बॉलीवुड में 'आशिकी गर्ल' के नाम से फेमस श्रद्धा कपूर हाल ही में फिल्म स्त्री में नजर आई थीं। इस फिल्म में उनका भूतिया किरदार काफी पसंद किया गया था। श्रद्धा जिस तरह अलग-अलग तरह के किरदार निभाना पसंद करती हैं, उसी तरह उन्हें फूड और ट्रैवलिंग के लिए खूबसूरत जगहों पर जाना पसंद है।

shraddha kapoor love for food and travel inside

श्रद्धा कपूर रियल लाइफ में फूडी हैं और अपने आपको ट्रेवल लवर भी मानती हैं। श्रद्धा का मानना है कि ट्रेवल और फ़ूड दोनों एक ही रास्ते पर चलते हैं। वह कहती हैं, 'अगर आप तरह-तरह का खाना एक्सप्लोर करना चाहती हैं तो आप जगह जगह घूमेंगी और इस वजह से आपको ट्रेवलिंग करना भी अच्छा लगेगा।'

पसंद है घर का खाना

shraddha kapoor love for food and travel inside

श्रद्धा कपूर कहती हैं कि वो कन्फ्यूज़ हैं कि उन्हें ट्रेवलिंग ज्यादा पसंद है या फिर फ़ूड! श्रद्धा ने कहा कि वो कुछ अलग तरह की फूडी हैं, उन्हें घर पर बना सिंपल खाना ज्यादा पसंद है मगर, बाहर भी वो किसी डिश को टेस्ट किये बिना नहीं छोड़तीं। आइये जानते हैं श्रद्धा की फूडी ट्रेवल स्टोरी।

Read more : साइना जैसा बनने के लिए रोज सुबह 6 बजे उठती थीं श्रद्धा और खेलती थीं बैडमिंटन

एक साथ 48 लीचियां खा गई थीं श्रद्धा

shraddha kapoor love for food and travel inside

श्रद्धा कहती हैं कि उन्हें आउटडोर शूट्स बहुत पसंद है और ख़ासकर वो वाले, जिनके लिए उन्हें खूब ट्रेवल करना पड़े। हाल ही में वो उत्तराखंड अपनी फ़िल्म ‘बत्ती गुल मीटर चालू’ के लिए गई थीं। इसके बारे में  उन्होंने कहा, 'यहाँ बेहतरीन फ्रूट्स मिलते हैं और मुझे फ्रूट्स बहुत पसंद है। मैंने यहाँ लोकल मार्केट में मिलने वालीं लीची चखीं और वो बहुत टेस्टी थीं। मुझे याद है कि मैं बहुत सारी लीचियां सेट्स पर लेकर आई थीं और पूरी कास्ट और क्रू बहुत दिनों तक ये लीचियां खा रहे थे। मैंने एक बार में तकरीबन 48 लीचियां खा ली थीं... इतनी मीठी लीचियां मुंबई में कभी नहीं मिली और ना ही मिल सकती हैं।'

सूटकेस भरकर सब्जियां लाने वाली थीं श्रद्धा

shraddha kapoor love for food and travel inside

श्रद्धा ने आगे कहा, 'मुझे सब्जियां बहुत पसंद है। मैं रोटी या चावल कम खाती हूँ, मगर सब्जी मुझे कटोरा भरकर चाहिए। उत्तरखंड में सब्जियों का अलग ही स्वाद था, क्योंकि वो बहुत ताजा थीं, खेतों से निकल कर सीधे लोगों के घरों में, इसलिए इसका स्वाद बहुत अच्छा था। मैं चाहती थी कि एक सूटकेस भरकर सब्जियां यहाँ मुंबई ले आऊँ मगर, ये पॉसिबल नहीं था। मुझे नेचर से जुड़े रहना पसंद है। फल, फ्रूट्स, पेड़ के नीचे लगा झूला, घर के आंगन में छोटा सा बगीचा... मुझे ये सब बहुत अच्छा लगता है। मैं जब भी कहीं घूमने का प्लान करती हूँ तो इस बात का ध्यान रखती हूँ कि मेरा रूम नेचर के आस पास हो।' श्रद्धा ने बताया कि उन्हें माउंटेन्स बहुत पसंद है, वो पिछले साल 10 दिनों के लिए लद्दाख भी गईं थी और वो जल्द ही अपने भाई और कजिन्स के साथ फिर से ट्रिप पर जाना चाहती हैं।

Image Courtesy: Instagram (@shraddhakapoor)