कहते हैं कि पहला सुख निरोगी काया और हेल्दी रहने का सबसे पहला नियम होता है अपने खानपान पर ध्यान देना। हालांकि, अधिकतर लोग अपने खानपान को लेकर बहुत अधिक सजग नहीं रहते। यंग एज में वह अपनी हेल्थ को इग्नोर करते हुए सिर्फ टेस्ट बड को ही पैम्पर करते हैं।

यंग एज में हेल्थ प्रॉब्लम्स भी बहुत अधिक नहीं होती, लेकिन बाद में जब प्रॉब्लम्स शुरू होती है तो उन्हें कई तरह के आहार से ना चाहते हुए भी दूरी बनानी पड़ती है। ऐसे में बेहतर है कि आप यंग एज में ही अपनी डाइट पर ध्यान देना शुरू कर दें, ताकि आप लंबे समय तक बेहद आसानी से अपनी हेल्थ का ख्याल रख पाएं।

जी हां, यंग एज में आपको अपनी डाइट को थोड़ा सा मोडिफाई करने की जरूरत होती है। इसके बाद आप बेहद आसानी से अपने टेस्ट बड का ख्याल रखने के साथ-साथ अपनी हेल्थ का भी ख्याल रख पाती हैं। तो चलिए आज इस लेख में सेंट्रल गवर्नमेंट हॉस्पिटल के ईएसआईसी अस्पताल की डायटीशियन रितु पुरी आपको बता रही हैं कि आप यंग एज में अपनी डाइट में ऐसे कौन से बदलाव करें कि आप लंबे समय तक खुद को बेहद आसानी से हेल्दी रख पाएं-

ब्रेड या प्रोसेस्ड आइटम से बनाएं दूरी

diet changes for healthy life avoid breads

अगर आप नहीं चाहती हैं कि आपकी एजिंग स्पीड अप हो तो ऐसे में आप ब्रेड या अन्य कई तरह की प्रोसेस्ड आइटम को जहां तक हो सके, अपनी डाइट से बाहर ही रखें। यह भी आइटम्स आपको कम उम्र में ही बूढ़ा दिखाने लगते हैं।

diet changes for healthy life expert quote

होल ग्रेन व होल पल्सेस का करें सेवन

जहां तक संभव हो, आपको अपनी डाइट में होल ग्रेन व होल पल्सेस का सेवन अधिक से अधिक मात्रा में करना चाहिए। यह आपको लंबे समय तक हेल्दी रहने में मदद करेंगे। दरअसल, जैसे-जैसे आपकी उम्र बढ़ती है, आपकी बॉडी का मेटाबॉलिज्म स्लो होने लगता है। लेकिन अगर आप होल ग्रेन व होल पल्सेस का सेवन अधिक करती हैं तो इससे बॉडी के मेटाबॉलिज्म को बनाए रखने में मदद मिलती है। होल ग्रेन आपकी बॉडी को भीतर व बाहर दोनों से हेल्दी बनाता है।

फल व सब्जियों का अधिकाधिक सेवन

diet changes for healthy life veggies and fruits

अगर आप लंबे समय तक हेल्दी व यंग बने रहना चाहती हैं तो आपको फल व सब्जियों का अधिक से अधिक मात्रा में सेवन करना चाहिए। इनमें कई तरह के विटामिन्स व मिनरल्स होते हैं, जो आपकी बॉडी की पोषण संबंधी आवश्यकताओं को पूरा करने में मदद करते हैं। इसके अलावा, इनमें एंटी-ऑक्सीडेंट भी होते हैं, जो ना केवल आपकी स्किन को यंगर दिखाते हैं, बल्कि एजिंग प्रोसेस को भी स्लो करते हैं।

इसे भी पढ़ें: Food Hacks: इन टिप्‍स से सब्जियों और फलों को रखें फ्रेश, लंबे समय तक नहीं होगी खराब

 

हाई ग्लाइसेमिक इंडेक्स को खाएं कम

25 की उम्र के बाद बॉडी का मेटाबॉलिक रेट धीरे-धीरे कम होने लगता है। ऐसे में आप कोशिश करें कि हाई ग्लाइसेमिक इंडेक्स फूड को जहां तक संभव हो सके, इन्हें अवॉयड करें। इस एज के बाद लो ग्लाइसेमिक इंडेक्स फूड का सेवन करना अधिक अच्छा माना जाता है। हालांकि, अगर आप हाई ग्लाइसेमिक इंडेक्स फूड जैसे आलू, कॉर्न, अरबी खा रही हैं तो उसे बैलेंस करने के लिए साथ में सलाद या होल ग्रेन का सेवन अवश्य करें।

वाटर इनटेक हो अधिक

diet changes for healthy life more water

यूं तो पानी पर्याप्त मात्रा में पीना हर किसी के लिए आवश्यक है। लेकिन जब आपकी उम्र बढ़ने लगती है तो शरीर की पानी संबंधी आवश्यकताएं भी बढ़ जाती है। ऐसे में बीमारियों से दूर रहने के लिए और अधिक हेल्दी बने रहने के लिए वाटर इनटेक का अच्छा होना बेहद ही आवश्यक है। आप अपनी बॉडी वेट के हिसाब से 1 एमएल वाटर प्रति किलो का सेवन करके खुद को हेल्दी और अधिक एक्टिव बनाए रख सकती हैं।

इसे भी पढ़ें: ये 5 देसी सुपरफूड्स 1 महीने तक खाएंगी तो बीमारी को भूल जाएंगी

Recommended Video


इन फूड्स का जरूर करें सेवन

यह भी जरूरी है कि आप अपने फूड आइटम्स को समझदारी से चुनें। मसलन, आप कैल्शियम, विटामिन बी12 और विटामिन डी रिच फूड खाएं। खासतौर से, एक महिला को अपनी बोन डेंसिटी का विशेष रूप से ख्याल रखना होता है। ऐसे में इन पोषक तत्वों का आपकी बॉडी में सही मात्रा में होना आवश्यक है।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

 

Image Credit: Freepik