हमारे स्वास्थ्य के लिए सबसे अच्छा खाना घर का बना खाना ही होता है। घर के बने खाने में हमें प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, विटामिन, खनिज और जस्ता जैसे महत्वपूर्ण पोषक तत्व मिलते हैं। वहीं जब ऐसे कोरोना काल में प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाने के बातें हो रही हैं, तो भी घर का बना खाना खाने के सलाह ही मिल रही है। अपने शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए आप कई फूड आइटम्स का सेवन कर रही होंगी, इसी बीच अगर कुछ साउथ इंडियन मील्स को भी अपनी डाइट में शामलि करेंगी तो आपको फायदा ही मिलेगा। हम बताने जा रहे हैं आपको ऐसे ही 5 दक्षिण भारतीय भोजन के बारे में जिनसे आप इम्यूनिटी बढ़ा सकती हैं।

कर्ड राइस/दही-चावल

curd rice

दही जिंक का बेहतरीन स्रोत है। इसमें मौजूद एक्टिव और गुड बैक्टीरिया आपके गट के स्वास्थ्य के लिए अच्छे होते हैं। और यह आपके इम्यून सिस्टम और बीमारियों से लड़ने में मदद करते हैं। एक हेल्दी गट का मतलब है एक मजबूत इम्यून सिस्टम। कर्ड राइस दक्षिण भारत में हर घर में खाया जाता है और इतना ही नहीं इसे सुपरफूड कहा जाता है, जो प्रोटीन, कैल्शियम की अच्छी मात्रा होती है। आप अपने कर्ड राइस में कड़ी पत्ता, खीरा, अनारदाना डालकर भी खा सकती हैं और चाहें तो दही और चावल में हल्का सेंधा नमक डालकर भी खा सकती हैं। 

बिसि बेले भात

bisi bele bhat

कैसा भी मरीज हो उसे खिचड़ी देने की सलाह दी जाती है। पचने में आसान और इसका प्रोटीन से भरपूर के कारण यह शरीर को सभी जरूरी तत्व देती है, इसलिए इसे one-pot मील कहा जाता है। इस खिचड़ी को मैसूर पैलेस में सबसे पहले बनाया गया था, जिसमें तमाम सब्जियां, दालें, चावल और मसाले डालकर डाले जाते हैं। इस मील में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, विटामिन और मिनरल्स होते हैं, जो इम्यूनिटी को भी मजबूत बनाता है। पोषक तत्वों से भरपूर यह मील पेट के लिए भी अच्छी है।

इसे भी पढ़ें :ये 5 बड़े फायदे देता है आपका पसंदीदा फूड डोसा

रसम राइस

tasty rasam rice

टमाटर, हल्दी, लहसुन और अदरक से बना रसम भारत में सबसे सरल लेकिन स्वादिष्ट व्यंजनों में से एक है। क्या आपको पता है यह रसम यूएसए की गलियों में भी घूम चुका है। दरअसल, तमिलनाडु के एक शेफ ने हल्दी, लहसुन और अदरक जैसे इम्यूनिटी बूस्टिंग चीजों से मिलाकर इसे बनाया और यूएसए के कोविड मरीजों को दिया। बस, तब से यह डिश इम्यूनिटी बूस्टिंग सूप के नाम से लोकप्रिय हो गई। इसे चावल, पापड़ और थोड़े से अचार के साथ इसका आनंद ले सकती हैं। 

इसे भी पढ़ें :ये 5 लक्षण बताते हैं कि आप नहीं लें रही हैं सही डाइट, इसे तुरंत बदलने की है जरूरत

Recommended Video

अप्पम और चिकन स्टू

appam

चावल हो या रोटी या फिर अप्पम इन सबके साथ चिकन बहुत अच्छा लगता है। पोल्ट्री फूड जिंक, प्रोटीन और विटामिन से भरपूर होते हैं। जिंक युक्त खाद्य पदार्थों में प्रतिरक्षा-पोषक तत्व होते हैं जो आपके शरीर को वायरल संक्रमण से लड़ने में मदद करेंगे। केरला का चिकन स्टू और अप्पम एक कम्फर्ट मील है, जो आपकी बॉडी को गर्म रखते हैं। इसे कोकोनट ग्रेवी में बनाया जाता। अप्पम भी एकदम पतले होते हैं, जिन्हें आसानी से खाया जा सकता है। इसलिए इन दोनों को कंबाइन करके खाने का अलग ही मजा है, आप इसके साथ पापड़ भी रख सकती हैं।

रागी डोसा

रागी पोषण तत्वों से भरपूर आहार है। इसमें भरपूर मात्रा में कैल्शियम, विटामिन्स, डाइटरी फाइबर, और कार्बोहाइड्रेट्स होते हैं। रागी में कैल्शियम भी होता है,जो आपकी हड्डियों को भी मजबूत करने में भी मददगार है। वहीं इसमें मौजूद फाइबर आपके पाचन तंत्र को दुरुस्त रखता है, इसलिए इसका दोसा बनाकर आप अपनी मनपसंद चटनी के साथ खा सकती हैं। खून की कमी को पूरा करने के लिए भी रागी डोसा का सेवन किया जा सकता है। इसलिए रागी का डोसा अपने आहार में जरूर शामिल करें और बीमारियों से दूर रहें।

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे लाइक और शेयर जरूर करें। साथ ही ऐसे अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी के साथ।

Image Credit : shutterstock and freepik images