खाने-पीने की गलत आदतों, सोने-जागने का गलत टाइम, लंबे समय तक एक ही जगह पर बैठने और एक्‍सरसाइज ना करना जैसी कई तरह की आदतों से हमारी बॉडी में टॉक्सिन इकट्ठा हो जाते हैं, जिससे हमारा शरीर अंदर से कमजोर होने लगता है। जी हां इन बुरी आदतों से शरीर में ऐसे तत्‍व बनने लगते है जो किसी जहर से कम नहीं है। टॉक्सिन आपकी बॉडी के लिए हानिकारक होते हैं और जिस तरह की लाइफस्‍टाइल हम जीती हैं, शायद ही कोई महिला हो जिसकी बॉडी टॉक्सिन फ्री हो। इन्‍हें बॉडी से निकालना बेहद जरूरी है, नहीं तो वजन बढ़ने के साथ-साथ आपको आलस भी महसूस होने लगता है।

क्या आपका आलस के कारण किसी भी काम में मन नहीं लगता?
या आप कोई काम ठीक से नहीं कर पा रही हैं?
या कुछ दिनों से आपके चेहरे पर कील मुंहासे ज्यादा दिखाई देने लगे हैं?
या आप पेट में गैस, जलन, दर्द के कारण परेशान रहने लगी हैं?
अगर ऐसा कुछ आपको भी अपने अंदर महसूस हो रहा है तो इसका मतलब साफ हैं कि आपकी बॉडी को भीतर से साफ करने की जरूरत हैं। अरे परेशान ना हो हम डिटॉक्सिफिकेशन की बात कर रहे हैं। हालांकि कुछ महिलाओं को लगता है कि सिर्फ गर्मियों में ही बॉडी डिटॉक्सिफिकेशन करना चाहिए जबकि ऐसा नहीं है। गर्मी की तरह सर्दियों में भी शरीर से विषैले पदार्थ निकालना बहुत जरूरी है। ऐसा ना करने पर आप जल्दी सर्दी-खांसी जैसी बीमारियों की चपेट में आ सकती हैं।

इसे जरूर पढ़ें: खूब कर ली पार्टी enjoy, अब बॉडी को detox करने की है बारी

बॉडी को डिटॉक्स यानि बॉडी में जमा होने वाले हानिकारक तत्व जैसे गैस, अम्ल‍ आदि को बॉडी से बाहर निकालना। जिससे आपकी बॉडी फिर से पहले जैसा काम करने लगें। और बॉडी को डिटॉक्स करना बेहद ही आसान है। आप घर बैठे अपनी बॉडी को डिटॉक्स कर सकती हैं। आज शालीमार स्थित र्फोटिस हॉस्पिटल की डाइटीशियन सिमरन सैनी आपको बता रही हैं कि आप घर बैठे अपनी बॉडी को कैसे डिटॉक्स कर सकती हैं।

डाइटीशियन सिमरन सैनी का कहना हैं कि 'बॉडी को अंदर से साफ करने के लिए आपको बहुत ज्यादा मेहनत करने की जरूरत नहीं हैं। अपनी डाइट में कुछ चीजों को शामिल कर आप अपनी हेल्थ से फिर से दोस्ती कर सकती हैं। बॉडी डिटॉक्‍स करने से आपकी बॉडी हानिकारक केमिकल्‍स से फ्री होती है, ब्‍लड क्‍लीन होता है इससे कील मुहांसे और फोड़े-फुंसी जैसी समस्‍याओं से छुटकारा मिलता है। साथ ही वेट कंट्रोल रहता है, बाल झड़ने की समस्‍या कम होती है, बॉडी एनर्जी से भरपूर रहती हैं और सबसे अच्‍छी बात ये एंटी-एजिंग की तरह भी काम करता है।''

सनफ्लावर सीड्स
body detox diet card ()

सनफ्लावर सीड्स सेलेनियम और विटामिन ई से भरपूर होते हैं जो लिवर के काम करने की क्षमता को बढ़ाते हैं। ये शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल बनने से भी रोकते हैं। इसमें मौजूद मैग्नीशियम हार्ट को हेल्दी रखने का काम करता है। यह ब्लड प्रेशर बढ़ाने वाले केमिकल डोपामाइन डी-1 को भी कम करता है। इन बीजों में फाइबर की मात्रा बहुत ज्‍यादा होती है। जी हां ये बीज न केवल टेस्‍टी होते हैं बल्‍कि इन्‍हें खाने से पोषण भी मिलता है और यह पेट भी भरते हैं।

लहसुन

लहसुन को सबसे अच्‍छा डिटॉक्‍स फूड माना जाता है। इसमें एंटी-वायरल, एंटी-बैक्टीरियल एवं एंटी-बायोटिक गुणों के अलावा इसमें एलिसिन नामक तत्‍व पाया जाता है जो सफेद ब्‍लड सेल्‍स के उत्पादन को बढ़ाता है तथा बॉडी को डिटॉक्‍स करने में हेल्‍प करता है। इसलिए लहसुन को अपनी डाइट में शामिल करें।

हरा धनिया
body detox diet card ()

हरे धनिया में मौजूद एंटी-फंगल, एंटी-सेप्टिक तत्‍व नुकसानदायक तत्वों को सेल्स से दूर रखते हैं। साथ में लिवर की सफाई करने वाले एंजाइम्स को बढ़ाते हैं। इसकी पत्‍तियों को कच्चा चबाकर, खाने में डालकर या इसके बीजों को भी खाने से बॉडी में मौजूद हानिकारक केमिकल्स को आसानी से दूर किया जा सकता है। इसके अलावा ये बॉडी के ब्‍लड सर्कुलेशन को बढ़ाता है।

इसे जरूर पढ़ें: अपनी जरूरत के हिसाब से पीएं ये 5 detox water

चुकंदर

चुकंदर में मैग्नीशियम, आयरन व विटामिन सी भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। चुकंदर आपके बॉडी में कोलेस्ट्रॉल लेवल को बनाए रखता है तथा आपके लिवर पर मौजूद टॉक्सिन को बाहर निकालता है। आप चाहे तो चुकंदर को सलाद, जूस या सब्जी के रुप में खा सकती हैं। भारतीय महिलाओं की बॉडी में तो अक्‍सर ब्‍लड की मात्रा कम पाई जाती हैं। इसलिए महिलाओं के लिए चुकंदर बहुत फायदेमंद है।

अखरोट
body detox diet card ()

ब्रेन के आकार का अखरोट ना केवल आपके ब्रेन के लिए बल्कि दिल के लिए भी अच्‍छा होता है क्‍योंकि इसमें ओमेगा-3 फैटी एसिड भरपूर मात्रा में होता है। साथ ही डिटॉक्सिफिकेशन का काम भी बखूबी करता है। इसमें मौजूद कॉपर, मैग्नीशियम और बॉयोटीन कैंसर की बीमारी को दूर रखता है। इसे खाने से प्रोस्टेट कैंसर की संभावना को कम किया जा सकता है। इसके अलावा इसमें मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट हमारे शरीर के लिए बहुत ही जरूरी होता है। यह फ्री रेडिकल्स को दूर कर असमय आने वाले बुढ़ापे की समस्या को भी दूर करता है।

अगर आप भी अपनी बॉडी को लंबे समय तक जवां बनाए रखना चाहती हैं तो अपनी डाइट में इन चीजों को जरूर शामिल करें।