• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

अगर रोज़ सुबह उठने पर नहीं होता पेट साफ तो ये हो सकती है समस्या

अगर रोजाना सुबह उठकर आपकी ये समस्या होती है कि आपका पेट ठीक से साफ नहीं होता और पूरा दिन खराब हो जाता है तो आप ये टिप्स अपना सकते हैं। 
author-profile
Published -23 Jul 2022, 15:30 ISTUpdated -24 Jul 2022, 11:14 IST
Next
Article
How constipation can create problems

सुबह-सुबह मूड खराब करने वाली सबसे बड़ी समस्या क्या होती है? अगर आपको कब्ज की समस्या है तो सुबह से ही दिन खराब होना शुरू हो जाता है। अगर बात की जाए कॉन्स्टिपेशन की तो कई लोग ऐसे होते हैं जिन्हें हमेशा ही ये समस्या बनी रहती है। ऐसे में क्या किया जाए? आयुर्वेद में कॉन्स्टिपेशन को कम करने के लिए कई ऑप्शन्स होते हैं और ऐसे में अगर आपको भी ये समस्या है तो आज हम उसी के बारे में बात करने जा रहे हैं। 

आयुर्वेदिक डॉक्टर दीक्षा भावसार ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर कॉन्स्टिपेशन से जुड़ी समस्याओं के बारे में एक पोस्ट शेयर किया है। उनके अनुसार कॉन्स्टिपेशन का मुख्य कारण इम्बैलेंस और वात दोष के कारण होता है। 

कॉन्स्टिपेशन के क्या हैं मुख्य कारण?

डॉक्टर दीक्षा ने ये बताया है कि हमें कॉन्स्टिपेशन की समस्या होने के ये सारे कारण अहम होते हैं। 

different ways constipation can create problems

इसे जरूर पढ़ें- ये सुपरफूड बढ़ती उम्र में भी त्‍वचा को रखेगा बेदाग, बस ऐसे करें इस्‍तेमाल 

  • ठीक से खाना नहीं खाना
  • ठीक से पानी नहीं पीना
  • जरूरत से ज्यादा सूखा, ठंडा, तीखा या फ्राई फूड खाना
  • खाने में कम फाइबर खाना
  • सही मेटाबॉलिज्म नहीं रखना
  • सही स्लीप पैटर्न नहीं रखना
  • डिनर ठीक समय पर नहीं करना
  • ठीक लाइफस्टाइल ना रखना 

क्या कॉन्स्टिपेशन के लिए गोलियां खाना या फाइबर लेना सही है? 

डॉक्टर दीक्षा के मुताबिक लैक्सेटिव लेना या गोलियां खाना किसी चीज़ का परमानेंट सॉल्यूशन नहीं है और ऐसे में आपका इंटेस्टाइन बहुत ज्यादा खराब भी हो सकता है। ये काफी अनहेल्दी हो सकता है और इससे परमानेंट समस्याएं भी हो सकती हैं।  

अपने किचन के ये फूड्स करें ट्राई 

अगर आपको कॉन्स्टिपेशन की समस्या बहुत ज्यादा होती रहती है तो आप अपने किचन में मौजूद ये इंग्रीडिएंट्स इस्तेमाल कर सकते हैं।  

1. रात भर भीगी हुई किशमिश 

काली किशमिश को रात भर पानी में भिगो कर रखें और फिर इसे सुबह खाली पेट खाएं। अगर आप सूखे हुए खाने को भिगोकर रखते हैं तो ये वात दोष को कम करने में बहुत मदद करता है और गैस्ट्रिक इश्यू को भी कम करता है। इससे ये आसानी से डाइजेस्ट भी हो जाता है। ये फाइबर से भरपूर होती हैं और ऐसे में आपका कॉन्स्टिपेशन क्लियर करने में बहुत मदद कर सकती हैं।  

अगर आपको पित्त की समस्या भी है तो ये बहुत ही अच्छी साबित हो सकती है।  

2. भीगे हुए मेथी सीड्स  

रात भर भिगोए हुए मेथी सीड्स भी आपके कब्ज को ठीक करने के लिए बहुत ही ज्यादा असरदार साबित हो सकते हैं। 1 छोटा चम्मच मेथी सीड्स को आप रात भर भिगो कर रखें और सुबह पहली चीज़ यही खाएं। अगर आप चाहें तो मेथी सीड्स की जगह पाउडर का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। इसे आप रात में सोने से पहले गुनगुने पानी के साथ भी ले सकते हैं। ये उन लोगों के लिए अच्छा साबित हो सकता है जिन्हें वात और कफ का दोष होता है। हां, अगर आपको ज्यादा पित्त की समस्या है यानी बॉडी हीट ज्यादा होती है तो इसे अवॉइड करना चाहिए। 

 

3. आमला शॉट  

अगर आपको कब्ज की समस्या है तो आंवला असल में सबसे अच्छा लैक्सेटिव साबित हो सकता है। ये सिर्फ कब्ज ही नहीं बल्कि अन्य समस्याएं जैसे बालों का झड़ना, ग्रे बालों का होना, वजन कम करना आदि के लिए भी मदद कर सकता है. ये सुबह खाली पेट खाने के लिए बहुत अच्छा है और आप इसे पाउडर के फॉर्म में या फिर इसे फ्रूट के फॉर्म में ले सकते हैं। ये आपकी सुविधा के हिसाब से ले सकते हैं।  

ये वात, कफ, पित्त तीनों दोषों को खत्म करने में बहुत मदद कर सकता है।  

इसे जरूर पढ़ें- शरीर में रहती है हमेशा थकावट तो इन हर्ब्स को करें अपनी डाइट में शामिल 

4. गाय का दूध 

अगर बात कब्ज की हो तो शुद्ध गाय का दूध आपके लिए नेचुरल लैक्सेटिव साबित हो सकता है। ये बच्चों और सीनियर सिटिज़न्स के लिए बहुत ही अच्छा साबित हो सकता है। हां, ये प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए भी अच्छा हो सकता है। रात में सोने से पहले गुनगुना गाय का दूध अगर आप पिएं तो ये बहुत ही अच्छा साबित हो सकता है। ये उन लोगों के लिए अच्छा है जिन्हें पित्त दोष की समस्या ज्यादा है।  

5. गाय का घी 

अगर आपके मेटाबॉलिज्म को सुधारने के लिए कुछ अच्छा हो सकता है तो वो है गाय का घी। A2 गाय का घी आपका मेटाबॉलिज्म इम्प्रूव करता है। इसी के साथ, इसमें फैट सॉल्युबल विटामिन्स होते हैं जैसे विटामिन-ए, विटामिन-डी, विटामिन-ई, विटामिन-के और ये आंतों को बेहतर बनाता है।  ध्यान रहे कि आप भैंस का घी ना खाएं बल्कि सिर्फ गाय का घी ही खाएं। ध्यान रखें कि ए2 गाय के घी में सबसे ज्यादा फायदा होता है। 1 छोटा चम्मच गाय का घी गुनगुने गाय के दूध के साथ पिएं तो ये क्रॉनिक कॉन्स्टिपेशन के लिए सबसे अच्छा होता है।  

अगर आपको हेल्थ से संबंधित कोई समस्या है तो कोई भी नुस्खा आजमाने से पहले अपने डॉक्टर से बात जरूर करें। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी है तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।  

Image Credit: Freepik

 
Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।