• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

Fat से Fit होना है तो चंचल मल्‍होत्रा की वेट लॉस जर्नी से लें इंस्पिरेशन

अगर आपका वजन भी बहुत ज्‍यादा है और आप फैट से फिट होना चाहती हैं तो चंचल मल्‍होत्रा की वेट लॉस जर्नी से इंस्पिरेशन लें। 
author-profile
Published -22 Apr 2022, 18:46 ISTUpdated -18 May 2022, 15:29 IST
Next
Article
fat to fit chanchal malhotra

हेल्‍दी और आकर्षक बॉडी भला कौन नहीं चाहेगा। लेकिन अगर आप जंक फूड खाने के फैन है तो ऐसी बॉडी हासिल करना आपके लिए मुश्किल हो सकता है। इमोशनल ईटिंग से भी शरीर में बड़े बदलाव हो सकते हैं। आप अपनी बॉडी में जो अनहेल्‍दी भोजन डालते हैं, वह न सिर्फ अपनी बॉडी में एक्‍स्‍ट्रा फैट जमा कर सकता है, बल्कि यह आपके आत्मविश्वास और आत्म-छवि को भी बाधित कर सकता है। 

चंचल मल्होत्रा जब अपने माता-पिता से अलग हो गई तो एक भावनात्मक झटके से गुज़री। एक युवा लड़की के रूप में वह नहीं जानती थी कि स्थिति से कैसे निपटा जाए और अपनी भावनाओं का सामना कैसे किया जाए। हाई स्कूल में, उनका वजन 108 किलो था। हाई स्कूल क्रूर हो सकता है, अगर आपके साथी आपको शर्मिंदा करना शुरू कर दें। तो मुंबई की यह मजबूत लड़की अपनी फैट टू फिट जर्नी में कैसे सफल हुई, उन्‍होंने क्या अनुभव किया, आइए जानते हैं-

चंचल मल्होत्रा की वेट लॉस की कोशिश

चंचल अपने तीन अंकों के वजन (108 किग्रा) से हिल गई थीं, उन्‍होंने जिम जाने का फैसला किया और वह वजन को कुछ ही दिनों में कम करना चाहती थीं। वह जिम गई, लेकिन कम से कम कार्ब डाइट के साथ खुद को भूखा रखा। उन्‍होंने मुश्किल से थोड़ा सा ही खाया, जिससे उन्‍हें थकान और कमजोरी महसूस हुई। भोजन और पोषण की कमी उनके चेहरे पर दिखाई दे रही थी। वह अपना वजन कम करने के लिए इतनी बेताब थीं कि उन्होंने अपना लक्ष्य हासिल कर लिया। उनका वजन 108 से कम होकर 65 पर आ गया, लेकिन चूंकि उन्‍होंने इसे लगातार हासिल नहीं किया, इसलिए वह कमजोर और कुपोषित दिख रही थीं।

उनका खोया हुआ आत्मविश्वास किसी तरह वापस आ गया है। वह पहले से बेहतर दिख रही थी, लेकिन फिटनेस के प्रति उत्साह ने पीछे की सीट ले ली। वह डाइट की पुरानी आदतों में वापस चली गई, जिससे उसका वजन फिर से 90 किग्रा हो गया। अधिक वजन होने के उनके तनाव ने उन्‍हें फिर से इमोशनल ईटिंग में डाल दिया।

chanchal malhotra weight loss journey

डाइट के साथ चंचल मल्होत्रा का वेट लॉस

वह महज 23 साल की थीं लेकिन उनका वजन 119 किलोग्राम हो गया है। उन्‍होंने कुछ हद तक उम्मीद छोड़ दी कि वह फिट और स्लिम हो सकती है। वह इस बार अपने पसंदीदा भोजन को छोड़ना नहीं चाहती थी। लेकिन कॉलेज में नए जीवन ने उन्हें अलग-अलग भावनाओं और आत्म-जागरूकता से अवगत कराया। उन्‍होंने डाइटीशियन से सलाह ली और थेरेपी को फॉलो किया। डाइट और थेरेपी ने उनकी मदद की और उनका वजन 6-7 महीनों के भीतर 60 किलो हो था, लेकिन चंचल अपने डाइट में निरंतरता नहीं रख सकीं और फिर से अधिक खाने के पैटर्न में वापस आ गईं।

