारित समय में कुछ वर्कआउट्स करना होता है। बिना किसी उपकरण के भी इन वर्कआउट्स को किया जा सकता है। इन्हें करने से हार्ट रेट काफी तेज हो जाती है जिससे कैलोरी बर्न होने के कारण वजन काफी तेजी से कम होता है।

6हेल्‍दी लाइफ स्‍टइाल में बदलाव

Healthy Lifestyle Changes inside

पिछले दशक में फिटनेस ट्रेंड्स में से एक हेल्‍दी लाइफ स्‍टाइल जीने की दिशा में एक मोड़ है। हम अभी भी अपने वजन को लेकर चिंता करते हैं और हम में से ज्‍यादातर लोग हेल्‍दी बदलाव पर ध्यान फोकस कर रहे हैं जो हमें पैमाने पर ध्यान दिए बिना बेहतर और फिट महसूस कराते हैं। अब कैलोरी को अकाउंट करना जीवन का एक तरीका बन गया है जिससे हम आसानी से ऑनलाइन डाइट टूल्‍स का उपयोग कर सकते हैं। हम पहले की तुलना में फाइबर, गुड फैट और बैड फैट के बारे में अधिक जानते हैं और हमने यह भी सीखा है कि फूड लेबल्‍स कैसे पढ़ें। अधिक रेस्तरां अपने मेनू पर हेल्‍थ संबंधी जानकारी प्रदान कर रहे हैं और यहां तक कि फास्ट फूड में ज्‍यादा से ज्‍यादा सलाद, फल, और हेल्‍दी विकल्पों को जोड़ा जा रहा है। सबसे अच्छी बात, यह वह दशक है जब हमने यह समझना शुरू किया कि हेल्‍दी जीवनशैली जीना वास्तव में मजेदार हो सकता है।

7नई हेल्‍थ और एक्‍सरसाइज टेक्‍नोलॉजी

Fitness Apps inside

इंटरनेट ने हमारे जीवन को बदल दिया और यह स्मार्टफोन से सीधे हमारे वर्कआउट को निर्देशित करने और हमारे कदमों की गिनती से लेकर सब कुछ करने के लिए नई तकनीक के साथ आया। इनमें से सबसे ज्‍यादा पसंद किए जाने वालों में शामिल हैं:
फिटनेस ऐप्स: बहुत सारे ऐप्स के साथ अब हमारे पास एक्‍सरसाइज न करने का कोई बहाना नहीं है।
GPS ट्रैकिंग गियर: हार्ट रेट मॉनिटर 90s हैं। नए जीपीएस डिवाइस आपके कैलोरी को काउंट, आपके लोकेशन को मैप और आपके आंकड़ों को ट्रैक कर सकते हैं।
बॉडी मॉनिटरिंग डिवाइसेस: पिछले कुछ वर्षों में पेडोमीटर की लोकप्रियता बढ़ी है और हमने और भी कई डिवाइस जैसे कि फिलिप्स एक्टिविटी मॉनिटर और बायोट्रेनर, स्लीप पैटर्न से लेकर फिजिकल एक्टिविटी लेवल तक सब कुछ ट्रैक करने के लिए देखे हैं।
2010 से 2020 तक के इन फिटनेस ट्रेंड्स से 2021 में आप भी अपना वजन तेजी से कम कर सकती हैं। फिटनेस से जुड़े और आर्टिकल पढ़ने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें।