आजकल की लाइफस्‍टाइल जिस तरह की हो गई है, उसके चलते हमें कई तरह की समस्‍याएं घेरने लगी हैं। खासतौर पर मोटापे की तो हर दूसरी महिला शिकार है।  यह परेशानी कुछ हद तक हमारे खुद को समय न देने और गलत खान-पान के कारण भी है। लेकिन चाहते हुए भी खुद को फिट रखने के लिए टाइम नहीं निकाल पाती हैं। ऐसी ही कुछ परेशानी थोड़े दिन पहले मेरे साथ भी थी। मेरा वजन दिन पर दिन बढ़ता जा रहा था, लेकिन मैं घर और ऑफिस के कामों में इतना उलझी रहती थी कि मेरे पास वॉक यहां तक कि एक्‍सरसाइज करने का भी समय नहीं था। लेकिन एक दिन जब मैं सुबह के समय आस्‍था चैनल पर रामदेव का प्रोग्राम देख रही थीं तो उन्‍होंने बताया कि रोजाना सिर्फ 5 मिनट सूर्य नमस्‍कार करने से ना केवल आप अपना वेट तेजी से कम कर सकती है बल्कि इससे महिलाओं को एनर्जी भी मिलती है और मानसिक तनाव भी दूर होता है। तब मुझे लगा कि एक बार ट्राई करके देखना चाहिए। और सच में कुछ दिनों रेगुलर करने में मुझे खुद में बदलाव महसूस होने लगा। अगर आप भी अपना वजन कम करना चाहती हैं लेकिन आपके पास एक्‍सरसाइज करने का टाइम नहीं हैं तो आप सिर्फ 5 मिनट इसे करके अपना वजन तेजी से कम कर सकती हैं। आइए जानें इस एक्‍सरसाइज को करने से आपको और कौन से फायदे मिल सकते हैं और इसे आप कैसे कर सकते हैं।  

सूर्य नमस्कार को एक संपूर्ण एक्‍सरसाइज माना जाता है। आप योग और एक्सरसाइज को बहुत ज्यादा टाइम नहीं दे पाती हैं तो सुबह सिर्फ 10 बार 5 मिनट तक सूर्य नमस्कार करने से भी आपकी बॉडी की एक्‍सरसाइज हो जाती हैं। इसमें कुल 12 आसन हैं जिन्हें करने न सिर्फ आपकी बॉडी एक्टिव रहती है। बल्कि पूरी बॉडी की एक्सरसाइज हो जाएगी। इससे बॉडी को एनर्जी मिलती है और मानसिक तनाव से मुक्ति मिलती है। यह इम्यून सिस्टम और हॉर्मोनल सिस्टम को बैलेंस करता है। 

इसे जरूर पढ़ें: करीना की तरह रहना चाहती हैं स्लिम, तो रोजाना सूर्य नमस्‍कार करें

इतना ही नहीं जो महिलाएं कमर में दर्द या मोटापे से परेशान है वह सूर्य नमस्‍कार को करके अपनी बॉडी को फिट रख सकती हैं। जी हां इसे करने से आपकी पूरी बॉडी की एक साथ एक्‍सरसाइज हो जाती है। इस तरह से हर तरह का दर्द दूर होता है और साथ ही साथ यह आपकी स्किन को भी ग्‍लोइंग बनाता है।

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by Shilpa Shetty Kundra (@theshilpashetty) onMar 31, 2019 at 10:33pm PDT

एक्‍सपर्ट की राय 

इस बारे में सर्वा योगा, माइंडफुलनेस एंड बियोंड के को फाउंडर श्री सर्वेश शशि का कहना हैं कि ''सूर्यनमस्कार से बॉडी की अच्छी स्ट्रेचिंग होती है, जिसका अर्थ है कि यह बॉडी के अधिकांश अंगों पर अपना असर दिखा रहा है। यह टखनों, पैरों और तलुओं को मजबूती देने के साथ, कार्डिएक मसल्स को मजबूत बनाता है। इन आसनों की शुरुआत और अंत हाथों को नमस्ते की मुद्रा से होती है, जोकि ब्रेन के दायें और बायें हिस्से को जोड़ता है। पेट की मसल्‍स की स्ट्रेच और प्रेशर से इस आसन की वजह से डाइजेशन बेहतर होता है और इससे आंतों की हेल्‍थ भी अच्‍छी होती है। साथ ही यह बॉडी को मुख्य हिस्सों से टोन होने के लिये तैयार करता है और उसके आस-पास के हिस्से के एक्‍स्‍ट्रा फैट को कम करने का काम करता है।''

सूर्य नमस्कार दिन के किसी भी समय किया जा सकता है, लेकिन इसे करने से पहले खाली पेट होना चाहिये। एक सेट में 13.90 कैलोरी बर्न होती है। हालांकि, आपको धीरे-धीरे शुरुआत करनी है, क्योंकि आपने इसका अभ्यास अभी शुरू किया है। इसे शुरू करने से पहले किसी मान्यता प्राप्त योगा एक्‍सपर्ट की सलाह ले लें।

सूर्य नमस्कार करते समय सावधानी

  • सुनिश्चित करें कि तनाव और ऐंठन से बचने के लिए इस आसन को करते समय आपका वजन समान रूप से वितरित हो।
  • भोजन के बाद सूर्य नमस्कार करने से बचें। कम से कम 2-3 घंटे तक प्रतीक्षा करें। इसके अलावा, एक्‍सरसाइज के तुरंत बाद पानी न पिएं।
  • जो महिलाएं हाई ब्लड प्रेशर की समस्या, हर्निया, स्पॉन्डिलाइटिस या आर्थराइटिस जैसी समस्याओं से पीड़ित हैं, उन्हें सूर्यनमस्कार का अभ्यास नहीं करना चाहिए। मसल्‍स पर अत्यधिक प्रेशर से समस्याएं हो सकती हैं।

अगर आपके पास एक्‍सरसाइज का समय नहीं है तो 5 मिनट सूर्य नमस्‍कार करकेे आप खुद को फिट रख सकती हैं।