बॉलीवुड की कुछ एक्‍ट्रेसेस बढ़ती उम्र के साथ पहले से भी ज्‍यादा खूबसूरत और फिट दिखाई देती हैं। ऐसी बॉलीवुड एक्‍ट्रेस की लिस्‍ट में भाग्‍यश्री का नाम भी शामिल है। 'मैंने प्‍यार किया' फिल्‍म से सभी के दिलों पर राज करने वाली मधुर मुस्‍कान वाली एक्‍ट्रेस भले ही फिल्‍मों से दूर हो लेकिन अपने इंस्‍टाग्राम के माध्‍यम से फैन्‍स के साथ जुड़ी हुई हैंं। भाग्‍यश्री की उम्र 51 साल है लेकिन कोई भी उनको देखकर असली उम्र का अंदाजा नहीं लगा सकता है। महिलाएं तो उनकी यंग और ग्‍लोइंग स्किन और खूबसूरती की इतनी बड़ी फैन हैंं कि बढ़ती उम्र में उनकी तरह दिखना चाहती हैं। लेकिन क्‍या आप जानती हैं कि वह खुद को फिट रखने के लिए कितनी मेहनत करती हैं। उनका इंस्‍टाग्राम अंकाउट फिटनेस की वीडियोज और फोटोज से भरा हुआ है।     

कुछ दिनों पहले उन्‍होंने अपने इंस्‍टाग्राम के माध्‍यम से लिजर्ड पोज करते हुए अपना एक वीडियो शेयर किया है। इस वीडियो के कैप्‍शन में भाग्‍यश्री ने लिखा है, ''हिप flexors को बढ़ाता है, हैमस्ट्रिंग और क्‍वाड्स को फैलाता है। चेस्‍ट की मसल्‍स और कंधों को मजबूत करता है। ग्लूट्स को टोन करता है और मेनोपॉज के लक्षणों को कम करने के लिए सबसे अच्‍छा स्‍ट्रेच है।'' अगर आप खुद को भाग्‍यश्री की तरह 51 की उम्र में 30 जैसा फिट दिखाना चाहती हैं तो इस स्‍ट्रेच को रोजाना करें। आइए इसे करने के तरीके और फायदों के बारे में जानते हैं।

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by Bhagyashree (@bhagyashree.online)

लिजर्ड पोज

लिजर्ड पोज जिसे उत्तान पृष्ठासन के नाम से भी जाना जाता है। संस्कृत में उत्थान का अर्थ है बाहर निकालना, प्रथ का अर्थ है पुस्तक का पृष्ठ और आसन का अर्थ है मुद्रा। आप कितने लचीले हैं, इसके आधार पर लिजर्ड पोज आपके हिप्‍स के लिए इंटेंस हो सकता है। यह आपके हिप्‍स को खोलता है। अगर आप इन हिस्‍से में कम फ्लेक्सिबल हैं तो आप इस स्‍ट्रेच को सकती हैं। उत्थान पृष्ठासन से पेट और रीढ़ को लचीला बनता है। बैली फैट को कम करता है। महिलाओं के लिए यह विशेष रूप से फायदेमंद है और पेट से जुड़ी समस्‍याओं खासतौर पर गैस के लिए रामबाण स्‍ट्रेच है।

इसे जरूर पढ़ें:51 साल की भाग्‍यश्री की तरह टोन लेग्‍स पाने के लिए ये 7 एक्‍सरसाइज घर पर ही करें

लिजर्ड पोज करने का तरीका

lizard pose inside

  • इसे करने के लिए सबसे पहले पेट के बल लेट जाएं। 
  • फिर बाजुओं को चेस्‍ट के नीचे इंटरलॉक कर लें। 
  • पहले सिर, फिर चेस्‍ट और अंत में हिप्‍स को ऊपर उठाएं। 
  • सिर को पीछे ले जाते हुए ठुड्डी और सीने को जमीन पर इंटरलॉक बाजुओं के पीछे सटा दें। 
  • ऐसा करते हुए हिप्‍स अच्छी तरह से ऊपर उठ जाते हैं। 
  • हिप्‍स ऊपर उठाते हुए सांस भरें और अपनी क्षमतानुसार रुकने के बाद सांस छोड़ते हुए पुरानी पोजीशन में आ जाएं।
 

Recommended Video

bhagyashree fitness inside

लिजर्ड पोज के फायदे

  • यह मुद्रा निश्चित रूप से जटिल लगती है लेकिन ऐसा नहीं है। 
  • यह तनाव, थकान और तनाव को दूर करने में मददगार है। 
  • दिन-भर की मेहनत के बाद शरीर को रिलैक्‍स करने के लिए ऐसा कर सकते हैं। 
  • यह शरीर के लिए तुरंत प्रभावी और बहुत शांत होता है।
  • शरीर को मजबूत और हेल्‍दी बना सकते हैं। 
  • मानसिक शांति भी मिलती है। 
  • मसल्‍स ग्रुप्‍स को मजबूत करने में मदद मिलती है। 
  • इसके अलावा जैसा हम ऊपर बता चुके हैं, इसे करने से बैली, थाइज, हिप्‍स और साइड फैट को कम किया जा सकता है। 
  • ये रिप्रोडक्टिव हेल्‍थ से संबंधित समस्‍याओं को दूर करता है क्योंकि पेल्विस और निचले पेट की सक्रियता को बढ़ावा देती है।

आप भी खुद को फिट रखने के लिए इस स्‍पेशल स्‍ट्रेच को कर सकती हैं। फिटनेस से जुड़ी और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें। 

Image credit: Instagram.com & Freepik.com