हम सभी ने कभी ना कभी एंग्जाइटी और तनाव का सामना किया है। वैसे भी वर्तमान समय में हम जिस तरह का लाइफस्टाइल जी रहे हैं, उसके कारण तनाव हम सभी की जिन्दगी का हिस्सा बन गया है। चूंकि तनाव काफी हद तक हमारी लाइफस्टाइल से जुड़ा है और इसलिए लाइफस्टाइल में बदलाव के कारण हम अपनी चिंता के स्तर को काफी हद तक कम कर सकते हैं। लेकिन क्या आप जानती हैं कि फूड भी हमारी मानसिक स्थिति को काफी हद तक प्रभावित करता है।  इसलिए आप जो खाते हैं, उसका असर आपकी शारीरिक और मानसिक हेल्थ दोनों पर ही पड़ता है। कुछ ऐसे खाद्य पदार्थ हैं जो हमें शांत करते हैं और हमें अच्छा और तनावमुक्त महसूस कराते हैं, वहीं कुछ ऐसे खाद्य पदार्थ भी हैं जो हमारी चिंता के स्तर को बढ़ा सकते हैं। तो चलिए आज इस लेख में हम आपको कुछ ऐसे खाद्य पदार्थों के बारे में बता रहे हैं, जो हमारे एंग्जाइटी लेवल को बढ़ा सकते हैं और इसलिए आपको इनसे दूर रहना चाहिए-

रिफाइंड तेल

oil increase anxiety level inside

अगर आप अपनी किचन में बहुत अधिक रिफाइंड तेल का इस्तेमाल करती हैं तो थोड़ा सतर्क हो जाएं। यह हाइड्रोजनीकृत होता है और गर्म होने पर ट्रांस वसा बनाता है। ट्रांस फैट रक्त के प्रवाह को दबा देता है और यह चिंता के स्तर और अवसाद को बढ़ा सकता है।

इसे जरूर पढ़ें:यकीनन आप नहीं जानते होंगे एंग्जाइटी के ये 4 कारण! तुरंत पढ़ें क्या हैं ये

चीनी

sugar anxiety level inside

जब कभी मूड ऑफ होता है तो कुछ मीठा खाने का मन करता है। यकीनन यह आपको कुछ वक्त के लिए खुशी देता हो। लेकिन बहुत अधिक चीनी का सेवन करने से रक्त शर्करा के स्तर में गिरावट हो सकती है जिससे घबराहट के दौरे और मूड में बदलाव हो सकता है। वैसे चीनी का अधिक सेवन एंग्जाइटी लेवल बढ़ाने के अलावा अन्य भी कई स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बनता है।

फ्रूट जूस

fruit juice increase anxiety levelinside

फल सेहत के लिए बेहद लाभदायक माने जाते हैं। लेकिन फ्रूट जूस का अधिक सेवन नहीं करना चाहिए। फलों का रस तुरंत आपके शरीर को सक्रिय करता है और आपको सक्रिय महसूस कराता है। हालांकि, ऊर्जा की इस वृद्धि के बाद शरीर में एक गिरावट का अहसास होता है। इससे आप थका हुआ और उदास महसूस कर सकती हैं।

Recommended Video

कैफीन

coffee increase anxiety levelinsside

कई बार जब हम थका हुआ महसूस करते हैं तो कैफीन का सेवन करते हैं। चाय या कॉफी का सेवन करने से आपको एक ऊर्जा का अहसास होता है। लेकिन, यह एक सर्वविदित तथ्य है कि अधिक मात्रा में कैफीन का सेवन करने से मूड स्विंग, डिप्रेशन, बेचैनी और नींद की कमी हो सकती है। इसलिए कैफीन का सेवन करते समय आपको थोड़ा सतर्क होने की आवश्यकता है।

इसे जरूर पढ़ें:एंग्जायटी की समस्या से मिलेगा छुटकारा, बस आज से ही अपनी रूटीन में शामिल करें ये योगासन

फास्ट फूड

fast foods increase anxiety levelinside

फास्ट फूड का सेवन करने का विचार ही यकीनन आपको खुशी दिलाता हो, लेकिन यह विचार उतना भी अच्छा नहीं है। फास्ट फूड जैसे बर्गर, पिज्जा, फ्राइज़ आदि के सेवन से आप अधिक चिंतित महसूस कर सकती हैं और इसलिए इनका सेवन दैनिक आधार पर करने से बचना चाहिए।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image credit: Freepik.com