यद्यपि कोई जादू की गोली नहीं है जो अतिरिक्त वजन को झट को दूर कर देगी। लेकिन कुछ जड़ी-बूटियां हैं, जो हेल्‍दी वजन तक पहुंचने में आपकी मदद कर सकती हैं। कुछ हल्के मूत्रवर्धक हैं और पानी के वजन को कम करके काम करते हैं, जबकि अन्य में थर्मोजेनिक प्रभाव होता है और मेटाबॉलिज्‍म में वृद्धि होती है। कुछ आपकी भूख की भावनाओं को भी कम कर सकते हैं।

किसी भी चीज़ की तरह जड़ी-बूटियां अनचाहे साइड इफेक्‍ट के जोखिम को कम करते हुए वेट लॉस में आपकी मदद करती हैं। देखभाल के साथ और स्वस्थ आहार के कॉम्बिनेशन में उपयोग की जाने वाली ये जड़ी-बूटियां आपको सुरक्षित रूप से और अधिक आसानी से वजन कम करने में मदद कर सकती हैं। 

बढ़ते वजन को कम करने के लिए कौन सी जड़ी-बूटियां हमारी मदद कर सकती हैं। इस बारे में हमें आयुर्वेदिक डॉक्‍टर जीतू रामचंद्रन जी बता रही हैं। उन्‍होंने इसकी जानकारी इंस्‍टाग्राम के माध्‍यम से फैन्‍स के साथ शेयर की है।

डॉक्‍टर जीतू रामचंद्रन जी का कहना है, ''कई बार हार्मोनल असंतुलन में वजन कम करना एक मुश्किल काम बन जाता है। लेकिन इस जर्नी को आसान बनाने के लिए आयुर्वेद के पास कुछ खास तकनीकें हैं। मोटापा प्रबंधन प्रोटोकॉल आयुर्वेद में विस्तार से समझाया गया है कि सही भोजन, पानी, जड़ी बूटियां, जीवन शैली में बदलाव आदि इसमें आपकी मदद कर सकते हैं।'' 

यहां कुछ जड़ी-बूटियां दी गई हैं जो पीसीओएस, हार्मोनल असंतुलन की स्थिति में आपके वजन घटाने में मदद कर सकती हैं। इनके बारे में एक्‍सपर्ट ने विस्‍तार से बताया है, आइए जानें-

इसे जरूर पढ़ें:वजन को तेजी से कम करता हैं ये हर्ब, एक्‍सपर्ट से जानें कैसे

यवम (जौ)

weight loss herbs barley

जौ में लेखाना गुण (स्क्रैपिंग क्रिया) होते हैं, जो वजन घटाने में मदद करते हैं। जी हां जौ का पानी मुख्य रूप से शरीर पर मौजूद जिद्दी ट्रांस फैट को बाहर निकालने में मदद करता है, जिसे खोना शरीर का सबसे कठिन हिस्सा है। 

जौ फैट और कैलोरी में कम होता है और इसमें बड़ी मात्रा में प्रोटीन भी होता है। जौ के ये गुण वजन कम करने में अद्भुत तरीके से काम करते हैं क्योंकि प्रोटीन हमारे शरीर में फैट की जगह लेता है जिससे फैट और ट्रांस फैट की हानि होती है और प्रोटीन सामग्री की मदद से वास्तविक मसल्‍स का निर्माण होता है।

Recommended Video

विदंगा (काली मिर्च)

शक्ति में गर्म होने के कारण, यह कफ को संतुलित करता है। वजन घटाने में इसका व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है।

विदंगा मेटाबॉलिज्‍म को बढ़ाता है। यह संचित फैट का उपयोग शरीर की गर्मी उत्पन्न करने के लिए करता है। यह फैट के संचय को रोकता है। विदंगा आंत को साफ करता है और संचित विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालता है। यह जड़ी-बूटी पाचन अग्नि को संतुलित करती है और फैट के मेटाबॉलिज्‍म को सामान्य करती है। यह यूरिन उत्पादन को बढ़ाता है और शरीर में जमा अतिरिक्त पानी को बाहर निकालता है जिससे शरीर की चर्बी कम होती है।

आंवला

weight loss herb amla

इसमें कफहर गुण होते हैं। शहद (आर्गेनिंक) के साथ इसे मिलाकर लेने से वजन कम करने में मदद मिलती है। यदि कफ के समय (सुबह-सुबह) इसे लिया जाता है तो यह प्रक्रिया को गति देता है।

इसे जरूर पढ़ें:3 चीजों को मिलकर बने इस काढ़े को पीने से तेजी से घटेगा वजन

आंवला विटामिन सी से भरपूर होता है, जो शरीर की चर्बी कम करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। आंवला मेटाबॉलिज्म को बूस्ट करता है, जिससे वजन तेजी से कम होता है।

नागरा (सूखी अदरक)

सूखी अदरक में जिंजरोन और शोगोल नामक यौगिक वजन घटाने में मदद कर सकते हैं। ये यौगिक जटिल शारीरिक प्रक्रियाओं में फायदेमंद हो सकते हैं जो फैट को बर्न करते हैं।

लेकिन राशि और उपयोग कैसे करें यह हमेशा व्यक्ति पर निर्भर करता है। इसलिए शुरू करने से पहले हमेशा एक योग्य चिकित्सक से परामर्श लें। आपको यह आर्टिकल कैसा लगा? हमें फेसबुक पर कमेंट करके जरूर बताएं। ऐसी ही अधिक जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें। 

Image Credit: Freepik.com