सर्दियों के मौसम में हम अक्सर आलसी महसूस करते हैं और सुबह बिस्‍तर से उठना नहीं चाहते हैं। एक्‍सरसाइज न करने से हमारा शरीर आलसी और सुस्त हो जाता है। साथ ही ठंड के मौसम में हमें टेस्‍टी और गरमागर्म मीठे और नमकीन दोनों तरह के अनगिनत व्यंजनों का लुत्फ उठाने का बहाना मिल जाता है। लेकिन इस सीजन में इसे वजन बढ़ने का बहाना न बनने दें। 

आप सर्दियों में फिट रखने के लिए कुछ योगासन को अपने फिटनेस रूटीन में जरूर शामिल करें। इन योगासन के बारे में हमें लक्ष्मण योगा एंड पिलाटे्स के फाउंडर, योग और पिलाटे्स ए‍क्‍सपर्ट, भवानी पिनिसेट्टी जी बता रहे हैं। 

उनका कहना है, 'एक योग शिक्षक के रूप में मेरा दृढ़ विश्वास है कि योग बीमारी से बचने और ठीक करने का एक योगिक तरीका है। योग का नियमित अभ्यास आपको इम्‍यून सिस्‍टम को मजबूत करने में मदद करता है। साथ ही बैक्टीरिया या वायरस को खुद से दूर रखने के लिए सूर्य नमस्कार के साथ योग सेक्‍शन शुरू करें। सूर्य नमस्कार के तीन राउंड भी आपको बेहतर महसूस करने में मदद करेंगे।'

surya namaskar for winter

'यह बारह शारीरिक मुद्राओं की एक श्रृंखला है। बारी-बारी से पीछे और आगे झुकने वाले ये आसन फ्लेक्स और वर्टिब्रल कॉलम और अंगों को अपनी अधिकतम सीमा तक फैलाते हैं। यह पूरे शरीर को इतना गहरा स्‍ट्रेच देते हैं। यह एक बहुत अच्छी एक्‍सरसाइज भी है और मेटाबॉलिज्‍म की स्थिति को बढ़ाने में मदद करती है।' सूर्य नमस्कार के अलावा एक्‍सपर्ट ने सर्दियों के मौसम में एक्टिव और फिट रहने के लिए 5 अन्‍य योगासन के बारे में भी बताया है। आइए इनके बारे में विस्‍तार से जानें।

इसे जरूर पढ़ें:बेडौल शरीर को शेप में लाने के लिए रोजाना घर पर करें ये 8 एक्‍सरसाइज

प्लैंक पोज

यह मुद्रा एक आर्म बैलेंस पोज है जो बाहों को मजबूत करती है, पेट की मसल्‍स और रीढ़ को टोन करती है। कई मिनट तक प्लैंक का अभ्यास करने से नर्वस सिस्टम को टोन करते हुए सहनशक्ति बढ़ती है। सूर्य नमस्कार के भाग के रूप में, अष्टांग और विन्‍यास प्रवाह योग कक्षाओं में इसका कई बार अभ्यास किया जाता है। यदि आपको कार्पल टनल सिंड्रोम है तो मुद्रा को पूरी तरह से करने से बचें बल्कि फर्श पर घुटनों के बल झुककर अभ्यास करें।

त्रिकोणासन

Trikonasana for winter

यह मुद्रा फ्लैट पैर को रोकने में मदद करती है, पैर की मसल्‍स को टोन करती है, पिंडलियों और हिप्‍स की मसल्‍स को मजबूत करती है, पैरों और हिप्‍स में कठोरता को दूर करती है, पीठ की वक्रता को ठीक करती है, कमर की मसल्‍स को मजबूत करती है और रीढ़ को लचीला बनाती है। यह आसन पैरों के भीतर किसी भी छोटी-मोटी विकृति को ठीक करता है और उन्हें समान रूप से विकसित करने की अनुमति देता है।

विधि

  • इस योग को करने के लिए सीधी खड़े हो जाएं। 
  • फिर दोनों हाथों को कंधे की चौड़ाई में सीधा कर लें। 
  • अब दाई तरफ झुकते हुए हाथ को अंगूठे तक लाएं और थोड़ी देर इसी पोजीशन में रहें। 
  • इसे दूसरी तरफ से भी करें।

अधोमुख श्वानासन

Adho Mukha Svanasana for winter

इस मुद्रा का अभ्यास अक्सर सूर्य नमस्कार में किया जाता है। यह एक बहुत ही गतिशील मुद्रा है और यदि आप एक मिनट के लिए खुद को इस मुद्रा में होल्‍ड करती हैं तो यह बहुत वर्मिंग होती है।

विधि

  • सबसे पहले शरीर को हाथों और पैरों के पंजों के बल लेकर आएं। 
  • इसके बाद घुटनों को भी हवा में उठा लीजिए। 
  • आपके पैरों और हाथों पर ही शरीर का पूरा वजन होना चाहिए।
  • अब हिप्स को ऊपर की ओर उठाएं। 
  • ऐसा करते हुए आपको उल्टा v बनाना है।
  • इसके बाद अपने शरीर को स्ट्रेच करें। 
  • ध्यान रहे कि आपके घुटने या हाथ मुड़े हुए न हो।

Recommended Video

प्रसार पदोत्तानासन

Prasarita Padottanasana for winter

इस मुद्रा में हैमस्ट्रिंग की मसल्‍स पर जोर पड़ता हैं, जबकि ब्‍लड का फ्लो सिर में प्रवाहित होता है।

विधि

  • इसे करने के लिए पैरों को चौड़ा और पैर की उंगलियों को अंदर की ओर फैलाएं।
  • घुटनों को सीधा रखें।
  • सांस छोड़ें और अपनी पीठ को फर्श के समानांतर लाएं।
  • पीठ को जितना हो सके सीधा रखना चाहिए।
  • फिर कमर के हिस्‍से से नीचे की ओर झुकें।
  • हाथों को जमीन पर रखें और सिर को नीचे लगाने की कोशिश करें। 
  • इस आसन में कुछ देर रहें।

पार्श्वकोणासन

Parsvakonasana for winter

मुद्रा पीठ के दर्द से राहत देती है, पेट के अंगों को मजबूत करती है और हिप्‍स की मसल्‍स को मजबूत करती है। यह पैरों, घुटनों और टखनों को भी मजबूत करती है और साथ ही पेट के अंगों पर काम करती है।

इसे जरूर पढ़ें:40 की उम्र की हर महिला को ये 3 योगासन करने चाहिए, रहेंगी फिट और जवां

विधि

  • यह विस्तारित पार्श्व कोण मुद्रा है। 
  • इसे करने के लिए सीधी खड़ी हो जाएं।  
  • फिर एक पैर को साइड में पुश करें और 30 सेकेंड से 1 मिनट तक रुकें। 
  • फिर धीरे-धीरे ऊपर की ओर आ जाएं।
  • दूसरी तरफ भी उतने ही समय के लिए दोहराएं। 
  • फिर ऊपर आकर ताड़ासन में लौट आएं। 
  • इस मुद्रा को करने से चेस्‍ट पूरी तरह से फैल जाती है। 

 इन योगासन को करके आप भी सर्दियों के दौरान खुद को फिट और एक्टिव रख सकती हैं। योग के बारे में अधिक जानकारी पाने के लिए हर जिंदगी के साथ जुड़ी  रहें।

Image Credit: Shutterstock & Freepik.com