• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

मां के दूध की तरह ही लाभदायक होती है खीस, जानिए इसके फायदे

अगर आपने अभी तक खीस को नहीं चखा है, तो आज इसके कुछ बेमिसाल फायदों के बारे में जान लीजिए।   
author-profile
  • Mitali Jain
  • Editorial
Published -02 Jun 2022, 16:26 ISTUpdated -04 Jun 2022, 12:42 IST
Next
Article
diet benefits of curdled milk

खीस शब्द शायद बहुत से लोगों के लिए नया हो, लेकिन वास्तव में यह सेहत के लिए किसी अमृत से कम नहीं है। खीस को गाय के दूध की मदद से तैयार किया जाता है और यह मां के दूध के समान की लाभदायक होती है। जिस तरह जब एक स्त्री बच्चे को जन्म देती है तो उसका पहला हल्का पीला दूध बच्चे को सर्वाधिक लाभ प्रदान करता है। ठीक उसी तरह खीस से भी हेल्थ बेनिफिट्स मिलते हैं। 

दरअसल, बछड़े को जन्म देने के बाद खीस गाय या भैंस के पहले दूध से बनाई जाती है जो वह बछड़े को जन्म देने के 2-3 दिनों के भीतर देती है। इस दूध में कोलोस्ट्रम होता है, जिसके कारण यह दूध सर्वाधिक लाभदायक माना जाता है। कोलोस्ट्रम में एंटीऑक्सीडेंट और एंटीबॉडी की मात्रा अधिक होती है। जो बैक्टीरिया और वायरल संक्रमणों के खिलाफ शरीर के इम्युन सिस्टम को मजबूत बनाते हैं। विशेष रूप से, बच्चों को तो इसे अवश्य दिया जाना चाहिए, क्योंकि अमूमन उनका इम्युन सिस्टम उतना मजबूत नहीं होता है। जब इस दूध को उबाला जाता है, तो इसका स्वाद व टेक्सचर दोनों ही पनीर जैसे नजर आते हैं।

तो चलिए आज इस लेख में  सेंट्रल गवर्नमेंट हॉस्पिटल के ईएसआईसी अस्पताल की डायटीशियन रितु पुरी आपको खीस से मिलने वाले कुछ हेल्थ बेनिफिट्स के बारे में बता रही हैं-

इस दूध में प्रोटीन, मैग्नीशियम, विटामिन और खनिजों के अलावा लैक्टोफेरिन भी होता है, जिसके कारण यह रेग्युलर मिल्क से कहीं अधिक पौष्टिक होता है।

रेग्युलर मिल्क से कहीं अधिक पौष्टिक

नियमित दूध के फायदों से तो हर कोई वाकिफ है, लेकिन खीस इन सबसे बढ़कर है। दरसअल, यह प्रोटीन, मैग्नीशियम, विटामिन और खनिजों में बहुत समृद्ध है। इतना ही नहीं, इसमें लैक्टोफेरिन भी होता है, जो हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली को बीमारियों से लड़ने में मदद करता है। जिसके कारण व्यक्ति लंबे समय तक स्वस्थ रहता है। छोटे बच्चों के लिए तो इसे रामबाण माना जाता है।

इसे जरूर पढ़ें- 1 साल के बच्चे का कैसा होना चाहिए डाइट चार्ट, डायटीशियन से जानें पोषण से भरपूर फूड लिस्ट 

दस्त की समस्या को करे दूर

खीस को पाचन तंत्र के लिए काफी अच्छा माना जाता है। यह आपके गट को हेल्दी बनाता है और पेट से जुड़ी समस्याओं को दूर करता है। जैसे दस्त को दूर करने के लिए खीस का सेवन किया जा सकता है। इस दूध में एंटीबॉडी और प्रोटीन प्रचुर मात्रा में होता है, इसलिए जब खीस का सेवन किया जाता है, तो इससे दस्त का इलाज तो होता ही है, साथ ही बार-बार होने वाली दस्त की समस्या से भी मुक्ति मिलती है।

cow milk khees for diet

मधुमेह रोगियों के लिए फायदेमंद

आमतौर पर, खीस बनाते समय उसमें स्वीट कंटेंट शामिल किया जाता है, लेकिन अगर इसमें चीनी को शामिल ना किया जाए तो यह मधुमेह रोगियों के लिए बेहद ही लाभदायक है। खीस शरीर में इंसुलिन के स्तर को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है। दूध में कोलोस्ट्रम ग्लूकोज के यूटिलाइजेशन में सुधार करता है जो रक्त में शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में मदद करता है। जिसके कारण मधुमेह रोगियों की स्थिति में सुधार होता है।

Recommended Video

इसे जरूर पढ़ें- पांच से दस साल तक की उम्र के बच्चों को अवश्य खिलाएं ये फूड्स 

ऐसे तैयार करें खीस 

गाय व भैंस के दूध से खीस बनाना बेहद ही आसान है। इसके लिए, सबसे पहले पैने में दूध डालें और उसे गरम करने के लिए रखने दें। अब आप अपने टेस्ट के अनुसार इसमें चीनी या गुड़ डालें। साथ ही, इसके स्वाद को बढ़ाने के लिए इलायची पाउडर को भी मिक्स किया जा सकता है। अब आप दूध को लगातार चलाते रहें और उबाल आने दें। जब दूध में एक उबाल आएगा तो यह खुद ब खुद फट जाएगा। बस आपकी खीस बनकर तैयार है। आप इसे गरम भी खा सकते हैं और फ्रिज में रखकर इसे ठंडा भी सर्व किया जा सकता है। 

तो अब आप भी खीस को बनाकर उसका सेवन अवश्य करें और खुद को बीमारियों से दूर रखें। 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकीअपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।   

Image Credit- freepik

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।