मानसून का इंतजार सभी करते हैं, क्योंकि यह मौसम गर्मी से राहत दिलाता है लेकिन दूसरी ओर बीमारियां भी इसी मौसम में बढ़ने लगती हैं। इन दिनों पानी से फैलने वाली बीमारियां ज्यादा होती हैं और ऐसे में लोग डॉक्टर की सलाह लिए बिना ही एंटी-बायोटिक दवाओं का गलत इस्तेमाल कर लेते हैं। एंटी-बायोटिक दवाओं का गलत इस्तेमाल आपके शरीर को बीमारियों का घर भी बना सकता है। मानसून में बारिश के कारण हवा में नमी होने लगती है और डेंगू, मलेरिया जैसी कई बीमारियां तेजी से फैलने लगती हैं। मानसून में हैजा और टाइफाइड जैसी बीमारियां आसानी से एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में पहुंच जाती हैं, जो कि बेहद नुकसानदायक हैं। इन सभी से बचने के लिए आपको नियमित रूप से सही आहार लेने की जरूरत है, यहां हम आपको बताएंगे 5 ऐसी चीजें जिन्हें डाइट में शामिल करने से आप कई बीमारियों से बच सकते हैं।

सुबह-सुबह करें तुलसी के पत्तों का सेवन

Water borne Disease inside

आमतौर पर तुलसी के पत्ते सभी के घरों में मिलते हैं, जिनमें एंटिऑक्सिडेंट पाए जाते हैं। यह व्यक्ति के सेल्स को खराब होने से बचाते हैं, अगर इनका सेवन नियमित रूप से किया जाए तो आप कई बीमारियों से बच सकते हैं। तुलसी के पत्तों के अनेक फायदे हैं, जो स्वास्थ्य तो बेहतर करते ही हैं, बल्कि त्वचा संबंधी कई समस्या भी दूर कर देते हैं। तुलसी के पत्तों में एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं, जो टाइफाइड और इसके लक्षणों जैसे बुखार, दस्त और उल्टी का इलाज करने के लिए सहायक हैं। सुबह उठकर ब्रश करने के बाद आपको तुलसी के दो पत्ते जरूर खाने चाहिए, ध्यान रहे कि आप इन्हें चबाएं नहीं केवल निगल लें।

इसे जरूर पढ़ें: रोजाना सुबह खाली पेट खाएं ये 5 चीजें, मेटाबॉलिज्‍म रहेगा दुरुस्‍त और आप रहेंगी हेल्‍दी

लहसुन को करें खाने में शामिल

Water borne Disease inside

लहसुन खाने में काफी स्वादिष्ट लगता है और कई बार इसके तड़के से सब्जी का स्वाद दोगुना हो जाता है। लहसुन में कई एंटीऑक्सिडेंट और एंटी-बैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं, जो आपके शरीर को बीमारियों से लड़ने में मदद करता है। रक्त प्रवाह और रक्त की गंदगी निकालने के लिए भी लहसुन का प्रयोग किया जाता है। ऐसा माना जाता है कि लहसुन को खाने में ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करना चाहिए क्योंकि ये शरीर की इम्यूनिटी भी बढ़ाता है, जो कोरोना वायरस को भी मात दे सकता है।

पुदीना है रामबाण इलाज

Water borne Disease inside

पुदीना मानसून के लिए एक जड़ी-बूटी माना जाता है और इसे खाने में जरूर शामिल करना चाहिए। आप पुदीने की चटनी भी बना सकती हैं और अगर सुबह-सुबह इसे चबाकर खाया जाए तो ये कई बीमारियों को दूर भगा सकता है। पुदीने की चाय खराश, पाचन तंत्र संबंधी समस्याओं को भी दूर कर देती है। पुदीने में मेन्थॉल पाया जाता है, जो शरीर के पसीने को बढ़ाकर तापमान को नीचे लाने में मदद करता है।

इसे जरूर पढ़ें: खाने का स्वाद बढ़ाने के लिए अच्छी गार्निशिंग है जरूरी

हल्दी में हैं शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट

Water borne Disease inside

हमारे भोजन को अच्छा रंग देने वाली हल्दी, एक बेहतर घरेलू उपाय है जो शरीर को ताकत देने के साथ-साथ इम्यूनिटी भी बढ़ाती है। मानसून में बैक्टिरिया पैदा होने लगते हैं इसलिए हल्दी का उपयोग जरूर करना चाहिए। अगर रात को सोने से पहले हल्दी वाला दूध पी लिया जाए, तो आप कई बीमारियों को मात दे सकते हैं और अपनी इम्यूनिटी बढ़ा सकते हैं।

Recommended Video

मेथी के बीज

Water borne Disease inside ()

मेथी एंटीऑक्सिडेंट, एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-बैक्टीरियल गुणों से भरी होती है, जो शरीर को सभी बीमारियों से बचाने में मदद करता है। रात भर भिगोए हुए मेथी के बीज काफी कारगर होते हैं, ये इम्युनिटी बढ़ाने के साथ-साथ कब्ज और गले की समस्याओं को भी दूर करते हैं। अगर आपको पेट संबंधी समस्याएं हैं, तो मेथी के बीज गरम पानी से ले सकती हैं।

अगर आप भी मानसून में बीमारियों से बचना चाहती हैं तो रोजाना इसमें से किसी 1 फूड का सेवन जरूर करें। डाइट और पोषण से जुड़ी ऐसी ही जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें।

Image Credit: freepik.com