पीरियड्स नॉर्मल वेजाइनल ब्‍लीडिंग है, जो एक महिला के पीरियड्स का पार्ट है। कई महिलाओं को पीरियड्स में दर्द होता है, जिसे डिसमेनोरिया भी कहा जाता है। दर्द अक्सर पीरियड्स में ऐंठन के रूप में पेट के निचले हिस्से में होता है। 

इस दौरान कई अन्य लक्षण भी देखने को मिलते हैं, जैसे कि पीठ के निचले हिस्से में दर्द, मतली, दस्त और सिरदर्द। यह एक बहुत ही सामान्य स्थिति है। अमेरिकन कांग्रेस ऑफ ओब्स्टेट्रिशियन एंड गायनेकोलॉजिस्ट (ACOG) के अनुसार, पीरियड्स के दौरान आधी से अधिक महिलाएं हर महीने पीरियड क्रैम्प का अनुभव करती हैं।

माना जाता है कि डिसमेनोरिया शरीर में प्रोस्टाग्लैंडीन नामक यौगिकों के कारण होता है। हर महीने पीरियड्स शुरू होने से पहले, यूट्रस की परत में प्रोस्टाग्लैंडीन का लेवल बढ़ जाता है। पीरियड्स के पहले दिन आपका प्रोस्टाग्लैंडीन लेवल सबसे अधिक होता है, यही वजह है कि पीरियड्स का दर्द आमतौर पर तब बदतर होता है। जैसे-जैसे दिन बढ़ते हैं और यूट्रस की परत गिरती है, आपका प्रोस्टाग्लैंडीन लेवल कम हो जाता है और दर्द बेहतर हो जाता है। पीरियड्स का पेन प्रीमेंस्ट्रुअल सिंड्रोम (PMS) जैसा नहीं होता है। पीएमएस वजन बढ़ने, सूजन, चिड़चिड़ापन और थकान सहित कई अलग-अलग लक्षणों का कारण बनता है। 

अगर आप भी इस दर्द से परेशान रहती हैं तो इसे कम करने के नुस्‍खे के बारे में हमें आयुर्वेदिक डॉक्‍टर जीतू रामचंद्रन जी बता रही हैं। उन्‍होंने इस नुस्‍खे को इंस्‍टाग्राम के माध्‍यम से फैन्‍स के साथ शेयर किया है। इसके कैप्‍शन में लिखा है, ''एक तैयारी जिसका इस्‍तेमाल जीराका रसायन के विकल्प के रूप में किया जा सकता है।'' साथ ही उन्‍होंने इस नुस्‍खे को लेने के तरीके और इसके फायदों के बारे में बताया।

इसे जरूर पढ़ें:दवाओं को भूल जाएं, पीरियड्स पेन को रोकेंगे ये 5 आसान उपाय

सामग्री

jaggery for periods pain health

  • जीरा- 50 ग्राम 
  • गुड़- 25 ग्राम

विधि

  • दोनों चीजों को अच्‍छी तरह से पैन में डालकर भून लें। 
  • इसे पीसकर पाउडर बना लें।
  • फिर दोनों चीजों को अच्‍छी तरह से मिक्‍स करके 5 ग्राम का लड्डू बना लें।  
  • इसे पीरियड्स आने से 1 या 2 दिन पहले दिन में 2 बार गर्म पानी के साथ लें।

देसी नुस्‍खे के फायदे

जीरा और गुड ही क्‍यों?

cumin for periods pain

जीरे में एंटीस्पास्मोडिक और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं, यही वजह है कि इसका सेवन करने से तुरंत आराम मिलता है और पीरियड्स में ऐंठन से छुटकारा पाने के लिए यह बेहद फायदेमंद है।

इसे जरूर पढ़ें:ज्यादातर ladies करती हैं पीरियड्स में ये 5 गलतियां

Recommended Video

गुड में जरूरी पोषक तत्‍व जैस सोडियम और पोटैशियम होता है जो पीरियड्स पेन में काफी असरदार होता है। यदि आप पीरियड्स के दौरान मूड स्विंग, ऐंठन और अन्य लक्षणों का अनुभव करते हैं, तो गुड़ का एक छोटा टुकड़ा खाएं। यह एंडोर्फिन जारी करता है और इस प्रकार ऐंठन को कम कर सकता है और पीएमएस के लक्षणों से निपटने में मदद कर सकता है। 

आप भी इस नुस्‍खे को अपनाकर पीरियड्स पेन को कुछ हद तक कम कर सकती हैं। इस तरह की और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें। 

Image Credit: Freepik.com