इसे जरूर पढ़ें:17 साल के बाद फैट से फिट बनी यह महिला

चंचल मल्होत्रा की हाई पावर जिम रूटीन स्टोरी

तीसरी बार, उनका वजन 109kgs था, इस बार उन्‍होंने फिर से जिम ज्वाइन किया और एक ट्रेनर का मार्गदर्शन लिया। उन्‍हें कीटोजेनिक डाइट को फॉलो करने और हैवी वर्कआउट करने की सलाह दी गई। उन्‍होंने अपने ट्रेनर द्वारा डिज़ाइन की गई डाइट और वर्कआउट रूटीन को फॉलो किया। इससे रिजल्‍ट दिखने लगे और उनका शरीर बेहतर हो रहा था, लेकिन उनकी फिटनेस जर्नी में एक और बाधा आ गई। 

जिम में वर्कआउट के दौरान, चंचल को दुर्भाग्य से चोट लग गई और वह स्किप डिस्क से पीड़ित हो गई। वह 8 महीने तक बिस्तर पर पड़ी रहीं और उनकी फिटनेस जर्नी में एक और पूर्ण विराम देखा गया। चंचल के अनुसार, यह उनके जीवन का सबसे अवसादग्रस्त दौर था। उनके शरीर के माप भी अनुपात में नहीं थे। उनके हिप्‍स का आकार 58 इंच और बस्ट लगभग 48 इंच था। उनकी कमर भी 46-48 इंच की थी। चंचल को आत्म-संदेह और असुरक्षा का सामना करना पड़ा, इसने न केवल उनके शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को प्रभावित किया बल्कि वह अपने रिलेशनशीप को भी अच्‍छी तरह से इंजॉय नहीं ले सकी। उनकी असुरक्षा उन पर हावी होने लगी।

fat to fit chanchal malhotra weight loss

अंतिम सफलता

चंचल के लिए यह करो या मरो की स्थिति थी। उन्‍होंने एक स्पेशलाइज्ड डॉक्‍टर से मुलाकात की और धीरे-धीरे अपनी गतिशीलता बढ़ाने के लिए फिजियोथेरेपी ली। उन्‍होंने योग और स्ट्रेचिंग का अभ्यास करना शुरू कर दिया। इस बार उन्‍होंने खाने से परहेज नहीं किया, लेकिन डाइट की आदतों पर कुछ नियंत्रण के साथ होशपूर्वक खाया। चंचल अपने भोजन की मात्रा पर ध्यान दिया ताकि वह अपने बढ़ते वजन को नियंत्रित कर सके। 

उन्‍होंने फिर से घर पर वर्कआउट करना शुरू कर दिया और इंटरनेट कंटेंट और वीडियो की मदद से चंचल अपनी मोटिवेशन को बनाए रखा। इस बार उन्होंने वजन कम करने पर नहीं बल्कि फिट रहने पर ध्यान दिया। उन्‍होंने अपनी डाइट को घर के बने भोजन तक ही सीमित रखा और कभी-कभार ही वह बाहर का खाना खाती थी।

फिटनेस हासिल करने में उन्हें 2 साल का लंबा समय लगा। चंचल अपने जीवन को वेट लॉस जर्नी के अलावा और कुछ नहीं देखती हैं। अपने शरीर के साथ, उन्‍होंने कई बार वजन बढ़ने और वजन घटाने का अनुभव किया। वह अपनी स्थिति का लाभ उठाती है क्योंकि वह आवेगी वजन घटाने के बजाय लगातार और सतत विकास के महत्व को समझती है। चंचल कई अन्य लोगों की मदद करती हैं जो अपनी फिटनेस जर्नी में हैं।

chanchal malhotra weight loss journey hindi

चंचल मल्होत्रा का लक्ष्य

  • वह न केवल वजन घटाने के लिए समग्र फिटनेस को बढ़ावा देने की प्‍लानिंग बना रही है।
  • वह दूसरों को प्रेरित करती है और उनकी मदद करती है जो अपने शरीर पर नियंत्रण पाने और फिट रहने की कोशिश कर रहे हैं।
  • वह सुझाव देती है कि हर किसी को किसी न किसी रूप में बॉडी शेमिंग का सामना करना पड़ता है, इसे अनदेखा करना और अपने स्वास्थ्य लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित करना बेहतर है।

आपको यह आर्टिकल कैसा लगा? हमें फेसबुक पर कमेंट करके जरूर बताएं। फिटनेस से जुड़ी ऐसी ही और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें। 

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।