देश के विभिन्न राज्यों में बर्ड फ्लू फैलने की सूचना मिली रही है। हालांकि, मनुष्यों में कोई भी एच5एन1 वायरल संक्रमण अभी तक नहीं पाया गया है। लेकिन फिर भी चिकन पसंद करने वाले लोगों को सिर्फ एक ही सवाल परेशान कर रहा है कि क्‍या इस समय चिकन खाना सुरक्षित है? 

वैसे तो चिकन देश में सबसे अधिक पसंद किए जाने वाले फूड्स में से एक है, खासकर उत्तर भारत में। यह चिकन बिरयानी, बटर चिकन और तंदूरी चिकन जैसी डिशेज के लिए फेमस है। भारत में बर्ड फ्लू की बढ़ती रिपोर्टों ने चिकन की बिक्री को काफी प्रभावित किया है। अधिकांश लोग फ्लू से संक्रमित होने से डरते हैं और इस फ्लू के प्रकोप के दौरान मीट, अंडे और चिकन खाने से बच रहे हैं।

अगर आप भी यह जानना चाहती हैं कि क्या बर्ड फ्लू के दौरान अपने फेवरेट चिकन बिरयानी को खाना सुरक्षित है या नहीं, तो जानने के लिए इस आर्टिकल को जरूर पढ़ें। इस आर्टिकल के माध्‍यम से शालीमार बाग स्थित फोर्टिस हॉस्पिटल की डाइटिशियन सिमरन सैनी आपके इस सवाल का जवाब दे रही है। 

क्या चिकन बिरयानी खाने के लिए सुरक्षित है?

chicken biryani inside

सिमरन सैनी जी का कहना है कि ''डब्ल्यूएचओ का सुझाव है कि चिकन को मसालों से मेरिनेट करके और इसे बहुत हाई तापमान पर कम से कम 70 डिग्री सेल्सियस पर कुछ समय के लिए पकाया जाता है जो बर्ड फ्लू से संबंधित वायरस को निष्क्रिय कर देता है।'' 

इसे जरूर पढ़ें: घर पर तंदूरी चिकन बनाने की ये आसान रेसिपी जानिए

हालांकि कुछ चीजें हैं जो घर पर चिकन पकाने और खाने के दौरान ध्यान में रखने की आवश्यकता होती हैं। सिमरन सैनी ने बताया, ''चेतावनी के अनुसार किसी को अपने हाथों को अच्छी तरह से कवर करना चाहिए और यह सुनिश्चित करना चाहिए कि जब वह कच्चा हो तो उसे पोल्ट्री मीट के सीधे संपर्क में नहीं आना चाहिए। ऐसा इसलिए है क्योंकि जब मीट कच्चा होता है, तो फ्लू आपकी आंखों, नाक के माध्यम से आपके शरीर के संपर्क में आने की संभावना अधिक होती है। इसलिए, इसे तैयार करते समय सभी आवश्यक सावधानी बरतना महत्वपूर्ण होता है।'' 

Recommended Video

 

आगे सिमरन सैनी ने कहा कि ''मैं ऑर्गेनिक पोल्ट्री की खोज करने की भी सिफारिश करूंगी क्योंकि वह तुलनात्मक रूप से अधिक हाइजीनिक स्थिति में रखे जाते हैं और यदि संभव हो तो कुछ समय के लिए पोल्ट्री से बचना चाहिए जब तक कि यह फ्लू से दूर न हो जाए।''

bird flu inside

डब्ल्यूएचओ के अनुसार

डब्ल्यूएचओ की वेबसाइट के स्‍टेटमेंट के अनुसार, "चिकन और गेम बर्ड्स को अच्छी तरह से तैयार खाना सुरक्षित है।" कहा जाता है कि H5N1 वायरस हीट के प्रति संवेदनशील है। माना जाता है कि 70 डिग्री सेल्सियस पर खाना पकाने से भोजन में मौजूद वायरस को मार जाता है। हालांकि, रिपोर्ट में घर पर चिकन तैयार करने और संक्रमण के बढ़ते जोखिम के बारे में बात की गई।

इसे जरूर पढ़ें: 15 मिनट में चटपटे और स्वादिष्ट स्नैक्स 'चिकन फ्रिटर्स' घर पर बनाएं

अगर आप इस समय के दौरान अंडे, चिकन की योजना बनाते हैं, तो सुनिश्चित करें कि आप संक्रमण के किसी भी जोखिम को रोकने के लिए डब्ल्यूएचओ और अन्य स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा बताए गए सभी एहतियाती उपायों को फॉलो करें।

आज तक देश के 10 राज्यों में बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है। हाल ही में पशुपालन मंत्री गिरिराज सिंह ने पुष्टि की है कि मानव संचरण का कोई मामला नहीं है। हालांकि, अंडे और चिकन की बिक्री में भारी गिरावट आई है। इस तरह की और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें। 

Image credit: Freepik.com