ज्‍यादातर महिलाएं अपने दिन की शुरुआत चाय की चुस्कियों के साथ करती हैं। ऐसा हो भी क्‍यों नहीं, यह आपको पूरे दिन तरोताजा रखने में मदद करती है। लेकिन इसमें कुछ हर्ब्‍स को शामिल कर लिया जाए तो सोने पर सुहागा हो सकता है। जी हां चाय दुनिया का सबसे ज्‍यादा पिया जाने वाला ड्रिंक है और इसे पीने का सबसे बेहतर समय सर्दियों का होता है। सर्दियों में चाय आपको गर्म रखती है। लेकिन अगर इसमें कुछ हर्ब्‍स और सुपरफूड्स को शामिल कर लिया जाए तो यह टेस्‍टी होने के साथ-साथ सर्दियों में कमजोर इम्‍यूनिटी को मजबूत करती है और हेल्‍थ से जुड़े कई फायदे देती है। चाय में कौन से हर्ब्‍स को शामिल करके हमें कौन से फायदे मिल सकते हैं, इस बारे में MY22BMI की न्‍यूट्रिशनिस्‍ट और फाउंडर Ms.Preety Tyagi जी बता रही हैं।

माचा

matcha with tea inside

माचा एक प्रकार की ग्रीन टी होती है जो ताजा चाय की पत्तियों को एक ब्राइट ग्रीन पाउडर में मिलाकर बनाई जाती है। पाउडर को फिर गर्म पानी से फेंट लिया जाता है। यह रेगुलर ग्रीन टी से अलग होती है, जहां पत्तियों को पानी में डाला जाता है और फिर हटा दिया जाता है। माचा ईजीसीजी (एपिगैलोकैटेचिन गैलेट) नामक कैटेचिन से भरपूर होती है, जिसके बारे में माना जाता है कि यह शरीर पर कैंसर से लड़ने वाले प्रभाव डालती है। अध्ययनों ने विभिन्न प्रकार के स्वास्थ्य लाभों से इस चाय को जोड़ा है, जैसे हार्ट डिजीज को रोकने में मदद करना, टाइप 2 डायबिटीज और कैंसर और यह वेट लॉस में भी मदद करना। 

इसे जरूर पढ़ें:इन 6 तरह की चाय से घटाएं वजन, जानें क्या है एक्सपर्ट की राय

इसके अलावा माचा चाय हमारी इम्‍यूनिटी को मजबूत करने के लिए उत्कृष्ट होती है। इसे एक शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट माना जाता है, रिलैक्‍स करने वाले प्रभाव के अलावा, माचा एनर्जी को बढ़ाने और इन्‍फेक्‍शन से बचाने और शरीर को डिटॉक्स करने में भी मदद कर सकती है।

अश्वगंधा

ashwagandha with tea inside

अश्वगंधा आयुर्वेदिक चिकित्सा में एक फेमस हर्ब है, जिसका इस्‍तेमाल ब्रेन फंक्‍शन में सुधार के लिए हजारों वर्षों से किया जा रहा है। अश्वगंधा ब्‍लड शुगर लेवल को विनियमित करने के लिए जाना जाता है। साथ ही अश्वगंधा कोर्टिसोल के लेवल को कम करने में मदद करता है। यह मानव तनाव हार्मोन है, इसका लेवल कम होने से तनाव कम होता है। कई हर्बल चाय की तरह, अश्वगंधा को चाय में मिलाने से सूजन को कम करने में मदद मिलती है। इसमें एंटी-कैंसर्स यौगिक भी होते हैं।

Recommended Video

इस जादुई प्राचीन हर्ब्‍स को अपने डेली डोज में शामिल करने के सबसे आसान तरीकों में से एक इसे चाय के कप के साथ लेना है। अश्वगंधा चाय (अश्वगंधा पाउडर के साथ चाय की पत्ती) तैयार करते समय, गर्म पानी अश्वगंधा के गुणों जैसे पॉलीफेनोल, एंटीऑक्सीडेंट और कैटेचिन को खींचता है और इसे चाय के अर्क के साथ मिश्रित करता है।

लेमनग्रास

lemon grass with tea inside

जर्नल ऑफ एग्रीकल्चर एंड फूड केमिस्ट्री में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, लेमनग्रास में कई एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं जो शरीर में रोग पैदा करने वाले फ्री रेडिकल्‍स से लड़ने में मदद करते हैं। यह धमनियों में सेल्‍स की शिथिलता को रोकने में मदद करते हैं।

इसे जरूर पढ़ें:हेल्थ बेनिफिट्स ही नहीं खूबसूरती पाने में भी ग्रीन टी का जवाब नहीं

अगर आप अपनी चाय में लेमनग्रास लेते हैं तो यह आपके लिए ख़राब पेट को ठीक करने वाला एक वैकल्पिक उपाय हो सकता है और पेट की ऐंठन से भी राहत दिला सकता है। इसमें मौजूद आवश्यक तेल डैमेज के खिलाफ पेट की लाइनिंग को ठीक करने मदद करता है। इसमें एंटी-बैक्टीरियल गुण भी होते हैं और वजन कम करने में मदद करते हैं।

expert quote inside

इन 3 हर्ब्‍स को चाय का प्रधान माना जाता है और चाय के कप में इनका इस्‍तेमाल करना हमेशा अच्छा होता है। हालांकि यह तीनों हर्ब्‍स हैं और इनके कोई साइड इफेक्‍ट्स नहीं हैं लेकिन इनका इस्‍तेमाल करने से पहले अपने एक्‍सपर्ट से सलाह जरूर ले लें क्योंकि हर किसी की बॉडी नेचुरल चीजों के लिए अलग-अलग प्रतिक्रिया करती है और खासकर जब हर्ब्‍स की बात आती है। चाय के साथ गर्म और हेल्‍दी रहें और इस तरह के अन्य जानकारी और सलाह के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें।

Image Credit: Freepik.com