महाराष्ट्र शहर में ऐसी कई जगहें हैं जो हरी-भरी वनस्पतियों के लिए समूचे भारत में प्रसिद्ध हैं। लेकिन, एक बेहतरीन पार्क के साथ-साथ राष्ट्रीय उद्यान का जिक्र होता है तो उसमें सबसे पहले स्थान पर चंदोली नेशनल पार्क ज़रूर शामिल रहता है। लगभग 318 वर्ग किमी के क्षेत्र में फैला हुआ ये पार्क बर्ड वॉचिंग, ट्रेकिंग और अन्य गतिविधियों के लिए जाना जाता है। खासकर जो लोग प्रकृति से प्रेम करते हैं, उनके लिए ये पार्क किसी जन्नत से कम नहीं है। आज इस लेख में हम आपको इस पार्क के बारे में करीब से बताने जा रहे हैं, यक़ीनन इस पार्क के बारे में जानने के बाद आप भी यहां घूमने का प्लान ज़रूर बनाना चाहेंगे, तो आइए जानते हैं।  

चंदोली पार्क का इतिहास 

know about chandoli national park  inside

चंदोली पार्क का इतिहास बेहद ही दिलचस्प बताया जाता है। कहा जाता है कि लगभग 17वीं शताब्दी में मराठा साम्राज्य के अधिक रहा था। इसके अलावा ये भी कटा जाता है कि छत्रपति शिवाजी महाराज के शासन के दौरान इस पार्क को खुली जेल के रूप में इस्तेमाल किया गया था। लेकिन, अगर इसके आधुनिक इतिहास के बारे में नज़र डालें तो मालूम चलता है कि लगभग 1985 में एक वाइल्डलाइफ अभयारण्य के रूप में घोषित किया था और लगभग 2004 में इसे भारत के प्रमुख राष्ट्रीय पार्क के रूप में घोषित किया गया था। 

इसे भी पढ़ें: राजस्थान की वो हवेली जिसे डिज़ाइन करने में लग गए थे करीब 30 साल

पार्क में करने योग्य एक्टिविटीज 

know about chandoli national park  inside

इस पार्क में जंगल सफारी करना सबसे लोकप्रिय और पॉपुलर एक्टिविटीज में से एक है। कहते हैं अगर यहां कोई घूमने जा रहा और सफारी का मज़ा नहीं उठाया तो यहां घूमना बेकार है। जंगल सफारी के अलावा ट्रेकर्स प्रेमियों के लिए यह एक परफेक्ट जगह है। आसपास के लोगों के लिए ये जगह ट्रैकिंग एक्टिविटी के लिए भी काफी फेमस है। इसके अलावा चंदोली नेशनल पार्क को वर्ड वाचिंग के लिए जन्नत माना जाता है। प्राकृतिक सुन्दरता के मध्य शांत माहौल में पक्षियों की मधुर आवाज किसी और दुनिया में लेकर जाती है। (दिल्ली में वाइल्ड लाइफ सेंचुरी)

Recommended Video

वनस्पति और जीव

know about chandoli national park  inside

अगर बात करें वनस्पति के बारे में तो इस पार्क में हजारों विलुप्त पेड़-पौधे मौजूद है। इसके अलावा आंवला कोकम, अंजनी आयरनवुड ट्री, अंजीर, जामुन, पीसा, किंजल आदि पेड़ मौजूद हैं। इसके अलावा इस पार्क में लगभग 23 स्तनधारियों की प्रजातियों, पक्षियों की 122 प्रजातियां और सांपों की लगभग 20 प्रजातियों का घर भी माना जाता है। इस पार्क में भारतीय तेंदुआ, बंगाल टाइगर, भारतीय बाइसन, तेंदुआ आदि हजारों किस्म के जानवर मौजूद है।

इसे भी पढ़ें: उदयपुर में मौजूद प्रसिद्ध एकलिंगजी मंदिर के बारे में कितना जानते हैं आप

चंदोली पार्क में घूमने का समय 

know about chandoli national park  inside

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि चंदोली नेशनल पार्क में घूमने के लिए आप सुबह 7 बजे से लेकर शाम के 6 बजे के बीच कभी भी जा सकते सकते हैं। चंदोली राष्ट्रीय पार्क में घूमने के लिए प्रति व्यक्ति लगभग 30 रुपये का प्रवेश शुल्क देकर जा सकता है। इसके अलावा जीप सफारी के लिए लगभग 150 रुपये का शुल्क देना पड़ता है। इस पार्क में सर्दियों के मौसम में घूमने का सबसे अच्छा समय माना जाता है क्योंकि, सर्दियों में अक्सर वन्यजीव आपको धूप में घूमते हुए नजर आ सकते हैं।

अगर आपको यह स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक पर जरूर शेयर करें और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit:(@pandareviewz.com,maharashtraplanet.com)