सर्दियों में आपकी भी कुछ चटपटा खाने की इच्‍छा हो रही हैं? तो भोजन के साथ घर के बने अचार से बेहतर क्या हो सकता है, जो न केवल आपकी लालसा को तृप्त करेगा बल्कि समग्र स्वास्थ्य के लिए भी अच्‍छा है। जी हां, रुजुता दिवेकर ने हमें सर्दियों के जरूरी व्यंजन - अचार की याद दिलाई। अपने भोजन को मसालेदार, तीखा स्वाद देने और इसके स्वाद को बढ़ाने के अलावा, अचार के कई अन्य स्वास्थ्य लाभ भी हैं। आइए इसके बारे में बॉलीवुड सेलेब्‍स की न्‍यूट्रिशनिस्‍ट रुजुता दिवेकर से विस्‍तार में जानते हैं।

एक्‍सपर्ट ने बताए अचार के फायदे

एक इंस्टाग्राम पोस्ट में अचार की फोटो शेयर करते हुए उन्‍होंने कैप्‍शन में लिखा, 'उत्तर भारत के मेहनती किसानों ने अपनी सर्दियों की सब्जियों की कटाई की और अपने जीवन काल और पोषक तत्वों को बढ़ाने के लिए उन्हें सर्दियों के अचार में बदल दिया।' 

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by Rujuta Diwekar (@rujuta.diwekar)

उन्होंने आगे लिखा, 'सर्दियों का अचार कम रेटिंग वाला, कम मूल्यवान, कम इस्तेमाल किया जाने वाला व्यंजन है, जो त्वचा, आंत और जोड़ों के दर्द को ठीक कर सकता है। हाथ से कुचले हुए सरसों के बीज को सही मात्रा में लेना श्वसन संबंधी विकारों के खिलाफ पारंपरिक उपचारों में से एक है।' 

'शलगम, गाजर और फूल गोभी को धूप में रखना और फर्मेंटेड करना, पोषण की आधुनिक दुनिया प्री, प्रो और पोस्ट बायोटिक्स के रूप में (और बाद में उपयुक्त भी हो सकती है) सराहना है। यह खाद्य पदार्थ आपकी थाली में अवश्य होना चाहिए। परांठे, दाल चावल और खिचड़ी के साथ अच्छा लगता है।'

खाया क्या अभी तक?

अचार आपके नियमित भोजन के स्वाद में तुरंत इजाफा कर सकता है। नहीं? लेकिन, घर के बने अचार जैसा कुछ नहीं। याद रखें कि कैसे हमारी दादी-नानी घर पर स्वादिष्ट अचार बनाती थीं, खासकर सर्दियों के मौसम में।

खैर, आज किसी के पास इतना समय नहीं है कि वह घर पर अचार बना सके और यही कारण है कि ज्यादातर लोग इसे बाजार से खरीदना पसंद करते हैं। हालाँकि, यहाँ मेरे पास आपके लिए एक झटपट गाजर और फूलगोभी का अचार बनाने की विधि है जो स्वादिष्ट बनती है।

इसे जरूर पढ़ें:घर का बना अचार रोजाना खाएं, स्वाद के साथ अच्छी सेहत भी पाएं

इससे पहले भी रुजुता ने अपने इंस्टाग्राम पर अचार के बारे में विस्तार से बताया था। उन्होंने कैप्‍शन लिखा है, 'अचार बनाना एक पारंपरिक कला है और साइंस भी है, जिसके जरिए सब्जियों और फ्रूट्स को पूरे साल इस्तेमाल किया जाता है। हमारी दादी और नानी अपने आस-पास कुदरती तौर पर मिलने वाली चीजों को इस्तेमाल करती थीं।'  

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by Rujuta Diwekar (@rujuta.diwekar)

'नमक, मसाले और धूप के जरिए इन फूड आइटम्स को स्‍टोर किया जाता था और इससे उनके पोषक तत्‍व भी बढ़ जाते हैं। उन्होंने कई तरह के एक्सपेरिमेंट किए और हमें अचार का गिफ्ट दिया, जो मॉडर्न न्यूट्रिशन साइंस में विटामिन-के, विटामिन-ए, प्रोबायोटिक बैक्टीरिया आदि का अच्छा स्रोत माना जाता है, जिससे शरीर को कई फायदे होते हैं। इसके फायदे और भी हैं, जैसे इससे खाने का टेस्ट बढ़ जाता है।'

अचार के अन्‍य फायदे

  • यह शरीर की पाचन प्रक्रियाओं में मदद करते हैं।
  • यह विटामिन्‍स, मिनरल्‍स और एंटीऑक्सीडेंट का एक विश्वसनीय स्रोत हैं।
  • यह शरीर को स्वस्थ बैक्टीरिया प्रदान करते हैं जिससे शरीर के लिए बी12 जैसे विटामिन का उत्पादन करना आसान हो जाता है।
  • यह सुनिश्चित करते हैं कि आपकी आंत रोगजनकों या खराब बैक्टीरिया द्वारा उपनिवेशित नहीं है।

Recommended Video

गोभी, गाजर और शलजम के अचार की सामग्री

  • गाजर- 500 ग्राम 
  • फूलगोभी- 500 ग्राम 
  • शलजम- 500 ग्राम 
  • सरसों का तेल- 12 बड़े चम्मच 
  • अदरक का पेस्ट- 6 बड़े चम्मच 
  • लहसुन का पेस्ट- 4 बड़े चम्मच 
  • सरसों के बीज (पाउडर)- 1 1/2 बड़ा चम्मच 
  • लाल मिर्च पाउडर- 1 1/2 बड़ा चम्मच 
  • गरम मसाला पाउडर- 1 1/2 बड़ा चम्मच 
  • कद्दूकस गुड़- 1 कप 
  • नमक- 2 बड़े चम्मच 
  • सिरका- 3 बड़े चम्मच

विधि

turnip carrot and cauliflower pickle benefits

  • सबसे पहले गाजर, शलजम और फूलगोभी को धो लें। 
  • गाजर और शलजम छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लें और फूलगोभी के फूलों को अलग कर लें।
  • अदरक और लहसुन का पेस्ट लें या अदरक और लहसुन को दरदरा पीस लें और फिर इस्तेमाल करें।
  • एक पैन में अदरक, लहसुन, और रंग बदलने तक भूनें।
  • इसके बाद इसमें राई का पाउडर, लाल मिर्च पाउडर, गरम मसाला पाउडर डालें और अच्छी तरह मिलाएं।
  • गुड़ और नमक डालें और फिर से मिलाएं।
  • गाजर, शलजम और फूलगोभी डालें और 3-5 मिनट तक पकाएं।
  • पैन को आंच से उतार लें और मिश्रण को ठंडा होने दें। 
  • सिरका डालें और अच्छी तरह मिलाएं।
  • यह स्वादिष्ट अचार कुछ मिनटों में बनकर तैयार हो जाता है और परांठे के साथ बहुत ही स्वादिष्ट लगता है।
  • अचार को साफ कन्टेनर में निकाल लीजिए। इसे एक साल तक रखा जा सकता है।

आपको यह आर्टिकल कैसा लगा? हमें फेसबुक पर कमेंट करके जरूर बताएं। इस तरह की और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें। 

Article Credit: Instagram
Image Creidt: Shutterstock