सर्दियों में बहुत ज्‍यादा तला-भुना और हैवी खाना बहुत अच्‍छा लगता है, लेकिन हम इस मौसम के दौरान एक्‍सरसाइज करना बंद कर देते हैं और पानी पीना भी कम कर देते हैं जिससे हमारा खाना अच्‍छे से पचता नहीं है। इससे डाइजेस्टिव सिस्‍टम स्‍लो हो जाता है और सर्दियों में पेट से जुड़ी समस्‍याएं होने लगती हैं। लेकिन आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है क्‍योंकि आज हम आपको कुछ योगासन के बारे में बता रहे हैं जिन्‍हें आसानी से घर पर करके आप डाइजेशन को मजबूत कर सकती हैं। इन योगासन की जानकारी हमें बॉलीवुड की फिटनेस फ्रीक एक्‍ट्रेस का इंस्‍टाग्राम अकाउंट देखने के बाद मिली। जी हां शिल्‍पा शेट्टी समय-समय पर अपने फैन्‍स को इंस्‍पायर करने और बीमारियों को दूर भगाने वाले फिटनेस के वीडियोज और फोटोज शेयर करती रहती हैं।

शिल्‍पा शेट्टी कुंद्रा के बताए योगासन

कुछ दिनों पहले शिल्‍पा शेट्टी कुंद्रा ने हिमाचल प्रदेश की मनाली के पहाड़ी इलाके से कुछ योगासन को करते हुए एक वीडियो शेयर किया था। वह मनाली अपनी फिल्म 'हंगामा-2' की शूटिंग के लिए गई थीं। हालांकि वह अब अपने घर मुंबई में लौट आई हैं। इस वीडियो को शेयर करते हुए एक्‍ट्रेस ने कैप्‍शन में लिखा है, "मनाली को 'देव भूमि' (देवताओं की घाटी) कहा जाता है। एनर्जी और सुंदरता प्राणपोषक हैं। इससे इंस्‍पायर होते हुए मैंने अपने दिन की शुरुआत पहाड़ों के सामने पर्वतासन के ब्रेक के साथ शुरू की। उन्होंने अपने वर्कआउट की शुरुआत पादहस्तासन के साथ की और फिर पर्वतासन और मार्जरासन किया। शिल्‍पा के अनुसार यह पूरी बॉडी को खोलता है, पीठ को मजबूत और स्‍ट्रेच, हैमस्ट्रिंग, पिंडलियों की मसल्‍स और कंधों को फैलाता है और डाइजेशन और ब्‍लड सर्कुलेशन में सुधार करता है।'' 

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by Shilpa Shetty Kundra (@theshilpashetty)

आगे उन्‍होंने कैप्‍शन में लिखा, ''यह डाइजेस्टिव अंगों की फ्लो मालिश करता है और कब्ज, पेट फूलना और अपच को कम करने में मदद करता है। फ्लो रीढ़ की नसों को उत्तेजित और टोन करने में भी मदद करता है जो जीवन शक्ति और स्थिरता को बढ़ाता है। इससे एकाग्रता में सुधार होता है।'' इन आसन के अलावा उन्‍हें वीडियो में दो आसन जैसे सूर्य नमस्कार और गोमुखासन करते हुए देखा जा सकता है। यह दोनों आसन डाइजेशन को मजबूत बनाने के साथ-साथ स्थिरता लाने में मदद करते हैं। आइए शिल्‍पा शेट्टी के बताए डाइजेशन को मजबूत बनाने वाले योगासन के बारे में विस्‍तार से जानें।

इसे जरूर पढ़ें:पेट की समस्‍याओं को तेजी से दूर करता है ये 1 योग, खाने के बाद रोजाना करें

पर्वतासन

yogasan 

  • इसे करने के लिए सबसे पहले पद्मासन की मुद्रा में बैठ जाएं।
  • दोनों हाथों को नमस्कार की मुद्रा में जोड़ें और सांस लेते हुए उन्हें सिर के ऊपर ले जाएं। 
  • शरीर को ऊपर की तरफ स्‍ट्रेच करें। इसमें फेफड़े फैल जाते हैं। 
  • चार-पांच बार गहरी सांस लेने के बाद वापस पुरानी मुद्रा में आ जाएं।

पादहस्तासन

padahastasana

  • इसे करने के लिए धीरे-धीरे अपने हाथों को ऊपर की तरफ ले जाएं। 
  • सांस निकालते हुए कमर के आगे की तरफ झुकें। 
  • सिर से घुटनों को छूने का प्रयास करें और कुछ देर इस मुद्रा में रहें। 
  • फिर सांस लेते हुए सामान्‍य मुद्रा में वापस आ जाएं।

मार्जरासन

marjariasana inside

  • इसे करने के लिए घुटनों और हाथों के बल आएं और रीढ़ को मध्यस्थ स्थिति में रखें।
  • सांस अंदर लेते हुए सिर को छत की तरफ ऊपर की ओर ले जाएं। 
  • शरीर के नाभि वाले हिस्से को नीचे की ओर झुकाएं।
  • सांस छोड़ते हुए ठोड़ी को छाती से लगाएं और रीढ़ को ऊपर उठाएं।
  • इस अभ्यास को 3-4 राउंड तक करें और फिर पुरानी मुद्रा में वापस आ जाएं।

सूर्य नमस्कार

Recommended Video

  • इसे सूर्य का अभिनंदन करना भी कहते हैं। 
  • सूर्य नमस्कार में 12 अलग-अलग आसन शामिल होते हैं। 
  • इन आसनों का क्रम कुछ इस तरह होता है। 
  • सबसे पहले प्रणाम मुद्रा की जाती है।
  • फिर हस्तो उत्तासन, पाद हस्तासन, अश्वा संचालन, दंडासन, अष्टांग नमस्कार, भुजंगासन, आधेमुखास्वान आसन आदि किए जातेे हैंं। 
  • इसके बाद अश्वा संचालन, पाद हस्तासन आदि क्रम से किए जाने वाले आसन हैं। 
  • इसके बाद आखिर में हस्तो उत्तासन और प्रणाम मुद्रा दोबारा की जाती है।
  • ऊपर दिए वीडियो को देखकर आप आसानी से सूर्य नमस्‍कार कर सकती हैं। 

गोमुखासन

gomukhasana

  • इस आसन को करने के लिए अपनी कमर को सीधी रखकर जमीन पर बैठें। 
  • फिर एक पैर को दूसरे पैर पर रखें। 
  • लेकिन ध्‍यान रखें कि एक थाई दूसरी के ऊपर हो। 
  • इसके बाद बाएं हाथ को उठाकर कोहनी की तरफ से मोड़ें और पीछे की ओर कंधों से नीचे ले जाएं। 
  • उसके बाद दाएं हाथ को कोहनी से मोड़ें और ऊपर की ओर ले जाकर पीछे पीठ पर ले जाएं। 
  • दोनों हाथों की अंगुलियों को पीठ के पीछे इस तरह से रखें कि एक दूसरे को आपस में इंटरलॉक हो जाएं। 
  • अब सिर को कोहनी पर टिकाकर पीछे की ओर करने की कोशिश करें।

इन योगासन को करके आप भी सर्दियों में अपने डाइजेशन के साथ-साथ पीठ को भी मजबूत बना सकती हैं। इस तरह की और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें।  

Image credit: Freepik & Instagram