आंध्र प्रदेश के एक छोटे से गांव गुंटूर में रहने वाली मस्तनम्मा दुनिया जहां में अपने टेस्टी खाने के लिए चर्चित हुईं। 107 साल की मस्तनम्मा की रेसिपीज में मिलने वाले देसी स्वाद को लोगों ने यू-ट्यूब से देखकर खुद भी आजमाया और लजीज खाने का स्वाद चखा। लेकिन मस्तानम्मा कुछ दिनों पहले दुनिया को अलविदा कह गईं। मस्तानम्मा के हाथों में वह जादू था, जो बड़े-बड़े चर्चित शेफ्स के हाथों में भी नहीं मिलता। मस्तनम्मा का कुकिंग स्टाइल दुनिया-जहां से अनूठा था। उनका यूट्यूब पर Country Foods नाम से चैनल है, जिसके 12 लाख से ज्यादा सब्सक्राइबर्स हैं।

mastanamma oldest youtuber maker world famous  village style kfc chicken watermelon chicken curry

मस्तनम्मा के यू-ट्यूब चैनल की शुरुआत 2016 में हुई। लेकिन इस चैनल के शुरू होने के पीछे भी एक दिलचस्प कहानी है। दरअसल एक बार उनके दूर के रिश्तेदार के लक्ष्मण और उनके दोस्त हैदराबाद उनसे मिलने पहुंचे। मस्तनम्मा ने लक्ष्मण और उनके दोस्त के लिए बैगन की सब्जी बनाई थी। यह वीडियो उन्होंने यूट्यूब पर अपलोड किया था। इस वीडियो को यू-ट्यूब पर इतना ज्यादा पसंद किया गया कि इसे 75 हजार बार देखा गया था। इसके बाद मस्तनम्मा की वॉटरमेलन चिकन करी (watermelon chicken curry), कबाब (kebabs) और विलेज स्टाइल केएफसी चिकन (village style KFC chicken) दुनियाभर में फेमस हो गए। उन्होंने पिछले साल 106वां बर्थडे मनाया था। 

Read more : शाहजहां ने ऐसी मिठाई बनाने का हुक्म सुनाया था, जो दिखे ताजमहल जितनी सफेद, जानिए उस फेमस मिठाई का नाम

मुश्किलों में बीती मस्तनम्मा की जिंदगी

मस्तनम्मा का दिलचस्प कुकिंग स्टाइल उनके सब्सक्राइबर्स को इतना पसंद आता था कि उसे यू-ट्यूब पर बार-बार देखा जाता था। यही वजह है कि उनके वीडियो खूब वायरल हुए। हालांकि मस्तनम्मा ने जिंदगी भर काफी स्ट्रगल किया। महज 11 साल की उम्र में उनकी शादी कर दी गई थी और 22 की होते-होते उनके पति की मौत हो गई। उनके पांच बच्चे थे, जिनमें से अभी सिर्फ एक ही बच्चा जिंदा है।

mastanamma oldest youtuber maker world famous  village style kfc chicken watermelon chicken curry

जानती थीं खाना बनाने का हुनर

मस्तनम्मा के लिए अकेले बच्चों का पालन-पोषण करना बहुत मुश्किल था, लेकिन जिंदगी के इस मुश्किल सफर को उन्होंने अपनी हिम्मत और हौसले से आसान बना लिया। बच्चे के लालन-पालन के लिए उन्होंने काफी महनत की। मस्तनम्मा मुश्किलों से गुजरने के बावजूद अपने बच्चों को टेस्टी खाना खिलाने की चाह रखती थीं। इसी चाह ने उन्हें तरह-तरह से एक्सपेरिमेंट करने के लिए प्रेरित किया। मस्तनम्मा हर तरह का खाना बना सकती हैं, लेकिन उनके बनाए सी-फूड का टेस्ट अपना आप में लाजवाब था। अपनी इसी स्पेशेलिटी की वजह से यू-ट्यूब सब्सक्राइबर्स की भी वह फेवरेट बन गईं। गुंटूर में वह नदी के पास ही रहती थीं। ऐसे में वह समुद्री खाना खुद ही पकाया करती थीं।

Read more : कोलकाता की इन जगहों पर मिलता है सबसे टेस्टी पुचका, एक बार जरूर चखें इनका स्वाद

आमतौर पर 80-90 तक आते-आते लोगों का शरीर जवाब देने लगता है, लेकिन मस्तनम्मा 107 साल की उम्र तक भी स्वस्थ रहीं, जो अपने आप में काफी हैरानी की बात है। हालांकि सभी यह बात जानते हैं कि इस उम्र तक आते-आते जिंदगी कभी भी थम सकती है। मस्तनम्मा ने भी अपनी जिंदगी के आखिरी वक्त में यू-ट्यूब पर फेमस होने के बाद दुनिया को अलविदा कह दिया। पिछले 6 महीने से उनके यूट्यूब चैनल पर कोई वीडियो अपलोड नहीं हुआ था। उनके फैन्स इस बात को लेकर परेशान थे कि आखिर उन्हें हुआ क्या है।

लोगों को उनके वीडियोज का बेसब्री से इंतजार रहता था। आखिरी बार जब मस्तनम्मा के यूट्यूब चैनल पर एक वीडियो अपलोड हुआ, तो उसमें मस्तनम्मा की मौत की खबर आई। इस खबर के साथ ही मस्तनम्मा का पूरा सफरनामा दिखाया गया। उनकी मौत की खबर आने के बाद उनके फैन्स का धक्का लगा और उन्होंने नम आंखों से मस्तनम्मा को श्रद्धांजलि दी।

  • Saudamini Pandey
  • Her Zindagi Editorial