आमतौर पर हरी पत्तियां सेहत के लिए फायदेमंद होती हैं और इनका भरपूर मात्रा में उपयोग करना कई स्वास्थ्य समस्याओं से भी निजात दिलाता है। हरी पत्तेदार सब्जियों में से मुख्य रूप से पालक, मेथी, बथुआ और सरसों हैं लेकिन कुछ ऐसी भी हरी पत्तेदार सब्जियां हैं जो हमारी सेहत के लिए बेहद फायदेमंद भी हैं और उनके बारे में शायद आप बहुत कम जानते हैं। ऐसी ही हरी पत्तेदार सब्जियों में से एक है कुल्फ़ा की पत्तियां।

दिखने में कुछ -कुछ मेथी की पत्तियों की तरह लगने वाली ये कुल्फ़ा की हरी पत्तियां मुख्य रूप से सेहत के लिए बेहद फायदेमंद हैं। आइए जानी मानी डॉक्टर आकांक्षा अग्रवाल (BHMS), नई दिल्ली से जानें इन हरी पत्तियों के कुछ फायदों, स्वस्थ लाभ और इनमें मौजूद पोषक तत्वों के बारे में। 

दिल की सेहत के लिए 

healthy heart kulfa

ओमेगा -3 फैटी एसिड शरीर में एलडीएल (खराब) या खराब कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम करने में मदद करता है और साथ ही कोलेस्ट्रॉल के संतुलन को बढ़ावा देने में मदद करता है। कुल्फ़ा की पत्तियों में मौजूद पोषक तत्त्व जिसमें मुख्य रूप से ओमेगा 3 मौजूद होता है। ह्रदय सम्बन्धी कई समस्याओं से निजात दिलाता है। 

इसे जरूर पढ़ें:जानें हरे प्याज़ के कुछ ऐसे फायदे जो आपने पहले नहीं सुने होंगे, डाइट में जरूर करें शामिल

एंटी कैंसर गुणों से भरपूर 

विशेष रूप से, अन्य जड़ी-बूटियों की तुलना में कुल्फ़ा की पत्तियां एंटीऑक्सीडेंट में अधिक प्रभावी होती हैं। जो मानव विकास और विकास के साथ-साथ कैंसर जैसे रोग की रोकथाम में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं। इसे अपने नियमित आहार में शामिल करने से कैंसरस सेल्स को कम करने में मदद मिलती है। इसे आप किसी न किसी रूप में अपने आहार में जरूर शामिल करें। विटामिन ए से भरपूर कुल्फ़ा का जूस मौखिक गुहा कैंसर से बचाने में मदद करने के लिए जाना जाता है।

हड्डियों को मजबूत बनाए 

bones health

कुल्फ़ा की पत्तियों में हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए कैल्शियम, मैग्नीशियम, आयरन जैसे महत्वपूर्ण पोषक तत्व होते हैं, इसलिए इसका सेवन ऑस्टियोपोरोसिस को रोकने में मदद कर सकता है। यही नहीं इन पोषक तत्वों से भरपूर पत्तियों को आहार में शामिल करने से हड्डियों से संबंधित कई समस्याओं से निजात पाया जा सकता है। 

मधुमेह रोगियों के लिए 

कुछ रिपोर्टों और अध्ध्यनों के अनुसार कुल्फ़ा की पत्तियों का सेवन शरीर में ग्लूकोज़ और रक्त में शर्करा की मात्रा को नियंत्रित करने में मदद करता है। इन पत्तियों को आहार में शामिल करने से मधुमेह जैसी बीमारी को नियंत्रित किया जा सकता है। 

आंखों की दृष्टि बढ़ाए

eye sight 

विटामिन-ए और बीटा-कैरोटीन से भरपूर प्राकृतिक सब्जियों और फलों का सेवन करना आंखों की सेहत और दृष्टि में सुधार करने के लिए जाना जाता है। कुल्फ़ा की पत्तियों में भरपूर मात्रा में विटामिन ए पाया जाता है जो आंखों के स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभकारी है। 

इसे जरूर पढ़ें:सेहत के लिए रामबाण है मेथी की पत्तियों का इस्तेमाल, मास्टर शेफ कविराज खियालानी से जानें इसके फायदे

Recommended Video

कैसे करें इस्तेमाल 

कुल्फ़ा की पत्तियों को साग के रूप में या दाल के साथ पकाकर इस्तेमाल में लाया जा सकता है। इन पत्तियों का खट्टा नमकीन स्वाद इन्हें स्वाद से भरपूर बनाता है इसलिए इन पत्तिओं को चटनी या सलाद की तरह भी इस्तेमाल किया जा सकता है। 

बरतें ये सावधानी 

kulfa leaves

यदि आप गर्भावस्था में इन पत्तियों का इस्तेमाल कर रही हैं तो इनके इस्तेमाल से पहले चिकित्सक की सलाह जरूर लें। इसके अलावा पथरी की समस्या से पीड़ित लोगों को इसका सेवन कम मात्रा में करना चाहिए क्योंकि इनमे ऑक्सालेट नामक तत्व पाए जाते हैं जो किडनी की पथरी के मरोज़ों के लिए हानिकारक साबित हो सकते हैं। यदि ऐसे लोग इन पत्तियों का इस्तेमाल कर भी रहे हैं तो उन्हें ये पत्तियां उबालकर या अच्छी तरह पकाकर ही खानी चाहिए जिससे ऑक्सालेट की मात्रा कम हो सके। 

कुल्फ़ा की पत्तियों के सेहत के लिए बहुत से फायदे हैं। इसलिए आप किसी न किसी रूप में इनका स्वाद जरूर उठाएं ,लेकिन स्वास्थ्य सम्बन्धी कोई भी समस्या होने पर इनके इस्तेमाल से पहले डॉक्टर या विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें। 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik