• + Install App
  • ENG
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search
author-profile
  • Shilpa
  • Editorial

क्या आप भी जानती हैं प्रेग्नेंसी फूड्स से जुड़े इन मिथ्स के बारे में

प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं को खाने से जुड़ी कई तरह की सलाह दी जाती हैं, लेकिन क्या यह सही होती है?   
Published -22 Jun 2022, 17:14 ISTUpdated -22 Jun 2022, 17:51 IST
author-profile
  • Shilpa
  • Editorial
  • Published -22 Jun 2022, 17:14 ISTUpdated -22 Jun 2022, 17:51 IST
Next
Article
Food Safety Pregnancy Myths sc

Verified By Shikha Aggarwal Sharma Dietician

प्रेग्नेंसी का समय महिलाओं के जितना खास और खूबसूरत होता है उतना ही यह समय रिस्की होता है। क्योंकि प्रेग्नेंसी के 9 महीनें महिला को न केवल अपनी सेहत बल्कि गर्भ में पल रहे बच्चे की सेहत का भी ध्यान रखना होता है। इस दौरान गर्भवती को दादी-नानी समेत परिवार के लोग और दोस्त सलाह देते हैं। प्रेग्नेंसी के दौरान क्या खाना चाहिए और क्या नहीं? 

इसके अलावा प्रेग्नेंसी के दौरान फूड्स को लेकर काफी मिथ है। बहुत ही महिलाएं इन मिथ को फॉलो करती हैं वहीं कुछ महिलाएं इन्हें नहीं मानती हैं। इस लेख में हम आपको प्रेग्नेंसी में फूड्स से जुड़े मिथ्स के बारे में बताएंगे। इस विषय पर अधिक जानकारी के लिए हमने फैट टू स्लिम ग्रुप की सेलिब्रिटी इंटरनेशनल डाइटीशियन और न्यूट्रिशनिस्ट शिखा अग्रवाल शर्मा से बात की। उन्होंने बताया है कि प्रेग्नेंसी के दौरान फूड्स को लेकर कई तरह के मिथ है। इन मिथ पर भरोसा नहीं करना चाहिए। आइए जानते हैं उनके मिथ्स फूड्स के बारे में। 

प्रेग्नेंसी के हर स्टेज पर ज्यादा कैलोरी का सेवन करना 

food related myths during pregnancy ()

प्रेग्नेंसी के हर स्टेज पर कैलोरी का सेवन करना मिथ है। एक्सपर्ट के अनुसार प्रेग्नेंसी के शुरुआती 16 से 20 हफ्तों तक नॉर्मल खाने का सेवन करना चाहिए। 20 हफ्ते के बाद ही ज्यादा कैलोरी की जरूरत पड़ती है। ऐसे में प्रेग्नेंसी की शुरुआत में जबरन ज्यादा कैलोरी नहीं लेना चाहिए। 

सी फूड्स का सेवन

प्रेग्नेंसी महिलाएं अक्सर परेशान रहती हैं कि इस दौरान वह सी फूड्स खा सकती हैं या नहीं। लेकिन बता है कि प्रेग्नेंसी के दौरान सी फूड्स का सेवन किया जा सकता है।  एक्सपर्ट के अनुसार प्रेग्नेंसी के दौरान आपको हाई मरकरी फिश का सेवन नहीं करना चाहिए। इससे बच्चे के विकास में दिक्कत आ सकती है। ऐसे में आप सैल्मन फिश खा सकती हैं क्योंकि इस फिश में मरकरी कम मात्रा में पाया जाता है। वहीं प्रेग्नेंसी के दौरान कच्चे सी फूड्स का सेवन करने से बचना चाहिए। 

इसे जरूर पढ़ेंः ये वो हेल्दी फूड हैं जिन्हें प्रेग्नेंसी में ना खाएं, प्रेग्नेंट वुमेन हो सकती हैं बीमार

चाय कॉफी का सेवन 

pregnancy food myths u

बेबी कंसीव करने के बाद अक्सर महिलाओं को चाय और कॉफी पीने को मना किया जाता है। कुछ घरों में कहा जाता है कि चाय और कॉफी पीने से बच्चे का रंग काला होता है। जो कि बहुत बड़ा मिथ है। वहीं कुछ घरों में कहा जाता है कि इसमे कैफिन पाया जाता है ऐसे में 9 महीने तक चाय कॉफी का सेवन नहीं करना चाहिए। यह गलत है एक्सपर्ट के अनुसार आप प्रेग्नेंसी के दौरान चाय और कॉफी का सेवन कर सकती हैं। लेकिन इसका ज्यादा सेवन करने से नुकसान हो सकता है। ऐसे में आप दिन में एक छोटा कप चाय या फिर कॉफी का सेवन कर सकती हैं। (प्रेग्नेंसी के लिए हेल्दी फूड्स)

इसे जरूर पढ़ेंः प्रेग्नेंसी के दौरान क्या आपका भी मन ललचाता है? तो इन फूड्स से करें क्रेविंग कंट्रोल

Recommended Video

कुछ भी खाने से मिसकैरेज होना 

food related myths during pregnancy

प्रेग्नेंसी के दौरान कहा जाता है कि अनानास, ज्यादा गर्म जैसे ड्राई फ्रूट्स का सेवन करने से मिसकैरेज हो जाता है। जो कि केवल एक मिथ है। एक्सपर्ट  के अनुसार आप प्रेग्नेंसी के दौरान ड्राई फ्रूट्स का सेवन कर सकते हैं। वहीं कई बार इनका ज्यादा सेवन करने से दिक्कत हो जाती है लेकिन यह मिसकैरेज का कारण नहीं होता है। इन्फेक्शन या फिर किसी बीमारी की वजह से ही मिसकैरेज होता है। खान पान से मिसकैरेज नहीं होता है। 

उम्मीद है कि आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया होगा। इसी तरह के अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए हमें कमेंट कर जरूर बताएं और जुड़े रहें हमारी वेबसाइट हरजिंदगी के साथ।  

Image Credit: freepik

 

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।