स्पंज गॉर्ड को विभिन्न देशों में विभिन्न नामों से जाना जाता है, लेकिन आमतौर पर इसे स्पंज लौकी, रिज लौकी, तुरई, तुरिया और पटोला के नाम से जाना जाता है। यूं तो तुरई की खेती दुनिया भर में की जाती है, लेकिन ज्यादातर एशिया में विशेष रूप से भारत, चीन, फिलीपींस और फिर मध्य पूर्व और यहां तक कि संयुक्त राज्य अमेरिका में भी की जाती है।

यह बेलनाकार होती है, जिसकी पतली और चिकनी हरी त्वचा, सफेद मांस और चपटे अंडाकार बीज होते हैं। इसका स्वाद काफी हद तक तोरी से मिलता जुलता है। स्पंज लौकी का इस्‍तेमाल आमतौर पर एशियाई खाना पकाने और इसके हीलिंग गुणों के कारण कब्ज, ब्‍लड शुगर को कम करने, हाइपोग्लाइसीमिया, डिटॉक्सिंग आदि जैसी कई स्वास्थ्य समस्याओं को दूर करने के लिए किया जाता है।

तुरई में विभिन्न एंटीऑक्सीडेंट, मिनरल्‍स, विटामिन्‍स, पोषक तत्व और लिपिड होते हैं। यह विटामिन-ए और कार्बोहाइड्रेट का बहुत अच्छा स्रोत है। यह विटामिन-बी5, विटामिन-बी6, विटामिन-सी, मैंगनीज, पोटैशियम, आयरन, मैग्नीशियम, कॉपर और संपूर्ण आहार फाइबर का भी एक बड़ा स्रोत है। तुरई में कई औषधीय गुण होते हैं। यह कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि इसका उपयोग विभिन्न स्वास्थ्य बीमारियों के इलाज के लिए क्यों किया जाता है।

भाग्‍यश्री ने बताए तुरई के फायदे 

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by Bhagyashree (@bhagyashree.online)

बॉलीवुड की फेमस एक्‍ट्रेस भाग्‍यश्री भी इसके फायदों के बारे में जानती हैं और उन्‍होंने कुछ दिनों पहले अपने इंस्‍टाग्राम के माध्‍यम से फैन्‍स के साथ ए‍क वीडियो शेयर करके इसके फायदों के बारे में बताया था। उन्‍होंने कैप्‍शन में लिखा, ''होममेड स्पंज लौकी, यह पानी से भरपूर सब्जी है और इसे हर किसी को अपने साप्ताहिक भोजन योजना में शामिल करना चाहिए। इस सब्जी में विटामिन-ए, सी, पोटेशियम, मैंगनीज और फाइबर भरपूर मात्रा में होता है, लेकिन कैलोरी की मात्रा बहुत कम होती है।'' 

आगे उन्होंने लिखा, ''डायबिटीज रोगियों, हृदय रोगियों और वजन पर नजर रखने वालों के लिए एक आदर्श भोजन स्रोत है। पीरियड्स में आने वाली समस्याओं से परेशान महिलाओं के साथ-साथ ब्रेस्‍टफीडिंग कराने वाली माताओं को भी इससे काफी फायदा हो सकता है। यह पकाने में बहुत ही आसान होती है और जल्दी पक जाती है। सलाद, सूप, भारतीय मसालों के साथ भूने या चाट मसाला के साथ दोपहर के भोजन के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता है।'' आइए इसके फायदों के बारे में विस्‍तार से जानें।

इसे जरूर पढ़ें:एनीमिया दूर करने से लेकर वेट लॉस तक तोरई के हैं ये 5 फायदे, आप भी जानें

इम्‍यून सिस्‍टम को बढ़ाती है

sponge gourd for immunity

तुरई से निकाला गया रस आपके शरीर में रक्षा तंत्र को कंडीशनिंग करने में मदद कर सकता है और इससे संक्रमण और वायरस से बेहतर तरीके से लड़ने में मदद मिलती है।

कार्डियोवैस्कुलर स्वास्थ्य में करती है सुधार

तुरई में विटामिन-बी5 की अच्छी मात्रा होती है, जो खराब कोलेस्ट्रॉल के लेवल को कम करने के साथ-साथ ट्राइग्लिसराइड्स को कम करने में सहायक होती है। यह हृदय रोगों की संभावना को भी कम करती है।

डायबिटीज होती है कंट्रोल

sponge gourd diabetes

तुरई में मैंगनीज पाचन एंजाइमों के उत्पादन के लिए एक आवश्यक घटक है, जो ग्लूकोनोजेनेसिस नामक प्रक्रिया के लिए जिम्मेदार है। मैंगनीज इंसुलिन के स्राव को बढ़ावा देने, लिपिड पेरोक्सीडेशन को कम करने और माइटोकॉन्ड्रियल फ़ंक्शन को बढ़ाने में मदद करता है।

Recommended Video

एनीमिया का करती है इलाज

तुरई में हाई मात्रा में विटामिन-बी6 होता है, जो ब्‍लड में हीमोग्लोबिन के उत्पादन के लिए आवश्यक होता है। यह कोशिकाओं तक ऑक्सीजन पहुंचाने और आयरन को जुटाने में मदद करता है। विटामिन-बी6 का पर्याप्त सेवन एनीमिया के लक्षणों को कम करने में मदद करता है और इसे होने से रोकता है।

इसे जरूर पढ़ें:गोभी-बैंगन नहीं बल्कि गर्मियों में खानी चाहिए ये सब्जियां

वेट लॉस में मददगार

sponge gourd for weight loss

तुरई में संतृप्त वसा बहुत कम होती है। साथ ही इसमें उचित मात्रा में कैलोरी होती है और इसमें पानी की मात्रा अधिक होती है जो आपके वजन घटाने के कार्यक्रम को प्रबंधित करने में फायदेमंद होती है।

आप भी यह सारे फायदे पाने के लिए अपनी डाइट में तुरई को शामिल कर सकती हैं। डाइट से जुड़ी और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें।